DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  सड़क किनारे चाय बेचने वाले नेशनल फुटबॉलर अविनाश को मिलेगी नौकरी, डीएम ने किया ऐलान

उत्तर प्रदेशसड़क किनारे चाय बेचने वाले नेशनल फुटबॉलर अविनाश को मिलेगी नौकरी, डीएम ने किया ऐलान

वरिष्ठ संवाददाता,बरेलीPublished By: Dinesh Rathour
Sun, 23 Aug 2020 11:53 PM
सड़क किनारे चाय बेचने वाले नेशनल फुटबॉलर अविनाश को मिलेगी नौकरी, डीएम ने किया ऐलान

लॉक डाउन में नौकरी खोने वाले फुटबॉलर अविनाश शर्मा की मदद के लिए जिला प्रशासन आगे आया है। ‘हिन्दुस्तान’ की खबर के बाद डीएम ने अविनाश को नौकरी दिए जाने का ऐलान किया है। वहीं, अविनाश की आर्थिक मदद का भी सिलसिला लगातार जारी है।‘हिन्दुस्तान’ समाचार पत्र ने अविनाश शर्मा की व्यथा को प्रकाशित किया था। उनकी खबर सोशल प्लेटफॉर्म पर तेजी से वायरल हुई। डीएम नीतीश कुमार ने भी इस खबर का संज्ञान लिया। उन्होंने अविनाश शर्मा को नौकरी देने का ऐलान किया है। इस संबंध में आरएसओ को भी निर्देशित किया गया है। डीएम ने बताया कि एक फुटबॉलर के तौर पर अविनाश में जो हुनर है उसका इस्तेमाल किया जाएगा। शासन को भी अविनाश की रिपोर्ट बनाकर भेजी जा रही है। हमारी मंशा है कि वह खुद भी प्रैक्टिस करें और दूसरे खिलाड़ियों को भी तैयार करें।

अब उतर जाएगा अविनाश का कर्ज

अविनाश शर्मा ने एनआईएस का डिप्लोमा करने के लिए कर्ज लिया था। इसमें से करीब 50 हजार का कर्ज अभी भी बकाया है। ‘हिन्दुस्तान’ की खबर के बाद लोगों ने दिल खोलकर अविनाश की मदद की। उनके खाते में करीब 65 हजार रुपये पहुंच गए हैं। जिस लोन को चुकाने की अविनाश बीते दो वर्षों से कोशिश कर रहे थे, वह अब एक झटके में ही उतर जाएगा।

आर्थिक मदद का सिलसिला लगातार जारी

राष्ट्रपति पुरस्कार प्राप्त शिक्षक लाल बहादुर गंगवार और भाजपा जिला शिक्षक प्रकोष्ठ के संयोजक महेश चंद्र पांडे ने अविनाश के 2100 रुपये की मदद दी। मनरेगा में एपीओ अभिषेक द्विवेदी, रोटरेक्ट क्लब के गौरव खंडेलवाल, व्यापारी अजय प्रताप सक्सेना, डॉ आर के मिश्रा आदि ने भी अविनाश को मदद भेजी। अपना नाम न छापने की शर्त पर साहू राम स्वरूप डिग्री कालेज की एक शिक्षिका ने 5000 रुपए, एक युवा कारोबारी ने 3100 रुपये, एक आर्किटेक्ट ने 2500 रुपए दान किया।

अविनाश ने ‘हिन्दुस्तान’ को कहा शुक्रिया

अविनाश ने ‘हिन्दुस्तान’ समाचार पत्र का शुक्रिया अदा किया। उन्होंने कहा कि ‘हिन्दुस्तान’ अखबार मुहिम ने मेरी जिंदगी को बदल दिया है। मेरी सरकार से मांग है कि जितने भी अंशकालिक कोच हैं, उन सभी का नवीनीकरण किया जाए। लॉक डाउन में उन सभी की नौकरी खत्म हो चुकी है और वह भुखमरी के कगार पर आ गए हैं।

फुटबॉलर अविनाश शर्मा की प्रतिभा का हम इस्तेमाल करेंगे। एक खिलाड़ी को सबसे अधिक खुशी तभी होती है, जब उसकी प्रतिभा का सही दिशा में इस्तेमाल हो। हम उनको खेल और खिलाड़यिों के विकास में लगाएंगे। अविनाश को जॉब भी दी जाएगी।
डीएम नितीश कुमार
  

संबंधित खबरें