ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेशमोदी-योगी भी चाहते तो फोटो खिंचवा देते...पीएम ने नए अंदाज में किया विपक्ष पर तंज

मोदी-योगी भी चाहते तो फोटो खिंचवा देते...पीएम ने नए अंदाज में किया विपक्ष पर तंज

प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने गुरुवार को नोएडा के जेवर में अंतरराष्‍ट्रीय हवाई अड्डे का शिलान्‍यास किया। इस मौके पर उन्‍होंने जहां वेस्‍ट यूपी को कई सौगातें दीं वहीं नए अंदाज में...

मोदी-योगी भी चाहते तो फोटो खिंचवा देते...पीएम ने नए अंदाज में किया विपक्ष पर तंज
लाइव हिन्‍दुस्‍तान टीम ,ग्रेटर नोएडा Thu, 25 Nov 2021 03:45 PM
ऐप पर पढ़ें

प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने गुरुवार को नोएडा के जेवर में अंतरराष्‍ट्रीय हवाई अड्डे का शिलान्‍यास किया। इस मौके पर उन्‍होंने जहां वेस्‍ट यूपी को कई सौगातें दीं वहीं नए अंदाज में विपक्ष पर हमले भी किए। पीएम ने कहा कि सीएम योगी भी चाहते तो 2017 में सरकार बनते ही यहां आकर भूमि पूजन कर देते और फोटो खींचवा देते। अखबार में प्रेस नोट भी छप जाती और अगर ऐसा हम करते तो पहले की सरकारों की आदत होने के कारण हम कुछ गलत कर रहे हैं, ऐसा भी नहीं लगता। उन्‍होंने पहले की सरकारों पर आनन-फानन में रेवड़ियों की तरह प्रोजेक्ट की घोषणाएं करने का आरोप लगाया और कहा कि तब इस पर विचार ही नहीं होता था कि प्रोजेक्‍ट जमीन पर कैसे उतरेंगे, अड़चनों को दूर कैसे किया जाएगा और धन का प्रबंध कहां से होगा। 

पीएम ने कहा कि तब प्रोजेक्ट दशकों तक तैयार नहीं होते थे। सरकार घोषणा कर देती थी। लेकिन हमने ऐसा नहीं किया है। इसकी वजह ये है कि हमारे लिए इन्फ्रास्ट्रक्चर राजनीति नहीं, राष्ट्रनीति का हिस्सा है। हम सुनिश्चित कर रहे हैं कि तय समय पर ही काम पूरा हो जाए। देरी होने पर हमने जुर्माने का प्रावधान भी किया है। पीएम ने कहा कि आजादी के बाद से अभी तक उत्‍तर प्रदेश की जनता को सिर्फ ताने सुनने के लिए मजबूर किया गया। यूपी को पहली बार उसका हक मिल रहा है। उन्‍होंने आरोप लगाया कि पहले की सरकारों ने झूठे सपने दिखाए। जबकि आज वही उत्‍तरा अंतरराष्‍ट्रीय छाप छोड़ रहा है। आज प्रदेश में अंतरराष्‍ट्रीय स्तर के मेडिकल संस्थान खुल रहे हैं। रेलवे, हाईवे, एयर कनेक्टिविटी मिल रही है। आज देश और दुनिया के निवेशक कहते हैं उत्‍तर प्रदेश का मतलब उत्तम सुविधा और निरंतर निवेश है। यूपी की इसी अंतरराष्‍ट्रीय पहचान, विकास को नए आयाम दे रही है। 

पीएम ने कहा कि उत्‍तर प्रदेश में पहले जो सरकारें रहीं उन्‍होंने पश्चिमी यूपी के विकास को नजरअंदाज किया। इसका एक उदाहरण ये जेवर एयरपोर्ट भी है। दो दशक पहले प्रदेश की भाजपा सरकार ने इस प्रोजेक्ट का सपना देखा था, लेकिन बाद में ये एयरपोर्ट अनेक सालों तक दिल्ली और लखनऊ में पहले जो सरकारें रहीं, उनकी खींचतान में उलझा रहा। उत्‍तर प्रदेश में पहले जो सरकार थी, उसने तो बकायदा चिट्ठी लिखकर तब की केंद्र सरकार से कह दिया था कि इस एयरपोर्ट के प्रोजेक्ट को बंद कर दिया जाए। अब डबल इंजन की सरकार के प्रयासों से आज हम उसी एयरपोर्ट के भूमिपूजन के साक्षी बन रहे हैं। 

