ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेशवोट बैंक के लिए राम और सुहेलदेव का अपमान करता है विपक्ष, गोरखपुर में सपा और कांग्रेस पर बरसे सीएम योगी

वोट बैंक के लिए राम और सुहेलदेव का अपमान करता है विपक्ष, गोरखपुर में सपा और कांग्रेस पर बरसे सीएम योगी

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को गोरखपुर और बहराइच में चुनावी जनसभाओं को संबोधित किया। इस दौरान उनके निशाने पर कांग्रेस, सपा और बसपा रही।

वोट बैंक के लिए राम और सुहेलदेव का अपमान करता है विपक्ष, गोरखपुर में सपा और कांग्रेस पर बरसे सीएम योगी
Dinesh Rathourहिन्दुस्तान टीम,गोरखपुर, बहराइचFri, 10 May 2024 09:56 PM
ऐप पर पढ़ें

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को गोरखपुर और बहराइच में चुनावी जनसभाओं को संबोधित किया। इस दौरान उनके निशाने पर कांग्रेस, सपा और बसपा रही। मुख्यमंत्री ने विपक्षी दलों को रामद्रोही बताते हुए कहा कि वोट बैंक के लिए इन्हें न केवल श्रीराम मंदिर बेकार लग रहा है बल्कि आजादी के बाद 70 साल तक महाराजा सुहेलदेव का अपमान किया जाता रहा। मुख्यमंत्री योगी गोरखपुर में पार्टी प्रत्याशी रविकिशन के नामांकन में भी शामिल हुए। इसके बाद उन्होंने महंत दिग्विजयनाथ पार्क में आयोजित जनसभा को संबोधित किया। दूसरी ओर बहराइच के महसी में उन्होंने पार्टी प्रत्याशी डॉ. आनंद कुमार गौड़ के समर्थन में रैली को संबोधित किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि देश की जनता के लिए सारी समस्याओं का समाधान रामराज्य है और इसी के लिए जनता बार-बार मोदी सरकार को चुन रही है। जनता यही कह रही है, जो राम को लाए हैं, हम उनको लाएंगे। हम उनको लाएंगे जिन्होंने रामराज्य की परिकल्पना को साकार किया है। 

कांग्रेस, सपा बसपा सबने हार स्वीकार कर ली है

गोरखपुर में जनसभा को संबोधित करते हुए उन्होंने अयोध्या में श्रीराम मंदिर के निर्माण के औचित्य पर सवाल उठाने वाली सपा और कांग्रेस को आड़े हाथ लिया। उन्होंने कहा कि तीसरे चरण के मतदान तक हताश हो चुके विपक्ष के नेता अब भगवान राम पर टिप्पणी करने लगे हैं। कोई कहता है कि राम मंदिर बेकार है तो कोई कहता है कि राम मंदिर से जनता को क्या लाभ है। योगी ने कहा कि आतंकवादियों की पैरवी करने वालों को तो राम मंदिर बुरा ही लगेगा। उन्होंने कहा कि सरकार में रहते हुए आज के विपक्ष ने राम जन्मभूमि पर आतंकी हमला करने वालों के खिलाफ, आज देश में हो रही कार्रवाई और यूपी में माफिया के खिलाफ हो रहे एक्शन जैसे कड़े कदम उठाए होते तो संकटमोचन मंदिर और कचहरी पर आतंकी हमले नहीं होते।

उन्होंने कहा कि तब आतंकवाद पर घुटना टेकने की नीति का दुष्परिणाम रहा कि इन हमलों में हजारों लोगों को जान गंवानी पड़ी। मुख्यमंत्री ने कहा कि तीसरे चरण में लोकसभा का चुनाव अब उस मोड़ पर पहुंच गया है जहां विपक्ष ने हार मान ली है। कांग्रेस, सपा बसपा सबने हार स्वीकार कर ली है। तीन चरणों में 285 सीटों पर यानी पूरे देश के अंदर आधा चुनाव संपन्न हो चुका है। योगी ने कहा कि चुनाव प्रचार में देश के अंदर उन्हें नौ राज्यों में जाने का अवसर प्राप्त हुआ है। पूरे देश के अंदर एक ही स्वर गूंज रहा है, ‘फिर एक बार मोदी सरकार’।

जो सरकार आपकी भावनाओं का सम्मान करती हो उसे बार बार चुनना चाहिए

बहराइच के महसी में चुनावी जनसभा को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि आजादी के बाद से महाराजा सुहेलदेव राजभर का अपमान होता रहा है। उन्होंने कहा कि सोमनाथ मंदिर के गुनहगार सालार मसूद गाजी को मौत के घाट उतारकर बहाराइच में उसकी कब्र बनाने वाले महा पराक्रमी महाराजा सुहेलदेव को केवल वोट बैंक के लिए कांग्रेस, सपा और बसपा ने सम्मान नहीं दिया, क्योंकि उन्हें डर था कि ऐसा करने पर सालार मसूद गाजी का भक्त वोटबैंक खिसक न जाए। मुख्यमंत्री ने महाराज सुहेलदेव के पराक्रम की भूमि और स्वाधीनता सेनानी राजा बलभद्र सिंह की पावन भूमि को कोटि-कोटि नमन करते हुए उपस्थित जनसमूह को अक्षय तृतिया और परशुराम जयंती की शुभकामनाएं दीं। उन्होंने बताया कि आज के दिन त्रेतायुग और सतयुग की शुरुआत हुई थी।

योगी ने कहा कि आज अयोध्या में न केवल रामलला का भव्य मंदिर बनवाया, बल्कि अराजकता फैलाने वाले माफिया तत्वों का रामनाम सत्य करने का काम भी किया गया। मुख्यमंत्री ने कहा कि जो सरकार आपकी भावनाओं का सम्मान करती हो, आपके हितों का संरक्षण करती हो, विकास के कार्यों के साथ जोड़ती हो, उसे बार-बार चुनना चाहिए। इससे वर्तमान तो सुधरता ही है, भविष्य के लिए भी नये-नये अवसर पैदा होते हैं। उन्होंने कहा कि हमने विकसित भारत की संकल्पना को साकार होते देखा है। 10 साल पहले आतंकवाद, नक्सलवाद की समस्या के साथ ही विकास में भ्रष्टाचार, योजनाओं में डकैती होती थी। गरीब भूख से मरता था। नौजवान पलायन करता था। बेटी और व्यापारी सुरक्षित नहीं थे। दंगे होते थे और कर्फ्यू लगता था।