DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  यूपी: मुलायम को देखकर फफक पड़े गैंगरेप आरोपी गायत्री, कहा- जेल से जल्दी निकालिए

उत्तर प्रदेशयूपी: मुलायम को देखकर फफक पड़े गैंगरेप आरोपी गायत्री, कहा- जेल से जल्दी निकालिए

लखनऊ। निज संवाददाताPublished By: Madan.tiwari
Tue, 27 Jun 2017 08:44 PM
यूपी: मुलायम को देखकर फफक पड़े गैंगरेप आरोपी गायत्री, कहा- जेल से जल्दी निकालिए

सपा के संरक्षक मुलायम सिंह यादव ने मंगलवार को जिला जेल में बंद गैंगरेप के आरोपी पूर्व मंत्री गायत्री प्रजापति से मुलाकात कर उनका हालचाल लिया। मुलायम को देखकर गायत्री फफक पड़े। कहा, जेल में बहुत परेशान किया जा रहा है। करीब सवा घंटे मुलाकात के बाद जेल से बाहर निकले मुलायम ने कहा कि गायत्री को पुलिस ने फर्जी मामले में फंसाया है। जेल अधिकारी गायत्री का उत्पीड़न कर रहे हैं। घरवालों से मिलने नहीं दे रहे हैं।

उन्होंने कहा कि गायत्री के लिए वे सीएम आदित्यनाथ योगी और डीजीपी सुलखान सिंह से मिलेंगे। यदि जरूरत पड़ी तो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से भी मुलाकात करेंगे। मुलायम ने कहा कि मुख्यमंत्री योगी को लखनऊ विश्वविद्यालय में काला झंडा दिखाने के आरोप में भेजे गए छात्रों को जेल में परेशान किया जा रहा है।

दोपहर पौने एक बजे जिला जेल पहुंचे मुलायम सिंह यादव को जेल अधीक्षक पीएन पाण्डेय ने कार्यालय में बैठाया। करीब 15 मिनट बाद बैरक से कार्यालय पहुंचे गायत्री ने मुलायम को देखते ही जोर-जोर से रोने लगे और पैर पकड़कर नीचे फर्श पर बैठ गए। यह माजरा देख मुलायम के साथ जेल अधिकारी भी भावुक हो गए। मुलायम के काफी समझाने के बाद गायत्री चुप हुए। गायत्री ने मुलायम से कहा कि बैरक में जमीन पर सुलाया जा रहा है। जेल प्रशासन घरवालों को मिलने नहीं देता है। करीब सवा घंटे की मुलाकात के दौरान गायत्री कई बार रोए और नेता जी से एक ही रट लगाते रहे कि जल्दी जेल से बाहर निकालो। मुलायम ने चलते वक्त गायत्री को हर संभव मदद का आश्वासन दिया।

गायत्री का उत्पीड़न हो रहा है : मुलायम

जेल से बाहर निकलने के बाद मुलायम सिंह यादव ने कहा कि गायत्री का जेल में उत्पीड़न किया जा रहा है। जेल अधिकारी घरवालों से मिलने नहीं दे रहे हैं। मुलायम ने कहा कि पुलिस ने जिस गैंगरेप के आरोप में गायत्री को जेल भेजा, वह मामला बिल्कुल फर्जी है। उन्होंने कहा कि पुलिस की चार्जशीट में आरोप लगाने वाली महिला व उसकी बेटी ने बयान में कहा कि वे गायत्री को नहीं जानती है। गैंगरेप के वक्त गायत्री, अन्य आरोपियों और महिला की लोकेशन अलग-अलग है। ऐसे में पुलिस ने फर्जी तरीके से गैंगरेप का मुकदमा दर्ज कर सभी को जेल भेजा है।
 

संबंधित खबरें