उन्‍होंने कहा कि हवाई अड्डे के निर्माण के दौरान रोजगार के हजारों अवसर बनते हैं। इसे सुचारू रूप से चलाने के लिए भी हजारों लोगों की जरूरत होती है। यह एयरपोर्ट पश्चिमी यूपी के हजारों लोगों को नए रोजगार देगा। राजधानी के पास होने के चलते पहले ऐसे क्षेत्रों को एयरपोर्ट से नहीं जोड़ा जाता था। माना जाता था कि दिल्ली में तो है ही, हमने इस सोच को बदला। हमने हिंडन एयरपोर्ट को यात्री सेवाओं के लिए चालू किया। हरियाणा के हिसार में भी एयरपोर्ट पर तेजी से काम चल रहा है। जब एयर कनेक्टिविटी बढ़ती है तो पर्यटन भी बढ़ता है। माता वैष्णो देवी की यात्रा हो या केदारनाथ यात्रा, वहां श्रद्धालुओं की संख्या बढ़ रही है। प्रधानमंत्री ने कहा कि आजादी के सात दशकों बाद पहली बार उत्‍तर प्रदेश को वो हक मिलना शुरू हुआ है, जिसका वो हमेशा से हकदार रहा है। डबल इंजन की सरकार की कोशिशों से आज उत्‍तर प्रदेश देश के सबसे कनेक्टेड क्षेत्र में बदल रहा है। रैपिड रेल कॉरिडोर हो, एक्सप्रेस वे हो या मेट्रो कनेक्टिविटी, सब पर काम हो रहा है। 

प्रधानमंत्री ने कहा कि आज हम 85 फीसदी विमानों को एमआरओ सेवा के लिए विदेश भेजते हैं और इस काम के पीछे हर साल 15 हजार करोड़ रुपये खर्च होते हैं। ये प्रोजेक्‍ट 30 हजार करोड़ में बनने वाला है। अभी तक इस पर हजारों करोड़ रुपये खर्च होते हैं, जिसका ज्यादातर हिस्सा दूसरे देशों को जाता है। अब ये एयरपोर्ट इस स्थिति को भी बदलने में मदद करेगा। इसके माध्यम से पहली बार देश में एंटीग्रेटेड मल्टी मॉडल कार्गो हब की कल्पना भी साकार हो रही है। इससे इस पूरे क्षेत्र के विकास को एक नई गति, नई उड़ान मिलेगी। उन्‍होंने कहा कि जिन राज्यों की सीमा समुद्र से सटी होती है, उनके लिए बंदरगाह, पोर्ट, बहुत बड़े एसेट होते हैं। यूपी जैसे लैंडलॉक राज्यों के लिए यही भूमिका एयरपोर्ट की होती है। उन्‍होंने कहा कि यहां अलीगढ़, मथुरा, मेरठ, आगरा, बिजनौर, मुरादाबाद, बरैली ऐसे अनेकों औद्योगिक क्षेत्र हैं। यहां सर्विस सेक्टर का इकोसिस्मट भी है। एग्रीकल्चर सेक्टर में भी पश्चिमी उत्‍तर प्रदेश की अहम हिस्सेदारी है। अब इन क्षेत्रों का सामर्थ्य भी बढ़ जाएगा। यहां के किसान साथी, फल, सब्जी, मछली जैसी जल्दी खराब होने वाली उपज को सीधे एक्सपोर्ट कर पाएंगे।

पीएम मोदी ने कहा कि आज इस एयरपोर्ट के भूमिपूजन के साथ ही दाऊ जी मेले के लिए प्रसिद्ध जेवर भी अंतर्राष्ट्रीय मानचित्र पर अंकित हो गया है। इसका बहुत बड़ा लाभ दिल्ली एनसीआर और पश्चिमी यूपी के करोड़ों लोगों को होगा। उन्होंने कहा कि 21वीं सदी का नया भारत आज एक से बढ़कर एक बेहतरीन आधुनिक इन्फ्रास्ट्रक्चर का निर्माण कर रहा है। बेहतर सड़कें, बेहतर रेल नेटवर्क, बेहतर एयरपोर्ट, ये सिर्फ इन्फ्रास्ट्रक्चर प्रोजेक्ट ही नहीं होते, बल्कि ये पूरे क्षेत्र का कायाकल्प कर देते हैं। लोगों का जीवन बदल देते हैं। गरीब-अमीर, उद्यमी-मजदूर, हर किसी को इसका लाभ मिलता है। यह ताकत और बढ़ जाती है जब उनके साथ सीमलेस कनेक्टिविटी हो, लास्ट माइल कनेक्टिविटी हो। ये एयरपोर्ट कनेक्टिविटी की दृष्टि से भी बेहतरीन मॉडल बनेगा। यहां आने जाने के लिए टैक्सी से लेकर मेट्रो और रेल तक हर तरह कनेक्टिविटी होगी।