ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेशअब कानपुर की ओर आ रही पूर्वोत्तर संपर्क क्रांति एक्सप्रेस में लगी आग, मची भगदड़

अब कानपुर की ओर आ रही पूर्वोत्तर संपर्क क्रांति एक्सप्रेस में लगी आग, मची भगदड़

कानपुर से कुछ दूर इटावा में लगातार दो दिन दो ट्रेनों में आग लगने के बाद अब गाजियाबाद के आगे दनकौर में एक ट्रेन में आग लगी है। पूर्वोत्तर एक्सप्रेस के ए-4 बोगी में आग लगी है। आग लगते ही भगदड़ मच गई।

अब कानपुर की ओर आ रही पूर्वोत्तर संपर्क क्रांति एक्सप्रेस में लगी आग, मची भगदड़
Yogesh Yadavहिन्दुस्तान,कानपुरThu, 23 Nov 2023 03:05 PM
ऐप पर पढ़ें

नई दिल्ली से गुवाहाटी जा रही पूर्वोत्तर संपर्क क्रांति एक्सप्रेस ट्रेन में बुधवार देर रात आग लग गई। गाजियाबाद से आगे निकलते ही दनकौर में ए-4 बोगी में आग लगने से अफरातफरी मच गई। पूरी बोगी में धुआं भर जाने से जान बचाने को बाहर कूदने के लिए यात्रियों में भगदड़ मच गई। कानपुर होकर जाने वाली इस ट्रेन के यात्रियों में कटिहार निवासी अरविंद पांडेय, मीरा कुमारी, अनंत कुमार और ऋषि सक्सेना ने बताया कि ब्रेक के रबर में आग लग गई और हूटर बज गया।

पूरी बोगी में धुआं भर गया तो सभी यात्री जान बचाने के लिए भागने लगे। ट्रेन से उतरने की कोशिश में बोगी में भगदड़ मच गई। यात्री एक दूसरे पर सवार होकर बाहर निकलने की कोशिश करते रहे। बुधवार रात 1:30 बजे की इस घटना से दहशत फैल गई। रात में दो बजे जब यह ट्रेन खुर्जा जंक्शन पहुंची तो इसे चेक किया गया। यात्रियों में इतनी दहशत थी कि वो उस बोगी में जाने के लिए तैयार ही नहीं थे जिसमें आग लगी थी। काफी देर तक खुर्जा में हंगामा होता रहा। कानपुर के यात्रियों में रवि सक्सेना ने बताया कि स्थिति भयावह हो गई थी।

इससे पहले 14 और 15 नवंबर को कानपुर के पास इटावा में दो ट्रेनों में आग लगी थी। पहले नई दिल्ली से दरभंगा जा रही 02570 स्पेशल क्लोन हमसफर सुफर फास्ट ट्रेन में भीषण आग लगी। एस वन बोगी के यात्री चीत्कार करने लगे। कोई खिड़की से कूदने लगा तो कोई जल्दी आगे निकलने का प्रयास करने लगा। कुछ यात्रियों ने तो बोगी की मजबूत खिड़की को भी बाहर निकलने के लिये पूरी ताकत से तोड़ने का प्रयास किया।

इसके बाद वैशाली एक्सप्रेस में आग लग गई और 19 यात्री घायल हो गए। ट्रेन नई दिल्ली से सहरसा जा रही थी, इटावा के पास गुरुवार तड़के तीन बजे यह हादसा हुआ। देर रात दिल्ली से चलकर सहरसा बिहार जा रही 12554 वैशाली एक्सप्रेस ट्रेन इटावा स्टेशन के आउटर पर पहुंची थी तभी स्लीपर कोच एस-6 में यात्रियों ने धुआं उठते देखा। सूचना देकर जब तक ट्रेन रोकी जाती धुंआ तेज हो गया, इस पर यात्रियों ने कूदकर अपनी जान बचायी। आग से झुलसने और चलती ट्रेन से कूदने में 19 यात्री घायल हो गए। पहले हादसे से तीन घंटे दिल्ली हावड़ा रूट प्रभावित हुआ। 7 राजधानी, 2 शताब्दी समेत 54 ट्रेनें देरी से अपने गंतव्य की ओर पहुंचीं। दूसरे हादसे के बाद 4 घंटे ट्रैक प्रभावित रहा। फरक्का और ऊंचाहार एक्सप्रेस ट्रेन समेत 6 ट्रेन ही प्रभावित हुईं।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें