ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेशपीएम मोदी की काशी को एक और सौगात, एयरपोर्ट के विकास के लिए केंद्रीय कैबिनेट ने 2869 करोड़ की योजना पर लगाई मुहर

पीएम मोदी की काशी को एक और सौगात, एयरपोर्ट के विकास के लिए केंद्रीय कैबिनेट ने 2869 करोड़ की योजना पर लगाई मुहर

केंद सरकार ने पीएम मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी को बुधवार को बड़ी सौगात दी। वाराणसी के लाल बहादुर शास्त्री अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे के विस्तार के लिए 2,869.65 करोड़ रुपए मंजूर कर लिए गए।

पीएम मोदी की काशी को एक और सौगात, एयरपोर्ट के विकास के लिए केंद्रीय कैबिनेट ने 2869 करोड़ की योजना पर लगाई मुहर
Yogesh Yadavलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीWed, 19 Jun 2024 11:27 PM
ऐप पर पढ़ें

केंद सरकार ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी को बुधवार को बड़ी सौगात दी। वाराणसी के लाल बहादुर शास्त्री अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे के विस्तार के लिए 2,869.65 करोड़ रुपए की परियोजना को केंद्रीय कैबिनेट ने मंजूरी दे दी। इस धनराशि से हवाई अड्डे के नए टर्मिनल भवन का निर्माण, एप्रन (पार्किंग) और हवाई पट्टी का विस्तार, समानांतर टैक्सी ट्रैक और अन्य कार्य कराए जाएंगे। वहीं, वाराणसी के एयरपोर्ट के विकास के लिए धनराशि केंद्रीय कैबिनेट की मंजूरी मिलने पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पीएम मोदी का आभाऱ जताया। सीएम योगी ने एक्स पर लिखा कि प्रधानमंत्री के नेतृत्व में केंद्रीय कैबिनेट द्वारा वाराणसी स्थित लाल बहादुर शास्त्री अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे को विकसित करने के भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी गई है। ₹2,869.65 करोड़ लागत से इस अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे का विकास काशी समेत पूरे उत्तर प्रदेश के विकास को नई ऊंचाइयां प्रदान करेगा।

39 लाख से 99 लाख प्रति वर्ष होंगे यात्री
मंत्रिमंडल की बैठक के बाद सूचना एवं प्रसारण मंत्री अश्विनी वैष्णव ने बताया कि भारतीय हवाई अड्डा प्राधिकरण (एएआई) के प्रस्ताव का उद्देश्य हवाई अड्डे की यात्री संचालन क्षमता को मौजूदा 39 लाख यात्री प्रति वर्ष से बढ़ाकर 99 लाख यात्री यात्री प्रति वर्ष करना है।  प्रधानमंत्री मोदी की अध्यक्षता में केंद्रीय मंत्रिमंडल ने हवाई अड्डे के विकास के लिए एएआई के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी, जिसमें नए टर्मिनल भवन का निर्माण, एप्रन और रनवे विस्तार, समानांतर टैक्सी ट्रैक और संबद्ध कार्य शामिल हैं। 

एक आधिकारिक बयान में कहा गया है कि हवाई अड्डे की यात्री संचालन क्षमता को मौजूदा 39 लाख यात्री प्रति वर्ष से बढ़ाकर 99 लाख यात्री यात्री प्रति वर्ष करने के लिए अनुमानित वित्तीय व्यय 2,869.65 करोड़ रुपये होगा। बयान के अनुसार, नया टर्मिनल भवन 75,000 वर्ग मीटर क्षेत्र में होगा। इसे 60 लाख यात्री प्रति वर्ष की क्षमता और व्यस्ततम समय में 5,000 यात्रियों (पीएचपी) को संभालने को ध्यान में रखकर डिजाइन किया गया है। आधिकारिक बयान में कहा गया कि हवाई अड्डे को ऊर्जा के अनुकूलतम उपयोग, अपशिष्ट पदार्थों के पुनर्चक्रण, कार्बन उत्सर्जन में कमी, सौर ऊर्जा उपयोग आदि को शामिल करके पर्यावरण अनुकूल बनाया जाएगा।