ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ उत्तर प्रदेशओपी राजभर की बढ़ी महत्वाकांक्षा, सुभासपा को लेकर बड़ा ऐलान, जानिए क्या है 38% वाला प्लान

ओपी राजभर की बढ़ी महत्वाकांक्षा, सुभासपा को लेकर बड़ा ऐलान, जानिए क्या है 38% वाला प्लान

सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के प्रमुख ओम प्रकाश राजभर ने ऐलान किया है कि उनकी पार्टी अब पूरे उत्तर प्रदेश में विस्तार करेगी। यूपी को चार भागों में बांटा गया है और सभी में संगठन का विस्तार होगा।

ओपी राजभर की बढ़ी महत्वाकांक्षा, सुभासपा को लेकर बड़ा ऐलान, जानिए क्या है 38% वाला प्लान
Sudhir Jhaलाइव हिन्दुस्तान,लखनऊMon, 18 Apr 2022 05:50 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में 6 सीटों पर जीत हासिल करने के बाद सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी (सुभासपा) की महत्वाकांक्षाएं बढ़ गई हैं। पार्टी के प्रमुख ओम प्रकाश राजभर ने सोमवार को ऐलान किया कि पार्टी पूरे उत्तर प्रदेश में संगठन का विस्तार करेगी। उन्होंने कहा है कि अति दलित और अति पिछड़ा समुदाय की 38 फीसदी आबादी को लेकर लड़ाई लड़ी जाएगी। राजभर ने यह भी दावा किया है कि 2024 में सुभासपा की निर्णायक भूमिका और भागीदारी होगी। 2022 विधानसभा चुनाव नतीजों की समीक्षा के लिए बुलाई गई बैठक में सुभासपा ने प्रेमचंद कश्यप को पार्टी का नया प्रदेश अध्यक्ष चुना है।

यूपी को चार भागों में बांटा
राजभर ने कहा कि सुभासपा को पूर्वांचल की पार्टी कहा जाता था। अब सुभासपा को उत्तर प्रदेश की पार्टी बनाया जाएगा। इसके लिए यूपी को चार भागों में बांटा गया है, पूर्वांचल, मध्यांचल, पश्चिमांचल और बुंदेलखंड। अब हमारे अलग अलग संगठन होंगे। सभी पार्टियां पिछड़ा वर्ग मोर्चा बनाती है, हम भी उसके साथ अति पिछड़ा और अति दलित मोर्चा बनाकर चारों क्षेत्रों में पार्टी का संगठन खड़ा करेंगे। आज उनके पदाधिकारियों की घोषणा हुई है। 

38 फीसदी की लड़ाई
राजभर ने कहा, ''जो हम लोगों की लड़ाई है, देश में एक समान और मुफ्त शिक्षा, प्रदेश में गरीबों का इलाज मुफ्त हो, बेरोजगारी कैसे दूर हो, महंगाई से कैसे निजात मिले, इन सब चीजों को लेकर हम उनके बीच में जा रहे हैं, जिनकी आबादी लगभग 38 फीसदी है, अति पिछड़ों की। सन 52 से लोग वोट दे रहे हैं, नाई का, लौहार का, प्रजापति का, पाल का, बंजारा का, बिंद का, पासवान, धोबी, वाल्मीकि... ये ऐसी जातियां हैं जो राजनीति से दूर हैं, हक हिस्सा से दूर हैं। इनके लिए हमने संगठन का प्रारूप तैयार किया है।    

अति पिछड़ा-अति दलित को बनाएंगे अध्यक्ष
राजभर ने कहा, ''हमारा संगठन पूरे प्रदेश में सक्रिय होगा। हमारे प्रदेश का अध्यक्ष होगा प्रेम चंद्र कश्यप, बुंदेलखंड का अध्यक्ष होगा बिंद, पूर्वांचल का अध्यक्ष होगा राजभर, पश्चिमांचल का अध्यक्ष होगा प्रजापति, मध्यांचल का होगा पाल। हम नई चीज करने जा रहे हैं, अभी तक सभी लोग पिछड़ा, दलित, अल्पसंख्यक, समान्य करते रहे, हम अति दलित, अति पिछड़ा मोर्चा बनाकर, सभी चारों भागों में इन्हें अध्यक्ष बनाकर इनको आगे बढ़ाएंगे।''

epaper