now we don t do black magic we go to the moon says up deputy cm Dinesh Sharma - हम जादू टोना नहीं करते, चांद पर जाते हैं: दिनेश शर्मा DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हम जादू टोना नहीं करते, चांद पर जाते हैं: दिनेश शर्मा

यूपी के डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा

डिप्टी सीएम डॉ. दिनेश शर्मा ने कहा है कि दुनिया अब हमें जादू-टोने वाला देश न समझे। हम चांद पर पहुंचने लगे हैं। आज हम दुनिया के सामने एक बड़ी ताकत के रूप में खड़े हो रहे हैं और अमेरिका भी अब भारत के युवाओं से घबराने लगा है। उन्होंने कहा कि यह सब हमारे संस्कारों और मूल्यों का नतीजा है।

महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ में शनिवार को 'भारतीय परम्परा का आधुनिक भारत :स्वरूप एवं दिशा' विषयक संगोष्ठी के मुख्य अतिथि डॉ. शर्मा ने कहा बीते कुछ वर्षों में हिंदुस्तान के प्रति पूरे विश्व का नज़रिया बदला है। मुगलों व अंग्रेजो ने हमारी संस्कृति को तो तहस नहस किया लेकिन वो हमारी संस्कार को नष्ट नही कर पाए।

जिसका सबसे बड़ा परिणाम हमारे सामने यह है कि जितनी पैसों में भारत मे एक फिल्म बनती है, उतने में हमारे वैज्ञानिकों ने चन्द्रयान 2 को लांच कर पूरे विश्व को अपनी ताकत का एहसास करा दिया। यह बता दिया कि वह जादू टोने वाला देश नहीं है। 

डिप्टी सीएम ने कहा कि आज पूरी दुनिया बेंगुलूरू में डिजाइन किए गए साफ्टवेयर से संचालित हो रही है। वहीं हमारे यहां एक तबका  पाश्चात्य संस्कृति के अनुकरण में ही अपनी शान समझता है। हमें अपने आचरण से आधुनिक भारत की तस्वीर पेश करनी है। संस्कृत, संस्कृति और भारतीयता को नहीं छोड़ना है। तीन तलाक का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि हमारी संस्कृति में तलाक जैसा कोई शब्द ही नहीं है। भारत की बदलती छवि का नतीजा है कि बीते इन्वेस्टर समिट में प्रदेश में 62 हजार करोड़ रुपए का निवेश हुआ। 

संगोष्ठी मे मुख्य व्यक्ता और सम्पूर्णानन्द संस्कृत विश्वविद्यालय के पूर्व कुलपति प्रो. राजेन्द्र मिश्र ने कहा कि भारत एक ऐसा देश है जिसके हाथ में पूरे विश्व की जानकारी है। आज हम आप अपने राष्ट्र को नहीं सम्भल पा रहे है जबकि हमारे पूर्वजों में पूरे विश्व को संभालने की क्षमता थी। हमारे ऋषियों ने अपने धर्म को  सनातन धर्म कहा क्योकि हमारी प्राचीन भाषा देव भाषा के रूप में है। 

अध्यक्षीय संबोधन में काशी विद्यापीठ के कुलपति प्रो. टीएन सिंह ने कहा कि यदि हम आगे बढ़ना चाहते हैं तो हमे अपने मूल को समझना होगा।  पाठ्यक्रम में परिवर्तन करने होंगे। विद्यार्थियों को उनके मूल ज्ञान के साथ ही परम्परा व संस्कृति का भी ज्ञान मिले। कुलपति ने शिक्षा पर बजट को बढाने पर भी जोर दिया। आरंभ में राष्ट्रीय शैक्षिक महासंघ के राष्ट्रीय अध्यक्ष और जयपुर विश्वविद्यालय के पूर्व कुलपति प्रो.जेपी सिंघल ने शैक्षिक महासंघ का परिचय दिया। उन्होंने कहा कि हमारे संघ का मूल उद्देश्य राष्ट्र के हित में शिक्षा का विस्तार करना है। स्वागत प्रो. शैलेश मिश्र. संचालन डॉ. प्रकाश उदय एवं धन्यवाद ज्ञापन प्रो. आरपी सिंह ने किया। 

डिप्टी सीएम के कार्यक्रम में ही कट गई बिजली

वाराणसी। बनारस में कितनी बिजली कटौती हो रही है, इसका अंदाजा शनिवार को डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा को भी हो गया। काशी विद्यापीठ में गांधी अध्ययनपीठ के सभागार में जैसे ही डिप्टी सीएम अपना संबोधन समाप्त कर आसन ग्रहण करने लगे, बिजली कट गई। अंघेरे में ही राष्ट्रगान हुआ। 

शिक्षकों के हित में लिए कई निर्णय

डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा ने कहा है कि शिक्षकों के हित में कई निर्णय लिए गए हैं। कालेजों के शिक्षकों की सेवानिवृत्ति आयु 65 वर्ष करने पर अभी कोई निर्णय नहीं हुआ। मगर इसकी संभावना भी समाप्त नहीं हुई। कॉलेजों के खाली पदों को भरने के लिए आयोग को निर्देश दे दिया गया है। कालेजों में कई वर्षों के अस्थाथी शिक्षकों स्थायी किया गया। प्रोन्नति के मानक सरल किए गए हैं। कुछ और समस्याएं हैं जिनका निराकरण किया जाएगा।  

परिणीति चोपड़ा और सिद्धार्थ मल्होत्रा ने किया ‘जिला हिलेला’ पर धमाकेदा

मौसम अपडेट: बिहार में ट्रेन और उत्तराखंड में सड़कों पर यातायात ठप

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:now we don t do black magic we go to the moon says up deputy cm Dinesh Sharma