ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेशपुलिस की कार्यशैली से नाराज सांसद का धरना, लड़की को टार्चर करने का आरोप

पुलिस की कार्यशैली से नाराज सांसद का धरना, लड़की को टार्चर करने का आरोप

यूपी के सीतापुर में पुलिस की कार्यशैली से नाराज सांसद का धरना दिया। सांसद राकेश राठौर खैराबाद थाना परिसर में धरना पर दिया। उनका आरोप था कि पुलिस एक मामले में किशोरी को थाने ले आई है।

पुलिस की कार्यशैली से नाराज सांसद का धरना, लड़की को टार्चर करने का आरोप
Deep Pandeyहिन्दुस्तान,सीतापुरSat, 15 Jun 2024 11:32 AM
ऐप पर पढ़ें

सीतापुर पुलिस की कार्यशैली से नाराज कांग्रेस सांसद राकेश राठौर खैराबाद थाना परिसर में धरना पर दिया। उनका आरोप था कि पुलिस एक मामले में किशोरी को थाने ले आई है। उसे टार्चर किया जा रहा है जबकि उसका नाम एफआईआर में नहीं है। पुलिस न तो उसका चालान कर रही है और न ही छोड़ रही है। भड़के सांसद समर्थकों के साथ परिसर में ही धरने दिया। हालांकि देर शाम किशोरी को पुलिस ने छोड़ दिया

उन्होंने पुलिस पर आरोप लगाया है कि वह नाबालिग लड़की को हिरासत में रखे हुए है। इस सम्बंध में वार्ता करना चाहते हैं लेकिन तीन घण्टे से थानाध्यक्ष का फोन नहीं उठ रहा है। वह इस मामले में जानकारी लेने आये थे। अपर पुलिस अधीक्षक ने सही जवाब नहीं दिया। सांसद ने कहा कि यह लोग अभी तक लूट का राज चला रहे थे, अब यह सब नहीं होने दिया जाएगा। देश अब संविधान से चलेगा। पुलिस बच्ची को अकारण थाने ले आई है। उनके मुताबिक खैराबाद में कुछ लोगों से कल कोई बातचीत हो गई थी। उसी के संबंध में पुलिस ने कुछ लोगों के नाम मुकदमा दर्ज किया है। लेकिन उन्हीं के परिवार की एक किशोरी को पुलिस पकड़ के ले आई है। बच्ची को तत्काल रिहा करें।

बताया जा रहा है कि इसके लिए पुलिस ने डेढ़ घंटे की मोहलत मांगी।  नोंकझोंक के बाद सांसद ने कहा कि सीतापुर के अंबेडकर पार्क में जाकर धरने पर बैठूंगा। जरूरत पड़ी तो आमरण अनशन करूंगा। सांसद राकेश राठौर के उठते ही उनके साथ आए समर्थकों ने पुलिस प्रशासन मुर्दाबाद के नारे लगाए। सांसद के धरने की खबर पर जिला प्रशासन ने कई थानों की फोर्स बुला ली। 
उधर, सीतापुर स्थित आवास पर उनके समर्थक आवास पर डटे रहे। हालांकि देर शाम किशोरी को पुलिस ने छोड़ दिया। दरअसल गुरुवार को खैराबाद स्थित कमाल सराय संगत के प्रबंधक महंत बजरंगमुनि दास ने अपने ऊपर हमला करने और बचाने आए एक सहयोगी के साथ मारपीट करने का मुकदमा दर्ज कराया है जिसमें छह लोगों पर नामजद एफआईआर है और कुछ अज्ञात हैं। आरोप है कि अज्ञात में पुलिस ने 17 साल की किशोरी को हिरासत में लिया है। यह किशोरी आरोपियों के परिवार की है।