ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेशरिजल्ट लोगों के गले नहीं उत्तर रहा, बीजेपी की जीत पर मायावती की प्रतिक्रिया

रिजल्ट लोगों के गले नहीं उत्तर रहा, बीजेपी की जीत पर मायावती की प्रतिक्रिया

चार राज्यों के के विधानसभा चुनावों में बीजेपी की जीत पर बसपा सुप्रीमो मायावती का बयान आया है। चुनाव परिणाम पर मायावती की पहली प्रतिक्रिया आई है।

रिजल्ट लोगों के गले नहीं उत्तर रहा, बीजेपी की जीत पर मायावती की प्रतिक्रिया
Deep Pandeyहिन्दुस्तान,लखनऊMon, 04 Dec 2023 11:05 AM
ऐप पर पढ़ें

मध्य प्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ के विधानसभा चुनावों में बीजेपी की जीत पर बसपा सुप्रीमो मायावती का बयान आया है। चुनाव परिणाम पर मायावती की पहली प्रतिक्रिया आई है। मायावती ने सोमवार को सोशल मीडिया पर पोस्ट कर कहा कि चुनाव नतीजों में एक तरफा जीत पर आश्चर्य व्यक्त करते हुए कहा कि इससे लोगों का आशंकित, अचंभित और चिंतित होना स्वाभाविक है। मायावती ने कहा कि चुनाव परिणाम विचित्र है और लोगों के गले नहीं उत्तर रहा। 

मायावती ने एक्स पर पोस्ट में लिखा कि देश के चार राज्यों में अभी हाल ही में हुए विधानसभा आमचुनाव के आए परिणाम एक पार्टी के पक्ष में एकतरफा होने से सभी लोगों का शंकित, अचंभित व चिन्तित होना स्वाभाविक, क्योंकि चुनाव के पूरे माहौल को देखते हुए ऐसा विचित्र परिणाम लोगों के गले के नीचे उतर पाना बहुत मुश्किल है।

पूरे चुनाव के दौरान माहौल एकदम अलग व काँटे के संघर्ष जैसा दिलचस्प, किन्तु चुनाव परिणाम उससे बिल्कुल अलग होकर पूरी तरह से एकतरफा हो जाना, यह ऐसा रहस्यात्मक मामला है जिसपर गंभीर चिन्तिन व उसका समाधान जरूरी। लोगों की नब्ज पहचानने में भयंकर ’भूल-चूक’ चुनावी चर्चा का नया विषय।

मायावती ने कहा कि  बीएसपी के सभी लोगों ने पूरे तन, मन, धन व दमदारी के साथ यह चुनाव लड़ा, जिससे माहौल में नई जान आई, किन्तु उन्हें ऐसे अजूबे परिणाम से निराश कतई भी नहीं होना है बल्कि परमपूज्य बाबा साहेब डा. भीमराव अम्बेडकर के जीवन संघर्षों से प्रेरणा लेकर आगे बढ़ने का प्रयास करते रहना है।
इस चुनावी परिणाम के संदर्भ में जमीनी रिपोर्ट लेकर आगे लोकसभा चुनाव की नए सिरे से तैयारी पर विचार-विमर्श के लिए पार्टी की आल इण्डिया की बैठक आगामी 10 दिसम्बर को लखनऊ में आहुत। चुनाव परिणाम से विचलित हुए बिना अम्बेडकरवादी मूवमेन्ट आगे बढ़ने का हिम्मत कभी भी नहीं हारेगा।


आपको बता दें कि चार राज्यों के चुनाव परिणाम में बसपा का तेलंगाना, मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में खाता भी नहीं खुला। राजस्थान में उसके दो विधायक जीत पाए, लेकिन वोट बैंक में काफी गिरावट देखने को मिली है।
 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें