DA Image
हिंदी न्यूज़ › उत्तर प्रदेश › मुजफ्फरनगर : मजदूर-किसान महापंचायत में भी मांगा एमएसपी पर कानून
उत्तर प्रदेश

मुजफ्फरनगर : मजदूर-किसान महापंचायत में भी मांगा एमएसपी पर कानून

वरिष्ठ संवाददाता, मुजफ्फरनगरPublished By: Shivendra Singh
Mon, 27 Sep 2021 12:13 AM
मुजफ्फरनगर : मजदूर-किसान महापंचायत में भी मांगा एमएसपी पर कानून

मजदूर-किसान समिति के बैनर तले राजकीय इंटर कॉलेज के मैदान में रविवार को आयोजित विशाल किसान महापंचायत में आध्यात्मिक किसान नेता चंद्रमोहन ने कहा कि एमएसपी पर फसल की बिक्री करना किसान का हक है। सरकार व्यवस्था करें कि किसान को उसकी फसल का न्यूनतम समर्थन मूल्य मिले। उन्होंने वेस्ट यूपी में हाईकोर्ट की बैंच की मांग की। गठवाला खाप के चौधरी बाबा राजेंद्र सिंह ने कहा कि राजकीय इंटर कॉलेज के मैदान पर आज असली किसान महापंचायत हो रही है। उन्होंने प्रदेश के मुख्यमंत्री को चेतावनी देते हुए कहा कि जल्द से जल्द किसानों की मांग पूरी की जाएं नहीं तो किसान लखनऊ आना भी जानता है।

सरकार को धन्यवाद के साथ दुख भी बताया
राष्ट्रप्रेमी मजदूर-किसान महापंचायत में मुख्य वक्ता आध्यात्मिक किसान नेता चंद्रमोहन ने कहा कि हम सरकार को उसके साढ़े चार साल में किए गए कार्यों के लिए धन्यवाद भी देंगे और उनकी खामियों को बताकर अपना दुख भी सुनाएंगे। सरकार ने गोहत्या पर प्रतिबंध लगाया इसके लिए धन्यवाद, लेकिन गांवों में आवारा पशु बहुत बढ़ गए फसलों को नुकसान पहुंचा रहे हैं, यह हमारा दुख है। इसका उचित प्रबंधन हो। कहा कि सरकार ने साढ़े चार साल में बहुत सड़कें बनाई, इसके लिए धन्यवाद है, लेकिन टोल लगने से सफर बहुत महंगा हो गया है, यह हमारा दुख है। सरकार ने बिजली की आपूर्ति बढ़िया दी, लेकिन बिजली महंगी कर दी। गुंडागर्दी पर अंकुश लगाया, लेकिन गन्ने का दाम नहीं बढ़ाया। खेती के ट्रैक्टर पर 100 साल भी प्रतिबंध नहीं लगना चाहिए। 

लखनऊ कूच के लिए चेताया
गठवाला खाप के चौधरी राजेंद्र सिंह ने मुख्य वक्ता के तौर पर कहा कि चार साल से गन्ना मूल्य नहीं बढ़ा। सरकार यदि 20 पैसे किलो भी गन्ना मूल्य चार साल के हिसाब से बढ़ाए तो किसान खुश रहेगा। उन्होंने कहा कि किसानों की बिजली, आवारा पशु, गन्ना मूल्य भुगतान व गन्ने के दाम की समस्या का निराकरण नहीं हुआ तो एक सप्ताह में विचार-विमर्श कर लखनऊ कूच का ऐलान किया जाएगा। 

संबंधित खबरें