DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बुलंदशहर हिंसा: 4 दिन, 200 दबिशें, 100 पुलिसकर्मी और गिरफ्तारी सिर्फ चार

Bulandshahr violence

बुलंदशहर (Bulandshahr) में गोकशी (Cow slaughtering) के बाद हुए बवाल में इंस्पेक्टर समेत दो की मौत को चार दिन बीत गएं हैं। बवाल को लेकर दर्ज मुकदमे में नामजद 27 और अन्य 60 अभियुक्तों की तलाश में पुलिस टीमें लगी हैं। चार दिन में पुलिस और एसटीएफ की टीमों में शामिल सौ से अधिक पुलिसकर्मियों द्वारा दो सौ से ज्यादा दबिशें दी जा चुकी हैं। लेकिन अब तक गिरफ्तारी सिर्फ चार हुई हैं। मुख्य आरोपी माना जा रहे बजरंगदल के जिला संयोजक योगेशराज समेत अन्य सभी आरोपी अभी तकपुलिस की पकड़ से दूर हैं।

गांव चिंगरावठी में हुए बवाल के मामले में चौकी प्रभारी के द्वारा सोमवार को मुकदमा दर्ज कराया गया था। इन आरोपियों के खिलाफ मुख्यमंत्री ने भी सख्त कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं। उनकी तलाश में पुलिस और एसटीएफ की 15 टीमें जुटी हैं। टीमें लगातार दबिश दे रही हैं। लेकिन पिछले चार दिनों में वह सिर्फ चार आरोपियों को ही गिरफ्तारी कर सके हैं और अन्य कोई आरोपी उनकी पकड़ में नहीं आया है। जबकि वह सोशल मीडिया पर आकर अपने बयान जारी कर रहे हैं। जिससे शासन और प्रशासन भी नाराज है, मुख्य सचिव और डीजीपी दिन में तीन-तीन बार बुलंदशहर के अधिकारियों से कार्रवाई और प्लानिंग का ब्यौरा ले रहे हैं। गोकशी के मुकदमे में नामजद सात आरोपियों में से भी चार आरोपियों की गिरफ्तारी हो चुकी है।

दो स्थानों पर फिर माहौल भड़काने का प्रयास
बुलंदशहर जिले में लगातार चौथे दिन माहौल भड़काने का प्रयास किया गया। स्याना, जहांगीराबाद के बाद अब गुरुवार को औरंगाबाद के गांव ईलना में गोवंशीय पशु को मारने का प्रयास किया गया। सैकड़ों लोग एकत्रित हो गए। स्याना के थलइनायतपुर गांव के जंगल में गोवंश के अवशेष मिलने पर सैकड़ों लोग एकत्रित हो गए। भारी पुलिस बल के साथ अधिकारी भी मौके पर पहुंचे और मामला शांत करा दिया।

एसआईटी ने जारी कर किया नंबर, जनता से मांगे साक्ष्य
मेरठ रेंज आईजी रामकुमार वर्मा की अध्यक्षता में गठित एसआईटी में एक एएसपी, 10 इंस्पेक्टर, 10 सब इंस्पेक्टर और 15 सिपाही बुलंदशहर हिंसा की जांच में जुटे  हैं। हिंसा से जुड़े सुबूतों को जुटाने के लिए आईजी ने व्हाट्स एप नंबर 9454457653 जारी कर कहा है कि स्याना में हुई घटना से संबंधित वीडियो, ऑडियो, फोटो या सूचना इस नंबर पर उपलब्ध कराई जा सकती है। अभी तक उन्होंने घटना से जुड़ी 50 वीडियो, फोटो उपलब्ध होने की बात कही है।

विधायक ने जताया जान का खतरा
स्याना से भाजपा विधायक देवेंद्र लोधी ने जान का खतरा जताते हुए कहा कि अज्ञात लोग उनका पीछा कर रहे हैं। विधायक ने आईजी को फोन पर इसकी जानकारी दी है।

प्रशासन ने मदद देकर समाप्त कराई भूख हड़ताल
हिंसा में मारे गए चिंगरावठी के सुमित के पिता अमरजीत अपने परिवार के साथ गुरुवार को भी भूख हड़ताल पर बैठे रहे। दोपहर तक उनके यहां कोई अधिकारी नहीं पहुंचा। सुमित के पिता ने शहीद इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह की तरह शहीद का दर्जा और बड़े बेटे को सरकारी नौकरी, माता-पिता को पेंशन और 50 लाख आर्थिक मदद की मांग कर रहे थे। देर शाम जिला प्रशासन ने सुमित के पिता को आर्थिक मदद देकर उनकी भूखहड़ताल समाप्त करा दी। 

आईजी रामकुमार ने बताया कि एसआईटी जांच चल रही है। जांच पूरी होने पर ही कुछ कहा जा सकता है। वांछितों की गिरफ्तारी को एसटीएफ सहित अन्य टीमें लगी हुई हैं। अभियुक्तों को जल्द गिरफ्तार कर लिया जाएगा। पूरे क्षेत्र में अब शांति है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Only four people is arrested in 4 days of Bulandshahr violence