ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेशNamo Bharat Rapid X: नमो भारत की सुरक्षा में UPSSF तैनात, ट्रैक से ट्रेन तक अभेद्य हुआ सुरक्षा घेरा

Namo Bharat Rapid X: नमो भारत की सुरक्षा में UPSSF तैनात, ट्रैक से ट्रेन तक अभेद्य हुआ सुरक्षा घेरा

Namo Bharat (RapidX) नमो भारत ट्रेन की सुरक्षा का कड़ा इंतजाम किया गया है। अभेद्य सुरक्षा घेरा है। इसका जिम्‍मा यूपीएसएसएफ ने संभाला है। मेरठ में मेट्रो और एयरपोर्ट की सुरक्षा भी यही फोर्स संभालेगी।

Namo Bharat Rapid X: नमो भारत की सुरक्षा में UPSSF तैनात, ट्रैक से ट्रेन तक अभेद्य हुआ सुरक्षा घेरा
Ajay Singhसलीम अहमद ,मेरठMon, 23 Oct 2023 06:15 AM
ऐप पर पढ़ें

Namo Bharat (RapidX): रैपिडेक्स यानि नमो भारत के संचालन के साथ उत्तर प्रदेश विशेष सुरक्षा बल (यूपीएसएसएफ) ने ट्रेन, यात्रियों और ट्रेन परिसंपत्तियों की सुरक्षा की कमान संभाल ली। ट्रैक से लेकर ट्रेन तक का सुरक्षा घेरा अभेद्य रहेगा। स्टेशन में प्रवेश से लेकर ट्रेन में सफर तक किसी भी गैर कानूनी गतिविधियों की जानकारी यूपीएसएसएफ को अत्याधुनिक सुरक्षा प्रणाली से तुरंत मिल जाएगी। उत्तर प्रदेश विशेष सुरक्षा बल का हेड क्वार्टर मेरठ स्थित 44वीं वाहिनी पीएसी मुख्यालय में स्थापित किया गया है। देश की पहली रैपिड ट्रेन के स्टेशनों और ट्रेन की सुरक्षा यूपीएसएसएफ के 265 महिला और पुरुष जवानों ने संभाली ली है। वहीं भविष्य में यूपीएसएसएफ ही मेरठ में मेट्रो ट्रेन और एयरपोर्ट की सुरक्षा की कमान भी संभालेंगी।

यूपीएसएसएफ की यह है तैयारी

जैसे-जैसे चरणवार रैपिडेक्स का विस्तार होगा, इसी के साथ यूपीएसएसएफ सुरक्षा संभालती जाएगी। सुरक्षा घेरे को अभेद्य बनाने के लिए फोर्स की संख्या में इजाफा करते जाएंगे। ट्रेन में यात्रियों की सुरक्षा और सिस्टम की विभिन्न स्थापनाओं के लिए किसी भी गैरकानूनी गतिविधियों का पता लगाने के लिए नवीनतम तकनीकों से लैस आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (एआई) सक्षम सुरक्षा प्रणाली का प्रयोग किया जा रहा है।

सीसीटीवी कैमरों से चप्पे-चप्पे पर नजर

साहिबाबाद, गाजियाबाद, गुलधर, दुहाई और दुहाई डिपो के सभी पांचों स्टेशनों पर सीसीटीवी से लगातार निगरानी की जा रही है। दो स्तरीय निगरानी की जा रही है। एक स्टेशन और दूसरे केंद्रीय सुरक्षा नियंत्रण स्तर पर। कहीं भी कोई संदिग्ध व्यवहार, बर्बरता या गलत हरकत होती है तो वह तुरंत सीसीटीवी में कैद हो जाएगी। प्रत्येक नमो भारत ट्रेनों में 36 कैमरे हैं।

यह भी किया जा रहा

रैपिडेक्स स्टेशनों में प्रवेश के समय यात्रियों की सुरक्षा जांच मल्टी जोन डोर फ्रेम मेटल डिटेक्टर (डीएफएमडी) द्वारा की जा रही है। सिर से पैर तक पूरी जांच के बाद यात्रियों को प्रवेश दिया जा रहा है। इसके अलावा, स्टेशन प्रवेश द्वार बैगेज स्कैनर आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (एआई) से लैस है।

अत्याधुनिक सुरक्षा उपकरणों से लैस हैं सुरक्षाकर्मी 

एनसीआरटीसी ने उत्तर प्रदेश विशेष सुरक्षा बल के जवानों को परिचालन प्रक्रियाओं के साथ-साथ विभिन्न अत्याधुनिक सुरक्षा उपकरणों के उपयोग और आपातकालीन स्थितियों से प्रभावी ढंग से निपटने के लिए प्रशिक्षित किया है। यूपी पुलिस द्वारा क्विक रिएक्शन टीम, बम डिटेक्शन एवं डिस्पोजल स्क्वाड तथा डॉग स्क्वायड टीम आदि को भी तैनात किया गया है।