ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेशभटनी-वाराणसी पैसेंजर ट्रेन की बोगी से धुआं निकलते देख यात्रियों में मची भगदड़, खिड़कियों से कूदकर भागे

भटनी-वाराणसी पैसेंजर ट्रेन की बोगी से धुआं निकलते देख यात्रियों में मची भगदड़, खिड़कियों से कूदकर भागे

भटनी से वाराणसी जाने वाली पैसेंजर ट्रेन में उस समय में अफरा-तफरी मच गई, जब ट्रेन के पीछे की तीसरी बोगी के नीचे से धुआं निकलते देख यात्रियों ने शोर मचाना शुरू कर दिया।

भटनी-वाराणसी पैसेंजर ट्रेन की बोगी से धुआं निकलते देख यात्रियों में मची भगदड़, खिड़कियों से कूदकर भागे
Pawan Kumar Sharmaहिन्दुस्तान,गाजीपुरMon, 17 Jun 2024 10:43 PM
ऐप पर पढ़ें

भटनी से वाराणसी सिटी जाने वाली 01747 पैसेंजर ट्रेन में सवार यात्रियों में उस समय अफरा तफरी मच गई, जब ट्रेन के पीछे की तीसरी बोगी के नीचे से धुआं निकलते देख यात्रियों ने शोर मचाना शुरू कर दिया। ट्रेन के रुकते ही बोगी से कूदकर यात्री इधर-उधर भागने लगे। अराजकतत्वों द्वारा किए गए चेन पुलिंग के कारण यह हादसा हुआ। इससे ट्रेन करीब 15 मिनट तक कटयां ताल में खड़ी रही। 

स्थानीय रेलवे स्टेशन से सोमवार की शाम 7.12 बजे रवाना होने के बाद 01747 पैसेंजर ट्रेन गेट संख्या 28 से करीब 200 मीटर पहले पहुंची थी तभी पीछे से तीसरी बोगी में बैठे यात्री नीचे से धुआं निकलते देख चिल्लाने लगे। इसी दरम्यान ट्रेन कटयां ताल में रुक गई और यात्री बोगी से नीचे कूदकर भागने लगे। देखते ही देखते अफरा-तफरी मच गई। करीब 15 मिनट के बाद जब धुआं निकलना बंद हुआ तो ड्राइवर ने गाड़ी आगे बढ़ाई। आगे जाकर मेमो के जरिए स्टेशन प्रशासन को इसकी जानकारी दी गई। इस बाबत सादात स्टेशन अधीक्षक विजय कुमार ने बताया कि चेन पुलिंग के चलते पहिया जाम होने के कारण धुआं निकला था।

लखनऊ-चंडीगढ़ एक्सप्रेस के पहियों में लगी आग

लखनऊ-चंडीगढ़ लिंक एक्सप्रेस में गार्ड के डिब्बे के पहियों में शुक्रवार दोपहर अचानक आग लगने से अफरा-तफरी मच गई। ट्रेन के धीमी होते ही यात्री कूदकर इधर-उधर भागने लगे। इस कारण कई यात्री घायल हो गए। हालांकि आग बुझाने के बाद ट्रेन को आधा घंटे लेट रवाना हुई। वहीं, देहरादून से लखनऊ जा रही वंदे भारत एक्सप्रेस को भी बीच रास्ते रोक दिया गया था।

14 जून को 15011 लखनऊ-चंडीगढ़ लिंक एक्सप्रेस चढ़ीगढ़ जा रही थी। इस दौरान बिजनौर के चंदौल रेलवे स्टेशन पर स्टेशन अधीक्षक की नजर गार्ड वाले डिब्बे पर पड़ी तो पहियों से आग निकल रहा था। उन्होंने इसकी सूचना ट्रेन ड्राइवर और गार्ड को दी। जिसके बाद ट्रेन  गांव भवानीपुर-नाईवाला के बीच जाकर रुका। रेलवे स्टाफ ने आधे घंटे अंग्निशमन यंत्रों की मदद से आग पर काबू पाया। उधर, आग की सूचना मिलने पर यात्री कूदकर भागने लगा। जिससे कई लोग घायल हो गए।