ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ उत्तर प्रदेशपसीने को लेकर पुराने वीडियो पर विरोधियों ने घेरा तो रविकिशन ने किया पलटवार

पसीने को लेकर पुराने वीडियो पर विरोधियों ने घेरा तो रविकिशन ने किया पलटवार

कोरोना लॉकडाउन में मजदूरों के पलायन की दर्द भरी तस्‍वीरों के बीच सांसद रविकिशन का एक पुराना वीडियो वायरल हुआ है। इस वीडियो को लेकर विरोधियों ने उन्‍हें 'पसीने' पर घेरने की कोशिश की तो...

पसीने को लेकर पुराने वीडियो पर विरोधियों ने घेरा तो रविकिशन ने किया पलटवार
Ajayप्रमुख संवाददाता ,गोरखपुर Sun, 17 May 2020 08:44 PM

कोरोना लॉकडाउन में मजदूरों के पलायन की दर्द भरी तस्‍वीरों के बीच सांसद रविकिशन का एक पुराना वीडियो वायरल हुआ है। इस वीडियो को लेकर विरोधियों ने उन्‍हें 'पसीने' पर घेरने की कोशिश की तो रविवार को रविकिशन ने वीडियो के जरिए ही इसका जवाब दिया। रविकिशन ने रविवार को मुंबई से एक वीडियो जारी कर कहा कि वायरल किया गया वीडियो 2017 के चुनाव के समय का है। 
 

उस वीडियो में वह पसीने की महक यानी खुशबू की बात कर रहे हैं लेकिन विरोधियों को उसमें बदबू नज़र आ रही है। सांसद के मुताबिक वह किसी चुनावी सभा से लौट रहे थे। गाड़ी में उनके समर्थक और स्‍टॉफ के लोग थे। उन्‍हीं से अनौपचारिक बातचीत में उन्‍होंने उनके पसीने की महक को लेकर बात की थी। लेकिन विरोधियों ने इस पुराने वीडियो को वायरल कर दुष्‍प्रचार के जरिए उन्‍हें बदनाम करने की कोशिश की है। 

 

सांसद रविकिशन कहा कि कोरोना लॉकडाउन में केंद्र और प्रदेश सरकार ने उल्‍लेखनीय काम किया है। सरकार ने दिन-रात काम करके अत्‍यंत विपरीत स्थिति को पूरी तरह सम्‍भाल लिया। ऐसे में बौखलाये विरोधियों के पास कहने को कुछ नहीं है। अब वे पुराने वीडियो गलत ढंग से वायरल कर भाजपा और उसके कार्यकर्ताओं को बदनाम करने की साजिश कर रहे हैं। उन्‍होंने कहा कि वह जमीन से उठकर आए हैं। जीवन में कड़ी मेहनत की है। मेहनत करने वालों, मजदूरों के लिए वह क्‍या कुछ करते हैं, सोचते हैं यह उन्‍हें जानने वालों को अच्‍छी तरह पता है।

उन्‍होंने कहा कि उन्‍हें मेहनत से निकले पसीने में महक, खुशबू आती है। जबकि विरोधियों को यह बदबू की तरह लगता है। जिसके मन में जो चीज भरी रहती है वो दूसरे के बारे में वैसी ही सोच रखता है इसलिए उनका यह तीन साल पुराना वीडियो निकालकर दुष्‍प्रचार किया जा रहा है। विरोधी बौखलाए हुए हैं। वे आगे किसी फिल्‍म का वीडियो निकालकर भी वायरल कर सकते हैं। लेकिन ऐसे लोगों के बारे में जनता सब जानती है। रविकिशन ने आरोप लगाया कि देश में मजदूरों के पलायन के लिए पूर्व की गैर भाजपा सरकारें जिम्‍मेदार हैं। प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी और मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ मजदूरों, गरीबों, किसानों और समाज के हर वर्ग के लिए जितना कर रहे हैं वो अभूतपूर्व है।

ये है वीडियो में

29 सेकेंड के इस वीडियो में सांसद रविकिशन अपनी गाड़ी में समर्थकों के साथ कहीं जाते नज़र आ रहे हैं। उनके सिर पर केसरिया गमछा बंधा है। ऐसा लग रहा है कि वह किसी सभा से लौट रहे हैं या किसी सभा में शामिल होने जा रहे हैं। इस दौरान कुछ अधिक समर्थकों के गाड़ी में आ जाने पर रविकिशन उन्‍हें उलाहना देते हुए खड़ी बोली और भोजपुरी मिश्रित भाषा में कहते हैं, 'केतना लोग ठेला (आ गए) गए हो इसके अंदर...', इस पर समर्थक जवाब देता है,' एही में बैठले रहलीं, आप ही के पीछे-पीछे सब भागत रहल त का करीं, केहू उतरे के मौउकवे नाहि दिहले।' इस पर रविकिशन कहते हैं,'तुम लोगों का पसीना ऐसा महक रहा है न कि क्‍या बोलें।' समर्थक फिर बोलता है,'अब का बताईं रवि भईया, कन्‍हैया भईया के लिए दिन रात दउड़ल जात बा।' इस बार रविकिशन कहते हैं,'त हमही के तुम लोग पूरा सुंघवईब।' 

epaper