ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेशपीएम मोदी जल्द फिर काशी आएंगे, समारोह, तारीख और सौगातों की लिस्ट भी हो गई तैयार

पीएम मोदी जल्द फिर काशी आएंगे, समारोह, तारीख और सौगातों की लिस्ट भी हो गई तैयार

पीएम मोदी के अगले वाराणसी दौरे के लिए समारोह का ब्लू प्रिंट, तारीख और मिलने वाली सौगातों की लिस्ट भी तैयार हो गई है। पीएम मोदी अब यहां आयोजित पीएम खेल महोत्सव के समापन समारोह में शामिल होंगे।

पीएम मोदी जल्द फिर काशी आएंगे, समारोह, तारीख और सौगातों की लिस्ट भी हो गई तैयार
Yogesh Yadavलाइव हिन्दुस्तान,वाराणसीMon, 25 Sep 2023 04:01 PM
ऐप पर पढ़ें

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी को दो दिन पहले शनिवार को ही इंटरनेशनल क्रिकेट स्टेडियम समेत 1600 करोड़ की सौगात दी है। इस दौरे में पीएम मोदी ने वाराणसी जिला प्रशासन और भाजपा को दो टार्गेट भी दे दिया था। एक तरफ इन टार्गेट पर काम शुरू हो चुका है तो दूसरी तरफ पीएम मोदी के अगले दौरे के लिए समारोह का ब्लू प्रिंट, तारीख और वाराणसी को मिलने वाली सौगातों की लिस्ट भी तैयार हो गई है। पीएम मोदी अब यहां आयोजित पीएम खेल महोत्सव के समापन समारोह में शामिल होंगे। जिला प्रशासन ने इसके लिए पांच नवंबर की तारीख भी प्रस्तावित कर दी है। खेल महोत्सव को भव्य और विस्तार देने की प्रशासनिक स्तर से तैयारी तेज कर दी गई है। हमेशा की तरह पांच नवंबर को भी पीएम मोदी अपनी काशी को अरबों की परियोजनाओं की सौगात देंगे। प्रधानमंत्री कार्यालय की ओर से अक्तूबर तक परियोजनाओं को पूरा करने का निर्देश दिया गया है। 

प्रधानमंत्री की प्रेरणा से काशी सांसद सांस्कृतिक महोत्सव का शनिवार को समापन हुआ है। पीएम मोदी ने अपने हाथों से विजेताओं को पुरस्कृत किया है। इसके साथ ही काशी सांसद खेल महोत्सव भी होगा। शनिवार को पीएम ने सांसद खेल महोत्सव के पोर्टल व वेबसाइट को लांच भी किया। यह प्रतियोगिता अक्तूबर के अंत सम्पन्न हो जाएगी। पीएम मोदी ने सांसद ज्ञान और सांसद टूरिस्ट गाइड प्रतियोगिताएं कराने का टास्क भी दिया है। 

प्रधानमंत्री ने सभी कार्यक्रमों में वर्चुअल या बनारस में आकर भागीदारी करने का वादा किया है। आधिकारिक सूत्रों के मुताबिक प्रधानमंत्री के दिल्ली रवाना होने से पूर्व ही पीएमओ व शासन की ओर से खेल महोत्सव को विस्तार देने का निर्देश दिया गया। इसके साथ ही समापन समारोह को भव्य और विविधता लाने का भी सुझाव दिया गया है।

पीएम मोदी प्रधानमंत्री का पद संभालने के बाद से पिछले नौ साल में 42 बार वाराणसी का दौरा कर चुके हैं। पांच नवंबर को भी वह आते हैं तो यह 43वां दौरा होगा। मई 2014 में पद संभलाने के बाद से अगर औसत भी निकालें तो पीएम मोदी हर ढाई माह में अपनी काशी आ रहे हैं। इस साल भी पीएम मोदी शनिवार के अलावा दो बार काशी आ चुके हैं।

24 मार्च को संपूर्णानंद विवि में और 7 जुलाई को हरहुआ में जनसभा कर चुके हैं। कहा जा रहा है कि पीएम मोदी ने शनिवार को वाराणसी से जाते-जाते अगली बार जल्द आने के संकेत भी दिए और तैयार होने वाली परियोजनाओं की जानकारी भी ली। इसमें फुलवरिया फोरलेन और सारनाथ के विकास कार्य मुख्य हैं। 
 कहा जा रहा है कि पीएम के कार्यक्रम स्थल को लेकर भी मंथन शुरू हो गया है। पीएम का 43वां दौरा पूरी तरह से वाराणसी शहर की परियोजनाओं पर आधारित होगा, इसलिए कार्यक्रम भी शहर के प्रमुख स्थल पर कराने की तैयारी है।

परियोजनाओं की सूची तैयार
पीएम के अगले दौरे के लिए अभी से परियोजनाओं की सूची तैयार कर ली गई है। सभी परियोजनाओं के अधिकारियों और प्रोजेक्ट मैनेजरों को दस अक्तूबर तक काम पूरा करने का अल्टीमेटम दे दिया गया है। इसमें फुलवरिया फोरलेन, नमो घाट सहित कई परियोजनाओं के लोकार्पण सबसे बड़े काम हैं। रामनगर में महिला आश्रय गृह, अनाथालय, संवासिनी गृह का शिलान्यास भी प्रस्तावित है। प्रशासन जल्द ही परियोजनाओं को स्वीकृति के लिए शासन को भेजेगा। 

यह हो सकती हैं प्रस्तावित परियोजनाएं
फुलवरिया फोरलेन लहरतारा से वरुणा पार- 300 करोड़
कंपोजिट रीजनल सेंटर का निर्माण 20 करोड़
राजकीय महिला आश्रय गृह, रामनगर 16.82 करोड़
निराश्रित विधवाओं और वृद्ध महिलाओं के लिए आश्रय गृह 15.03 करोड़
राजकीय दत्तक ग्रहण गृह एजेंसी 15.27 करोड़
छित्तपुर-टिकरी मार्ग का चौड़ीकरण और पुनरुद्धार 14 करोड़
राजकीय संप्रेक्षण गृह, रामनगर 9.87 करोड़
लड़कों के लिए राजकीय बाल गृह 7.89 करोड़
सारनाथ स्थित सारंगनाथ मंदिर में पर्यटन विकास कार्य 3.50 करोड़
बीएचयू-सीर गेट मार्ग का चौड़ीकरण और पुनरुद्धार 3 करोड़
सीर गोवर्धन राष्ट्रीय राजमार्ग तक सड़क निर्माण 2.29 करोड़
सारनाथ धमेख स्तूप के पास अंतररारष्ट्रीय उत्सव क्षेत्र - 1.80 करोड़
सारनाथ क्षेत्र के मुनारी में पार्किंग का निर्माण 0.94 करोड़
सीर गोवर्धन में बाउंड्री वाल और पार्क का निर्माण 0.58 करोड़