ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेशअजब-गजब! 35 लाख की चीनी खा गए यूपी के बंदर, योगी सरकार के गन्ना मंत्री को पता ही नहीं

अजब-गजब! 35 लाख की चीनी खा गए यूपी के बंदर, योगी सरकार के गन्ना मंत्री को पता ही नहीं

भ्रष्टाचार मुक्त व्यवस्था का दावा करने वाली सरकार के कैबिनेट मंत्री को अपने विभाग में हो रहे घोटालों की जानकारी ही नहीं है। मामला साथा चीनी मिल में 35 लाख की चीनी बंदरों द्वारा खाने से जुड़ा हुआ है।

अजब-गजब! 35 लाख की चीनी खा गए यूपी के बंदर, योगी सरकार के गन्ना मंत्री को पता ही नहीं
Dinesh Rathourवरिष्ठ संवाददाता,अलीगढ़Wed, 10 Jul 2024 08:29 PM
ऐप पर पढ़ें

यूपी के अलीगढ़ से एक अजब-गजब मामला सामने आया है। भ्रष्टाचार मुक्त व्यवस्था का दावा करने वाली सरकार के कैबिनेट मंत्री को अपने विभाग में हो रहे घोटालों की जानकारी ही नहीं है। मामला साथा चीनी मिल में 35 लाख की चीनी बंदरों द्वारा खाने से जुड़ा हुआ है। बुधवार को गन्ना चीनी मिल मंत्री से जब इस बारे में पूछा गया तो उन्होंने हैरानी बताते हुए कहा मामला हमारे संज्ञान में ही नहीं है। गन्ना चीनी मिल व जनपद के प्रभारी मंत्री अलीगढ़ के कलक्ट्रेट सभागार में 77 नवनियुक्त लेखपालों को नियुक्ति पत्र बांटने आए हुए थे। मीडिया से वार्ता में अलीगढ़ की एकमात्र सहकारी साथा चीनी मिल में हुए चीनी घोटाले के सवाल पर कैबिनेट मंत्री ने हैरान कर देने वाला जवाब दिया। मंत्री से पूछा गया कि 35 लाख की चीनी बंदर खा गए। इस मामले में अब तक क्या कार्यवाही की गई है तो गन्ना चीनी मिल मंत्री हैरान होते हुए बोले कि बंदर 35 लाख की चीनी खा गए, ऐसा मामला तो हमारे संज्ञान में ही नहीं है।

जरूरी नहीं है कि हर मामले मेरे संज्ञान में हो। यह सुन सभागार में मौजूद अन्य जनप्रतिनिधि, अधिकारी, मीडिया कर्मी भी हंस पड़े। जब उन्हें बताया गया कि इस पूरे मामले में अब तक दो कर्मचारी बर्खास्त हो चुके हैं। इतना ही नहीं एफआईआर भी बीते दिनों थाना जवां में दर्ज हो चुकी है। इस पर कैबिनेट मंत्री ने कहा कि मामले की जानकारी करेंगे, जो भी दोषी होंगे, उन पर कार्यवाही होंगे। बता दें कि आपके समाचार पत्र हिन्दुस्तान ने सबसे पहले साथा चीनी मिल में बंदरों द्वारा 35 लाख की चीनी 30 दिन में खाने का खुलासा किया था।

चाय आए आप कहने लगें कि इसमें चीनी नहीं है

कैबिनेट मंत्री ने चीनी घोटाले के सवाल पर कहा कि अब चाय आए तो कोई कहने लगे कि इसमे चीनी कम है, तो इसका क्या जवाब होगा। इस पर मीडिया ने बताया कि साथा चीनी मिल की ऑडिट रिपोर्ट में यह लिखा गया है कि बंदरों ने चीनी खा ली। 

हाथरस हादसा: बाबा हो या सेवादार, दोषी मिलने पर होगी कार्यवाही

प्रदेश के गन्ना चीनी मिल मंत्री चौ. लक्ष्मीनारायण ने कहा कि हाथरस हादसे में चाहे बाबा हो या सेवादारा। जो भी दोषी होगा, उस पर कार्यवाही की जाएगी। न्यायिक आयोग की जांच अभी जारी है। मीडिया से वार्ता के दौरान कैबिनेट मंत्री ने कहा कि हाथरस की घटना दुख:द है। मामले में मुख्यमंत्री योगी आदित्यानाथ ने तत्काल एसआईटी जांच के आदेश देते हुए जांच रिपोर्ट के आधार पर छह दोषी पुलिस-प्रशासनिक अधिकारियों को निलंबित किया है। एसआईटी जांच में बाबा के बयान दर्ज नहीं किए जाने के सवाल पर कहा कि यह जांच अधिकारियों का निर्णय रहा है लेकिन अगर सरकार जांच रिपोर्ट से संतुष्ट नहीं होगी तो पुन: जांच कराई जाएगी। न्यायिक आयोग के द्वारा अभी जांच की जा रही है। ऐसे में सम्पूर्ण कार्यवाही अभी नहीं हुई है। बाबा हो या बेटा, कामदार हो या सेवादार। दोषियों पर शिकंजा कसा जाएगा। ऐसे में सभी लोग जांच में अपना सहयोग करें।

बारिश होगी तो जलभराव तो होता ही है

शहर में होने वाले जलभराव व जनप्रतिनिधियों व अधिकारियों के बीच होने वाली तकरार के सवाल पर कैबिनेट मंत्री बोले कि शहर में अगर जलभराव होगा तो स्थानीय विधायक तो अधिकारियों को फोन करेंगे। जलभराव का क्या है, अगर बरसात होगी तो जलभराव भी होगा। वहीं बीते दिनों छर्रा विधायक व ब्लॉक प्रमुख  के बीच हुए तकरार के सवाल पर कैबिनेट मंत्री बोले, कि राजनीति में कभी-कभी मतभेद की स्थिति बन जाती है।