ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेशटेनी की हार पर राकेश टिकैत ने दी प्रतिक्रिया, बोले-सरकार ने नहीं, जनता ने हटा दिया

टेनी की हार पर राकेश टिकैत ने दी प्रतिक्रिया, बोले-सरकार ने नहीं, जनता ने हटा दिया

किसान नेता राकेश टिकैत ने अजय टेनी की हार पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि किसानों की मांग के बावजूद सरकार ने टेनी को नहीं हटाया, लेकिन जनता ने उनको हटा दिया है।

टेनी की हार पर राकेश टिकैत ने दी प्रतिक्रिया, बोले-सरकार ने नहीं, जनता ने हटा दिया
Pawan Kumar Sharmaहिन्दुस्तान,लखीमपुरThu, 13 Jun 2024 09:46 PM
ऐप पर पढ़ें

किसान नेता राकेश टिकैत ने कहा कि किसानों की मांग के बावजूद सरकार ने टेनी को नहीं हटाया, लेकिन जनता ने उनको हटा दिया है। टिकैत ने टेनी की हार को जनता के प्लेटफार्म पर किसानों की जीत करार दिया। दरअसल राकेश टिकैत गुरुवार को लखीमपुर खीरी में पत्रकारों से बात कर रहे थे।

गुरुवार की दोपहर में शहर के गुरुद्वारा में पहुंचे किसान नेता राकेश टिकैत ने बताया कि खीरी कांड के पीड़ित किसान परिवारों से मिले। कोर्ट में चल रहे केस के बारे में जानकारी ली। उनके साथ संयुक्त किसान मोर्चा का दस सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल भी पहुंचा था। इस दौरान यह तय किया गया कि हर तीसरे महीने खीरी जिले में एसकेएम का प्रतिनिधिमंडल आएगा। इसके अलावा दस जुलाई को दिल्ली में होने वाली कोआर्डिनेशन कमेटी की बैठक में खीरी कांड से जुड़ी मांगों, कानूनी समाधान, वित्तीय सहायता जैसे मुद्दों पर भी बात होगी।

 टिकैत ने खीरी लोकसभा के चुनाव में पूर्व मंत्री अजय मिश्र टेनी की हार पर कहा कि सरकार ने मंत्री टेनी को नहीं हराया, चुनाव आने पर जनता ने उनको हटा दिया। उन्होंने कहा कि जब देश का किसान संगठन मजबूत होगा तो किसानों की बात सरकार सुनेगी। टिकैत ने कहा कि 10 जुलाई को दिल्ली में कोआर्डिनेशन कमेटी की बैठक होगी। इसमें किसानों के मुद्दों को उठाया जाएगा। खीरी कांड का मुद्दा भी रखा जाएगा। खीरी कांड के पीड़ित परिवारों के गिले-शिकवे, उनकी मांगे और केस के सम्बंध में चर्चा होगी। उन्होंने कहा कि खीरी कांड के केस के लिए किसानों की कमेटी काम कर रही है। राकेश टिकैत ने जमीन अधिग्रहण का मुद्दा भी उठाया। 

उन्होंने कहा कि 2013 के जमीन अधिग्रहण को लेकर कमेटी के सुझाव पर सरकार काम नहीं कर रही है। किसानों की जमीनों का सस्ते में अधिग्रहण करके व्यापारियों को ऊंचे दाम पर बेचकर व्यापार कर रही है। अयोध्या में भाजपा की हार पर टिकैत ने कहा कि अयोध्या में जमीन अधिग्रहण की मनमानियों का खामियाजा चुनाव में सरकार को उठाना पड़ा। करीब 50 गांवों के किसानों की जमीन जिसकी कीमत ज्यादा है लेकिन एक से डेढ़ लाख में अधिग्रहीत करके व्यापारियों को बेची जा रही है। इससे किसानों का कोई फायदा नहीं हो रहा है। राकेश टिकैत ने कहा कि जमीन अधिग्रहण को लेकर किसान संयुक्त मोर्चा अयोध्या में बड़ा आन्दोलन करेगा। इस दौरान जिलाध्यक्ष दिलबाग सिंह, प्रदेश महासचिव अमनदीप सिंह संधू व जिले में आए प्रतिनिधि मण्डल के पदाधिकारी मौजूद रहे।