ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेशवक्‍त-वक्‍त की बात: कभी एक्‍शन से डरती थी, अब अतीक का नाम आते ही गुर्गों पर टूट पड़ रही पुलिस

वक्‍त-वक्‍त की बात: कभी एक्‍शन से डरती थी, अब अतीक का नाम आते ही गुर्गों पर टूट पड़ रही पुलिस

अतीक के जेल में बंद होने के बाद भी पुलिस कार्रवाई करने से डरती थी। जेल से कॉल कर रंगदारी मांगने का ऑडियो वायरल होता था और पुलिस मुकदमा भी दर्ज करने से कतराती थी। अब समय बदल गया है।

वक्‍त-वक्‍त की बात: कभी एक्‍शन से डरती थी, अब अतीक का नाम आते ही गुर्गों पर टूट पड़ रही पुलिस
Ajay Singhहिंदुस्‍तान ,प्रयागराजSun, 12 Nov 2023 07:51 AM
ऐप पर पढ़ें

Mafia Atiq Ahmad News: माफिया अतीक के जेल में बंद होने के बाद भी पुलिस कार्रवाई करने से डरती थी। जेल से कॉल कर रंगदारी मांगने का ऑडियो वायरल होता था और पुलिस मुकदमा भी दर्ज करने से कतराती थी। एफआईआर दर्ज होने के महीनों बाद मुकदमों की जांच होती थी लेकिन अब समय बदल गया है। किसी भी प्रकरण में अतीक का नाम सामने आते ही पुलिस उसके गुर्गों पर टूट पड़ती है। जेल में बंद गुर्गों पर 12 घंटे के बाद ही एफआईआर दर्ज कर रिमांड बनवा ले रही है। इससे उनका जेल से बाहर निकलना मुश्किल हो गया है।

इसका सबसे बड़ा उदाहरण अतीक के करीबी व कौड़िहार ब्लॉक प्रमुख मो. मुजफ्फर का है। जेल में बंद मो. मुजफ्फर के खिलाफ शिकायत मिली कि जमानत पर छूटने के बाद उसने दो करोड़ की रंगदारी मांगी थी। नवाबगंज पुलिस ने न केवल उस पर मुकदमा दर्ज किया बल्कि उसी दिन उसका कोर्ट से रिमांड बनवा लिया। जेल में बंद ब्लॉक प्रमुख का रंगदारी के केस में रिमांड तामील कराया। अब उसका जेल से छूटना मुश्किल हो गया है। 

इसी तरह पुलिस ने अतीक के गुर्गे फरहान पर शिकंजा कसा था। विधायक राजू पाल हत्याकांड में फरहान नामजद रहा। जेल में बंद फरहान के खिलाफ शिकायत मिली कि वह जेल से रंगदारी मांग रहा है। पुलिस ने उसके खिलाफ भी केस दर्ज कर उसी दिन कोर्ट से रिमांड बनवाया और जेल में तामील कराया। इसके कारण वह अब तक जेल में बंद है। इसी तरह अतीक के बेटे अली और उमर के खिलाफ शिकायत मिलने के बाद पुलिस ने केस दर्ज कर उन्हें मुकदमे में आरोपित किया।