DA Image
Thursday, December 9, 2021
हमें फॉलो करें :

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ उत्तर प्रदेशतंत्र-मंत्र के चक्‍कर में 5 साल के मासूम की चढ़ा दी थी बलि, अब तांत्रिकों की कुंडली तैयार करने में जुटी यूपी पुलिस

तंत्र-मंत्र के चक्‍कर में 5 साल के मासूम की चढ़ा दी थी बलि, अब तांत्रिकों की कुंडली तैयार करने में जुटी यूपी पुलिस

वरिष्‍ठ संवाददाता ,गोरखपुर Ajay Singh
Wed, 27 Oct 2021 06:17 AM
तंत्र-मंत्र के चक्‍कर में 5 साल के मासूम की चढ़ा दी थी बलि, अब तांत्रिकों की कुंडली तैयार करने में जुटी यूपी पुलिस

गोरखपुर जिले में तंत्र-मंत्र के चक्कर में हो रही वारदातों को देखते हुए अब पुलिस पूरी तरह अलर्ट हो गई है। एसएसपी डॉ. विपिन ताडा के निर्देश पर जिलेभर के तांत्रिकों का डाटा तैयार करा रही है। अब तक 254 तांत्रिकों की पहचान कर ली गई है। इनमें सबसे ज्यादा गगहा इलाके में तांत्रिक हैं। अब इन सभी की कुंडली तैयार कराई जा रही है। ताकि इन तांत्रिकों के चक्कर में आगे कोई और वारदात न होने पाए।

दरअसल हाल के दिनों में जिले में तंत्रमंत्र के चक्कर में दो बड़ी घटनाएं सामने आई। इसमें एक मामले में तो तांत्रिक ने पांच साल के बच्चे की बलि चढ़ाने के लिए हत्या कर दी। जबकि दूसरी घटना में एक बच्चे की बलि चढ़ाने के लिए उसका अपहरण कर लिया गया। हालांकि इन दोनों मामलों का पुलिस खुलासा कर चुकी है। जिलेभर के 29 थानों में थानेदारों को तांत्रिक व सोखा को चिह्नीत कर उनकी लिस्ट बनाने के निर्देश दिए गए थे। 259 तांत्रिकों की सूची तैयार कर ली गई है।

पांच साल के मासूम की तांत्रिक ने चढ़ाई थी बलि

19 अगस्त को पिपराइच इलाके के ग्राम मटिहनिया सोमानी के पश्चिम रामाज्ञा सिंह के गन्ने के खेत में एक पांच साल के बच्चे की लाश मिली थी। बच्चे के दोनों हाथ पीछे करके हत्यारों ने बांध दिए थे। उसके मुंह में भी काला कपड़ा ठूंस दिया था। उसे तड़पाकर उसकी हत्या की गई थी। शव की पहचान इसी गांव के रहने वाले दिलीप निषाद के पांच वर्षीय बेटे गजेंद्र साहनी के रूप में हुई। पुलिस ने घटना का खुलासा करते हुए गांव के तांत्रिक को भी गिरफ्तार किया था। हालांकि, इस मामले में मासूम के किसी करीबी के शामिल होने का भी शक था, लेकिन तांत्रिक की गिरफ्तारी के बाद मामला शांत हो गया था।

तांत्रिकों पर रहेगी नजर

एसएसपी डॉ. विपिन ताडा ने बताया कि कई मामलों में तांत्रिकों के चक्कर में हुई वारदातों की बात सामने आने पर इसके लिए सभी थानेदारों को ऐसे तांत्रिकों को चिन्हित कर उनकी लिस्ट तैयार करने के निर्देश दिए गए थे। ताकि इनकी गतिविधियों पर बराबर पुलिस नजर रख सके। अब तक 254 तांत्रिकों की सूची तैयार कराई जा चुकी है। शेष कराई जा रही है। ताकि किसी भी अप्रिय घटना को होने से पहले ही उसे रोका जा सके।

चौरीचौरा इलाके के शिवपुर से एक सितंबर की रात दो बजे बृजेश के छह साल के बेटे प्रतीक निषाद का अपहरण कर लिया गया था। वह घर के बरामदे में मां के साथ सोया था। इसी दौरान गायब हो गया। पुलिस ने पांच घंटे में बच्चे को बरामद कर लिया था। पुलिस को एक सीसीटीवी फुटेज भी मिला था, जिसमें आरोपित बच्चे ले जाते हुए दिखाई दी थी। इसकी मदद से पुलिस आरोपित के पास पहुंच गई थी। महिला एक तांत्रिक के संपर्क में थी। उससे उसकी गई बार बातचीत हुई थी। महिला ने तांत्रिक का नाम बताया है। वह देवरिया का रहने वाला है। उसे मुकदमे में वांछित कर पुलिस उसे पकड़ा तो पता चला कि एक व्यक्ति को तंत्रमंत्र सीखाने के लिए उसने यह तैयारी की थी। पुलिस ने दोनों को जेल भेजवा दिया।

गगहा में हैं76 तांत्रिक

जांच में सर्वाधिक 76 तांत्रिक गगहा में सामने आए हैं। जबकि कोतवाली, शाहपुर, उरुवा, बेलघाट व बेलीपार में एक भी व्यक्ति ऐसा काम नहीं करता है। वहीं, राजघाट में 6, तिवारीपुर 2, कैंट में 7, खोराबार में 8, रामगढ़ताल में 4, गोरखनाथ में 3, कैंपियरगंज में 4, सहजनवा में 15, पीपीगंज में 18, गीडा में 6, चिलुआताल में 7, चौरीचौरा में 9, झंगहा में 6, पिपराइच में 23, गुलरिया में 17, बांसगांव में 14, गगहा में 76, गोला में 16, बड़हलगंज में 2, खजनी में 3, सिकरीगंज में 6, हरपुरबुदहट में 7 सोखा व तांत्रिक चिह्नीत किए गए है।

सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

संबंधित खबरें