DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  पड़ोसियों ने बंद कर दिया अस्‍पताल का जेनरेटर, दो मरीजों ने तड़प-तड़प कर तोड़ा दम 

उत्तर प्रदेशपड़ोसियों ने बंद कर दिया अस्‍पताल का जेनरेटर, दो मरीजों ने तड़प-तड़प कर तोड़ा दम 

हिन्‍दुस्‍तान टीम ,गोरखपुर Published By: Ajay Singh
Fri, 14 May 2021 07:41 PM
पड़ोसियों ने बंद कर दिया अस्‍पताल का जेनरेटर, दो मरीजों ने तड़प-तड़प कर तोड़ा दम 

गोरखपुर में जेल बाईपास रोड पर स्थित आरोही हॉस्पिटल में दस मई को पड़ोसियों के जेनरेटर बंद करने की वजह से दो मरीजों की मौत हो गई थी। प्रबंधक अंकित पांडेय का आरोप है हास्पिटल में दो मरीज वेंटिलेटर पर और जेनरेटर बंद होने से ऑक्सीजन की सप्लाई बंद हो गई जिसकी वजह से मरीजों की जान चली गई है। पुलिस ने प्रबंधक की तहरीर पर अज्ञात पड़ोसियों के खिलाफ गैर इरादतन हत्या की धारा में केस दर्ज कर लिया है।

प्रबंधक अंकित पांडेय ने शाहपुर पुलिस को दिए तहरीर में आरोप लगाया कि दस मई की दोपहर 12.10 बजे के करीब बिजली जाने पर जनरेटर चलाया गया था। इस दौरान पड़ोसी लोग उत्तेजित होकर जनरेटर पर पथराव किए और उसे बंद कर दिए। मना करने पर जाने से मारने की धमकी भी दी। जेनरेटर बंद होने की वजह से अस्पताल में ऑक्सीजन की सप्लाई बाधित हो गई थी जिससे दो मरीजों की मौत हो गई। ऑक्सीजन की कमी से दुरियापुरी निवासी नीलम श्रीवास्तव पुत्री एके श्रीवास्तव और रामजानकीनगर निवासी गुड्डी देवी बेटी ह‌रिशचंद्र की मौत हुई थी। पुलिस ने तहरीर के आधार पर केस दर्ज कर लिया है।

इंस्पेक्टर ने बताया कि तहरीर के आधार पर केस दर्ज कर मामले की जांच की जा रही है। यहां बता दें कि नीलम श्रीवास्तव के अधिवक्ता रिश्तेदार ने हास्पिटल के प्रबंधतंत्र पर गंभीर आरोप लगाते हुए शिकायत कर रखी है। अब उस मामले में नीलम की मौत को प्रबंधक ने पड़ोसियों द्वारा जनरेटर बंद करना बताया है।
 

संबंधित खबरें