ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेशयूक्रेन की किशोरी के साथ रेप के मामले में पाकिस्तानी युवक को 20 साल की सजा, 18 साल पहले स्टूडेंट वीजा पर आया था भारत

यूक्रेन की किशोरी के साथ रेप के मामले में पाकिस्तानी युवक को 20 साल की सजा, 18 साल पहले स्टूडेंट वीजा पर आया था भारत

यूक्रेन की किशोरी से दुराचार करने वाले पाकिस्तानी को एडीजे विशेष न्यायाधीश पोक्सो एक्ट प्रथम राम राज द्वितीय की अदालत ने 20 साल की कारावास और 23 हजार रुपये अर्थदण्ड की सजा से दंडित किया है।

यूक्रेन की किशोरी के साथ रेप के मामले में पाकिस्तानी युवक को 20 साल की सजा, 18 साल पहले स्टूडेंट वीजा पर आया था भारत
Pawan Kumar Sharmaहिन्दुस्तान,मथुराFri, 09 Feb 2024 07:51 PM
ऐप पर पढ़ें

यूपी के मथुरा में यूक्रेन की लड़की के साथ दुराचार करने वालै पाकिस्तानी युवक को कोर्ट ने 20 साल की कारावास और 23 हजार रुपये अर्थदंड की सजा सुनाई है। जानकारी के मुताबिक अभियुक्त स्टूडेंट वीजा पर पाकिस्तान से वृंदावन आया था और वृंदावन में रहकर कृष्ण भक्ति करता था। वहीं, पीड़ित किशोरी का पिता भी वृंदावन में रहकर कृष्ण भक्ति करता है। शासन की ओर से मुकदमे की पैरवी विशेष लोक अभियोजक रामवीर यादव द्वारा की गई।

यूक्रेन के रहने वाले कृष्ण भक्त अपनी दो बेटियों के साथ वृंदावन आकर कृष्ण भक्ति करने लगे। उनके घर पर कृष्णा बलराम कॉम्पलेक्स बारहघाट वृंदावन में किराए पर रहने वाले आनंद कुमार सान्याल का आना जाना था। आनंद कुमार मूल रूप से केएमसी क्वार्टर नारायनपुरी करांची, पाकिस्तान कर रहने वाला था। आनंद कुमार 31 अगस्त 2020 को यूक्रेन निवासी कृष्ण भक्त के घर पहुंचा। वहां उसकी 13 वर्षीय बेटी अकेली थी। इस दौरान आनंद ने किशोरी को पकड़ लिया और उसके साथ दुराचार किया। किशोरी ने अगले दिन पिता को इसकी जानकारी दी। जिसके बाद पिता ने 1 सितंबर को वृंदावन कोतवाली में आनंद के खिलाफ बेटी के साथ दुराचार किए जाने की रिपोर्ट दर्ज कराई। पुलिस ने आनंद को गिरफ्तार कर उसके खिलाफ आरोप पत्र न्यायालय में प्रेषित किया। मुकदमे की सुनवाई एडीजे विशेष न्यायाधीश पोक्सो एक्ट प्रथम राम राज द्वितीय की अदालत में हुई। 

विशेष लोक अभियोजक रामवीर यादव ने बताया कि अदालत ने आनंद को किशोरी के साथ दुराचार करने का दोषी करार देते हुए 20 साल के कारावास और 23 हजार रुपये अर्थदंड की सजा से दंडित किया है। उन्होंने बताया कि आनंद कुमार मूलरूप से करांची पाकिस्तान का रहने वाला है। वह करीब 18 सा पहले स्टूडेंट वीजा पर भारत आया था। वह वृंदावन में रहकर कृष्ण भक्ति करता था। उसने भारत की नागरिकता के लिए भी आवेदन किया हुआ था। किशोरी के माता-पिता भी स्टूडेंट वीजा पर भारत आए थे। वह भी वृंदावन में कृष्ण भक्ति करते हैं। पीड़िता के माता- पिता के बीच तलाक हो चुका था और आनंद किशोरी की मां के साथ लिव इन रिलेशनशिप में रहता था। अभियुक्त गिरफ्तारी के बाद से ही जेल में निरुद्ध है।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें