DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बुलंदशहर हिंसा: फौजी जीतू की मां बोली- 'अगर बेटा दोषी साबित हुआ तो खुद दूंगी सजा'

Army soldier Jeetu and his mother

बुलंदशहर हिंसा (Bulandshahr Violence) के दौरान इंस्पेक्टर सुबोध (Inspector Subodh Kumar) को गोली मारने के शक के चलते आरोपी जीतू का नाम चर्चाओं में है। वहीं आरोपी जीतू की मां रतनकौर समेत अन्य परिजन उसे निर्दोष बता रहे हैं। मां रतनकौर का कहना है कि घटना के वक्त जीतू मौके पर ही नहीं था। उन्होंने कहा कि अगर जीतू दोषी साबित हुआ तो वह खुद उसे सजा देंगी। 

जीतू के पिता राजपाल सिंह किसान हैं, जबकि उसकी मां रतनकौर घरेलू महिला हैं। तीन बहनों की शादी हो चुकी है। दो भाइयों में सबसे छोटा जीतू भी पढ़ने-लिखने में होशियार रहा है। मां रतनकौर के अनुसार शुरू से ही जीतू सेना में जाना चाहता था और करीब तीन साल पहले उसका चयन हो गया। जीतू का नाम हिंसा में आने और इंस्पेक्टर को गोली मारने के बारे में पूछे जाने पर मां रतनकौर ने उसे निर्दोष बताया। रतनकौर ने कहा कि बीते कुछ दिनों से उनका बाहर ही आना-जाना रहा है। उन्हें बस इतना मालूम है कि घटना के वक्त जीतू वहां पर नहीं था, उसे गलत फंसाया जा रहा है। उन्होंने मामले में निष्पक्ष जांच की मांग की है।

वहीं जीतू पुलिस के शिकंजे में आ गया है। जीतू को कश्मीर से एसटीएफ और पुलिस की टीम लेकर बुलंदशहर आ रही है, वह वहां पर कारगिल में तैनात है। बवाल के अगले ही दिन जाकर उसने ड्यूटी ज्वाइन की थी। आरोप है कि उसने ही इंस्पेक्टर की पिस्टल उठायी थी। उसके पास इंस्पेक्टर की पिस्टल होने और उसी के द्वारा इंस्पेक्टर को गोली मारे जाने का भी संदेह पुलिस को है।

बुलंदशहर हिंसा: इंस्पेक्टर की पिस्टल उठाने वाला फौजी जीतू गिरफ्तार

वीडियो में नजर आया था जीतू
बवाल को लेकर 2.48 मिनट का एक वीडियो वायरल हुआ था, जिसमें एक युवक को इंस्पेक्टर की लाश के पास से कुछ उठाते हुए दिखाया गया है। इसी युवक पर इंस्पेक्टर को गोली मारने का भी संदेह अधिकारियों को है। इस युवक की शिनाख्त महाव गांव के जीतू फौजी के रूप में होने का दावा किया जा रहा है। उसके बारे में जानकारी करने पर पता चला कि वह कारिगल में तैनात है और हिंसा के बाद ही वह शाम को निकल गया था और अगले ही दिन उसने अपनी ड्यूटी ज्वाइन कर ली थी।

वरिष्ठ अधिकारिक सूत्रों का कहना है कि शुक्रवार को कश्मीर में सेना ने जीतू फौजी को एसटीएफ और पुलिस की टीम के सुपुर्द कर दिया है और वह उसे लेकर बुलंदशहर आ रही है। इसके आने के बाद कुछ और अहम खुलासे होने की उम्मीद अधिकारियों को है।

बुलंदशहर हिंसा: आरोपी योगेश ने कहा- 'संगठन जब कहेगा, तब करूंगा सरेंडर'

वहीं, एसआईटी के प्रभारी आईजी राम कुमार ने बताया कि जीतू फौजी मुकमदे में नामजद है और अहम अभियुक्त है। वह घटना के बाद वापस ड्यूटी पर चला गया था। उसे लाने के लिए टीमें कश्मीर गई हुई हैं।

कारगिल में तैनात है जीतू
जीतू इन दिनों कारगिल में तैनात है। वह बीस दिन पहले ही छुट्टी पर आया था, उसकी छुट्टी मंगलवार को समाप्त हो गई थी। वह अपनी भांजी की शादी में हापुड़ के सीतादेई में भात देने के लिए छट्टी लेकर आया था। सोमवार को हुई हिंसा के बाद शाम को ही वह अपनी ड्यूटी के लिए निकल गया था।

यूपी में कोई मॉब लिंचिंग नहीं, बुलंदशहर एक 'दुर्घटना'- योगी आदित्यनाथ

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Mother of army soldier Jeetu said if her son found guilty in killing Inspector Subodh Kumar during Bulandshahr violence i will give him punishment