ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेशमुख्‍तार अंसारी के बेटे उमर ने फिर कहा, जहर देकर हुई हत्‍या; बृजेश और त्रिभुवन सिंह का लिया नाम 

मुख्‍तार अंसारी के बेटे उमर ने फिर कहा, जहर देकर हुई हत्‍या; बृजेश और त्रिभुवन सिंह का लिया नाम 

बाहुबली मुख्‍तार अंसारी की मौत के पीछे उसका पर‍िवार लगातार साजिश का आरोप लगा रहा है। इस बीच मुख्‍तार के बेटे उमर असांरी ने दो नाम लिए हैं। ये नाम हैं माफिया डॉन बृजेश सिंह और त्रिभुवन सिंह।

मुख्‍तार अंसारी के बेटे उमर ने फिर कहा, जहर देकर हुई हत्‍या; बृजेश और त्रिभुवन सिंह का लिया नाम 
Ajay Singhलाइव हिन्‍दुस्‍तान,लखनऊMon, 01 Apr 2024 10:59 AM
ऐप पर पढ़ें

Mukhtar Ansari News: मुख्‍तार अंसारी की मौत के पीछे उसका पर‍िवार लगातार साजिश का आरोप लगा रहा है। इस बीच मुख्‍तार के बेटे उमर असांरी ने दो नाम लिए हैं। ये नाम हैं माफिया डॉन बृजेश सिंह और त्रिभुवन सिंह। उमर अंसारी ने कहा है कि उसके पिता की स्‍वाभाविक मौत नहीं हुई है। उनकी सुनियोजित हत्‍या की गई है। उन्‍हें जेल में धीमा जहर देकर मारा गया है। 

मीडिया से बात करते हुए उमर अंसारी ने कहा कि मैं साफ-साफ दो लोगों का नाम ले रहा हूं। उमर ने माफिया डॉन बृजेश सिंह और त्रिभुवन सिंह का नाम लेते हुए कहा कि जो भी अधिकारी इनसे सेट हैं और सरकार की भी मंजूरी से यह सब हुआ है। उन्‍होंने कहा कि ये कोई एक इंसान के वश की बात नहीं है। इसमें सबकी मिलीभगत है। इस घटना से बृजेश सिंह को लाभ होता दिख रहा है। उसरी चट्टी कांड का उल्‍लेख करते हुए उमर अंसारी ने कहा कि जो लोग उस कांड में गवाह थे उन्हें नए मुकदमे में मुल्जिम बना दिया गया। यह मुकदमा 22 साल बाद दर्ज हुआ है। 

गाजीपुर में पैरामिलिट्री फोर्स ने किया मार्च

मुख्तार अंसारी की मौत के बाद किसी भी प्रकार का हंगामा या बवाल ना हो इसके लिए पुलिस सतर्क है। इसी के मद्देनजर रविवार को एसपी ग्रामीण बलवंत चौधरी, सीओ मुहम्दाबाद ने पैरामिलिट्री व कई थानों की फोर्स के साथ नगर में भ्रमण किया। इस दौरान लोगों से शांति से धंधा करने और किसी भी प्रकार की अफवाहों पर ध्यान न देने की अपील की। साथ ही चेतावनी दी कि यदि कोई भी व्यक्ति अफवाह उड़ाया या हुड़दंग करता पकड़ा जाता है तो उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी।

चौथे दिन खुली यूसुफपुर नगर की दुकानें
मुख्तार अंसारी की मौत के बाद रविवार को तीन दिनों के बाद चौथे दिन दुकानें खुलीं। यूसुफपुर बाजार एवं सदर रोड, हाटा रोड, शाहनिंदा आदि जगहों पर बाजार में चहल-पहल देखी गई। पिछले तीन दिनों से दुकान बंद रहने से लोग अपने घरों से खरीदारी करने के लिए नहीं निकले थे। रविवार के दिन दुकान खुलने पर लोगों ने अपने जरूरत के सामानों को खरीदा तथा बाजारों में भीड़ दिखाई दिया। दोपहर के समय तेज घूप होने और रोजा होने के कारण चहल पहल कम रही लेकिन शाम होते ही चहल पहल बढ़ गई। जिन लोगों के घरों में शादी है उन्होंने मशाला, कपड़े के साथ अन्य सामानों की खरीदारी की।