ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेशमोदी की गारंटी मतलब, गारंटी की गारंटी, अमूल बनास दुग्ध डेयरी के उद्घाटन पर बोले प्रधानमंत्री

मोदी की गारंटी मतलब, गारंटी की गारंटी, अमूल बनास दुग्ध डेयरी के उद्घाटन पर बोले प्रधानमंत्री

वाराणसी के दो दिवसीय दौरे के दूसरे दिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा, 10 साल पहले बनारस ने हमे सांसद बनाया और अब 10 साल बाद बनारस के लोगों ने हमे बनारसी बना दिया है। उन्होंने कहा, बिना बनारस आए....

मोदी की गारंटी मतलब, गारंटी की गारंटी, अमूल बनास दुग्ध डेयरी के उद्घाटन पर बोले प्रधानमंत्री
Dinesh Rathourलाइव हिन्दुस्तान,वाराणसीFri, 23 Feb 2024 03:31 PM
ऐप पर पढ़ें

वाराणसी के दो दिवसीय दौरे के दूसरे दिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा, 10 साल पहले बनारस ने हमे सांसद बनाया और अब 10 साल बाद बनारस के लोगों ने हमे बनारसी बना दिया है। उन्होंने कहा, बिना बनारस आए मन नहीं भरता। काशी और पूर्वांचल में कुछ भी अच्छा होता है तो मुझे आनंद आता है। इससे पहले पीएम मोदी ने वाराणसी में बनास दुग्ध डेयरी का उद्घाटन किया। बनास डेयरी के उद्घाटन के बाद पीएम मोदी ने बनारस में 10 साल हुए विकास कार्यों को गिनाया। पीएम ने कहा कि ‘पूर्वांचल के उस समय का याद करा, गन्ना के भुगतान के लिए पहिले वाला सरकार कितना मिन्नत करावत रहे।’ लेकिन अब ये भाजपा की सरकार है। किसानों के बकाये के भुगतान के साथ फसलों के दाम भी बढ़ाए जा रहे हैं। कहा कि सही निवेश से रोजगार के अवसर कैसे पैदा होते हैं, बनास डेयरी इसका उत्तम उदाहरण है। अभी बनास डेयरी वाराणसी, मिर्ज़ापुर, गाज़ीपुर, रायबरेली, इन जिलों के पशुपालकों से लगभग 2 लाख लीटर दूध इकट्ठा कर रही है। प्लांट चालू होने से बलिया, चंदौली, प्रयागराज, जौनपुर और दूसरे जिलों के लाखों पशुपालकों को भी लाभ होगा। 

परियोजना से वाराणसी, जौनपुर, चंदौली, गाजीपुर, आजमगढ़ ज़िलों के 1000 से ज्यादा गांवों में दुग्ध मंडियां बनेंगी। पशुपालकों का ज्यादा दूध और ज्यादा कीमत पर बिकेगा तो हर किसान-पशुपालक परिवार को ज्यादा कमाई होना तय है। ये प्लांट बेहतर पशुओं की नस्ल और बेहतर चारे को लेकर भी जागरूक करने के साथ ही प्रशिक्षित भी करेगा। कहा कि बनास काशी संकुल अलग-अलग कामों से रोजगार बनाएगा। एक अनुमान है कि इस संकुल से पूरे इलाके में 3 लाख से ज्यादा किसानों की आय बढ़ेगी। दूध के ट्रांसपोर्टेशन से जुड़े कारोबार में बढ़ावा मिलेगा। पशु आहार से जुड़े दुकानदार व वितरकों का दायरा भी बढ़ेगा। इसमें भी अनेक रोजगार बनेंगे।

हमारी गोपालक बहनें लखपति दीदी बन रही

पीएम ने कहा कि बनास डेयरी में महिला पशुपालक से बात करने का मौका मिला। इन बहनों को 2-3 साल पहले हमने स्वेदशी नस्ल की गीर गाय दी थी। मकसद था कि पूर्वांचल में बेहतर नस्ल की स्वदेशी गायों को लेकर जानकारी बढ़े। दो साल पहले दिए मेरे सुझाव के बाद गीर गायों की संख्या 350 तक पहुंच गई है। इससे दूध में वृद्धि हो रही है। पहले जहां सामान्य गाय से 5 लीटर दूध मिलता था, अब गीर गाय 15 लीटर तक दूध देती है। एक स्थान पर गाय 20 लीटर तक दूध देने लग गई है। बहनों को हर महीने हजारों रुपयों की अतिरिक्त कमाई हो रही है। हमारी गोपालक बहनें लखपति दीदी बन रही हैं।

पशुपालन आत्मनिर्भरता का बड़ा माध्यम 

पीएम ने कहा कि कि डबल इंजन सरकार पशुपालन और डेयरी सेक्टर को बढ़ावा दे रही है। पशुपालन से अधिक हमारी बहनें जुड़ी हैं। ये बहनों को आत्मनिर्भर बनाने का बहुत बड़ा माध्यम है। पशुपालन छोटे किसानों और भूमिहीन परिवारों का भी बहुत बड़ा सहारा है। मैं चाहूंगा कि दूध का पैसा सीधे बहनों के अकाउंट में डिजिटल तरीके से भेजा जाए। पुरुषों को एकदम नहीं।  

अन्नदाता अब उर्वरक दाता भी बनेगा 

पीएम ने कहा कि डबल इंजन की सरकार अन्नदाता को ऊर्जादाता बनाने के साथ ही अब उर्वरक दाता बनाने पर भी काम कर रही है। पशुपालकों को गोबर से भी कमाई के अवसर दे रहे हैं। बायो-सीएनजी बनाने के लिए गोबर खरीदे जा रहे हैं। जैविक खाद कम दाम पर किसानों को मिलेगा। इससे प्राकृतिक खेती को बल मिलेगा। इससे सफाई रहेगी और कचरे का पैसा भी मिलेगा।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें