ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ उत्तर प्रदेशकमलेश तिवारी की मां बोलीं- मेरे बेटे के हत्यारों को मिले फांसी की सजा

कमलेश तिवारी की मां बोलीं- मेरे बेटे के हत्यारों को मिले फांसी की सजा

हिन्दू समाज पार्टी के अध्यक्ष कमलेश तिवारी की नृशंस हत्या करने वाले अशफाक हुसैन और मोइनुद्दीन खुर्शीद पठान को गुजरात एटीएस ने मंगलवार शाम गुजरात-राजस्थान सीमा से गिरफ्तार कर लिया। गुजरात के अरवल्ली...

कमलेश तिवारी की मां बोलीं- मेरे बेटे के हत्यारों को मिले फांसी की सजा
Shivendraकार्यालय संवाददाता, सीतापुर। Wed, 23 Oct 2019 09:42 AM
ऐप पर पढ़ें

हिन्दू समाज पार्टी के अध्यक्ष कमलेश तिवारी की नृशंस हत्या करने वाले अशफाक हुसैन और मोइनुद्दीन खुर्शीद पठान को गुजरात एटीएस ने मंगलवार शाम गुजरात-राजस्थान सीमा से गिरफ्तार कर लिया। गुजरात के अरवल्ली जिले के शामलाजी में दोनों को पकड़ा गया।

हत्यारों की गिरफ्तारी की खबर मिलते ही कमलेश तिवारी के परिवारीजन संतुष्ट दिखे। उन्होंने कहा कि हत्यारों को फांसी की सजा मिलनी चाहिये। वहीं, कमलेश की मां कुसुमा ने कहा कि गुजरात एटीएस ने बेहतरीन काम किया है। गुजरात पुलिस की खूब तारीफ की। साथ ही अब यह भी कहा कि वह सरकार से भी संतुष्ट है। सरकार ने हर कदम पर उनका साथ दिया।

उन्होंने कहा कि उनके बेटे के हत्यारों को फांसी की सजा मिलेगी तभी उन्हें शांति मिलेगी। वहीं, कमलेश के बड़े बेटे सत्यम ने कहा कि पुलिस को इस तरह से पैरवी करनी चाहिए कि हर आरोपी को सख्त से सख्त सजा मिली। पिता की हत्या में शामिल दोनों को फांसी जरूर मिले। कमलेश की पत्नी किरन ने कहा कि पति के हत्यारों को जेल में रोटी तक न खिलायी जाये।

बड़ा खुलासा: बरेली में होनी थी कमलेश तिवारी की हत्या, ये हैं सबूत

दोनों हत्यारों ने कबूला गुनाह
गुजरात एटीएस के डीआईजी हिमांशु शुक्ला ने बताया कि दोनों आरोपियों ने अपना गुनाह कुबूल कर लिया है। इस गिरफ्तारी की सूचना यूपी के डीजीपी को दे दी गई है। इन दोनों ने 18 अक्तूबर को लखनऊ के खुर्शेदबाग में कमलेश तिवारी की घर में घुसकर हत्या कर दी थी। दोनों भगवा वेश में वारदात करने पहुंचे थे। हत्या के बाद होटल खालसा इन में इन लोगों ने कपड़े बदले थे और फिर ट्रेन से बरेली भाग गए थे। 

अशफाक एमआर और मोइनुद्दीन डिलीवरी ब्वॉय
गुजरात एटीएस के मुताबिक 34 वर्षीय अशफाक सूरत में ग्रीन व्यू अपार्टमेंट और 27 वर्षीय मोइनुद्दीन सूरत के ही उमड़वाड़ा की लो कास्ट कालोनी के रहने वाले हैं। अशफाक एक निजी कम्पनी में मेडिकल रिप्रेजेन्टेटिव (एमआर) और मोइनुद्दीन फूड डिलीवरी ब्वॉय था। दोनों लोग सूरत से 17 अक्तूबर की रात लखनऊ पहुंचे थे। 18 अक्तूबर को हत्या करने के बाद से ही ये फरार चल रहे थे।

कमलेश हत्याकांड : शाहजहांपुर से बस में बैठकर निकले थे हत्यारे!

तीन साजिशकर्ता पहले ही गिरफ्तार
कमलेश तिवारी की हत्या की साजिश रचने वाले मुख्य आरोपी रशीद पठान उर्फ राशिद, मोहसिन शेख और फैजान घटना के दूसरे दिन ही सूरत में पकड़ लिए गए थे। इनमें फैजान ने ही सूरत में एक दुकान से मिठाई खरीदी थी। इस दुकान का बिल घटनास्थल पर मिला था। हत्यारे मिठाई के डिब्बे में ही पिस्टल और चाकू छिपाकर लाए थे।

कमलेश तिवारी के हत्यारोपी कुछ इस तरह से चढ़े गुजरात एटीएस के हत्थे

epaper