अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कानपुरःचकेरी में प्रॉपर्टी डीलर की अपहरण के बाद हत्या

घटनास्थल पर पूछताछ करते पुलिस अफसर

ओमपुरवा में प्रॉपर्टी डीलर की अपहरण के बाद हत्या कर दी गई। पुलिस ने साथी प्रॉपर्टी डीलर के घर से ही बोरे में भरा शव बरामद किया। घटना के पीछे प्रॉपर्टी का विवाद बताया जा रहा है। पुलिस ने साथी प्रॉपर्टी डीलर समेत 7 के खिलाफ अपहरण के बाद हत्या का मामला दर्ज कर लिया है। आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस टीमें अलग-अलग ठिकानों पर दबिश दे रही हैं।
सनिगवां निवासी रणविजय ओमपुरवा के जगदंबा सिंह के साथ प्रॉपर्टी डीलिंग का काम करते थे। पत्नी रेखा के मुताबिक सोमवार को रणविजय घर से बताकर निकले थे कि जगदंबा के घर जा रहे हैं। देर रात तक घर नहीं लौटे तो परिवार के लोगों ने खोजबीन की। अगले दिन मंगलवार को रेखा ने चकेरी थाने में रणविजय के लापता होने की रिपोर्ट दर्ज कराई। मुकदमा दर्ज करने के बाद मंगलवार शाम को पुलिस जगदंबा के घर पहुंची लेकिन वह घर पर नहीं मिला। सामान्य घटना मान पुलिस लौट आई। बुधवार को प्रॉपर्टी डीलर जगदंबा के तीन मंजिला मकान के ग्राउंड फ्लोर की किराएदार विजयलक्ष्मी छत पर कपड़ा फैलाने गई थीं। विजयलक्ष्मी ने बताया कि घर से तेज दुर्गंध आ रही थी तो उन्होंने जगदंबा की पत्नी आशा उर्फ सोनी से शिकायत की। सोनी ने कहा कि बिल्ली या चूहा मरा होगा। संदेह होने पर घटना की जानकारी मोहल्ले वालों और पुलिस को भी दे दी। सूचना पर पहुंची पुलिस ने बंद कमरे का दरवाजा तोड़ा तो सभी दंग रह गए। कमरे से एक बोरे में शव बरामद हुआ। पड़ताल करने पर शिनाख्त गणेशपुर सनिगवां निवासी प्रॉपर्टी डीलर रणविजय राजपूत के रूप में हुई। 

रणविजय की पत्नी रेखा की तहरीर पर पुलिस ने प्रॉपर्टी डीलर जगदंबा सिंह, चमनलाल, पानू समेत सात लोगों के खिलाफ अपहरण, हत्या समेत अन्य धाराओं में एफआईआर दर्ज की है। हत्या के बाद से सभी आरोपी घर छोड़कर भाग निकले हैं। हत्यारोपियों की तलाश में पुलिस देर रात तक कई ठिकानों पर दबिश देती रही।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Murder after property abduction in Chakeri at Kanpur