अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

घुसपैठियों को देश से बाहर का रास्ता दिखाएगी मोदी सरकार: अमित शाह

Amit Shah, BJP national president

केंद्र की सत्ता में दोबारा काबिज होने के लिए भाजपा एक बार फिर हिन्दुत्व के एजेंडे को धार देने में जुट गई है। पार्टी बांग्लादेशी घुसपैठियों को बाहर करने के साथ-साथ हिन्दू शरणार्थियों को देश की नागरिकता देने का काम करेगी। चुनाव प्रचार अभियान में पार्टी के लिए बांग्लादेशियों को बाहर करने का मुद्दा अहम होगा और इसे चुनाव में भुनाने की पूरी कोशिश भाजपा करेगी।

रविवार को प्रदेश कार्यसमिति को संबोधित करते हुए भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने कहा कि विपक्षी दल चाहे जितना हो-हल्ला करें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार असम के 40 लाख घुसपैठियों में एक-एक को बाहर करेगी। शाह असम तक ही नहीं रुके और पश्चिम बंगाल की तरफ इशारा करते हुए कहा कि देश में जहां-जहां घुसपैठिये हैं, उन सबको देश से बाहर जाने का रास्ता भाजपा सरकार दिखाएगी। उन्होंने कहा कि हिन्दू शरणार्थियों को देश में लाया जाएगा और उन्हें नागरिकता प्रदान की जाएगी।

उनके 45 मिनट के भाषण में सारा फोकस हिन्दुत्व, दलित, पिछड़ा और कार्यकर्ताओं को पार्टी के प्रति समर्पित करने की सीख देने पर रहा। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार घुसपैठियों के प्रति कोई उदारता बरतने के मूड में नहीं है। उन्होंने कहा कि पश्चिम बंगाल में घुसपैठियों को शरण देने के मामले में वह कल ममता बनर्जी को चेताकर आये हैं।

पिछड़ों और दलितों को पार्टी के पक्ष में एकजुट करने को लेकर कहा कि पिछड़ा वर्ग आयोग को संवैधानिक दर्जा देने का काम मोदी सरकार ने किया। इससे पहले की सरकारें सोती रहीं। उन्हें पिछड़ों और दलितों का ध्यान नहीं रहा। उन्होंने तो बस पिछड़ों और दलितों को सिर्फ वोट बैंक की तरह सत्ता हासिल करने के लिए इस्तेमाल किया।

क्यों ट्रांसफर-पोस्टिंग में पड़ते हो 
उन्होंने उन कार्यकर्ताओं को पुचकारते हुए संदेश देने की कोशिश जो योगी सरकार में अपने निजी कामकाज को लेकर बड़ी उम्मीद रखे हैं। शाह ने कहा कि बेवजह चिल्ल-पों क्यों मचाते हो, आप मेरे परिवार के हो इसलिए आपसे नहीं लड़ सकता हूं। दूल्हा अगर काना भी होता है तो शादी में औरतें मंगल गीत गाती हैं। आपकी तो केंद्र और प्रदेश की सरकारें पूरी तरह से स्वस्थ हैं। दूल्हा भी अच्छा है, बाराती भी अच्छे हैं तो उनकी योजनाओं को जन-जन तक पहुंचाएं। उन्होंने कहा कि बेकार में ट्रांसफर-पोस्टिंग में क्यों पड़ते हो। अभी यह सरकार चार साल तक तो बैठी ही हुई है। अपनी बात करते हुए शाह ने कहा कि हम तो पार्टी के साधारण कार्यकर्ता थे। हम कभी ट्रांसफर-पोस्टिंग में नहीं पड़े। उन्होंने कार्यकर्ताओं का आह्वान किया कि 2019 में इस तरह एकजुट होकर पार्टी के लिए काम करें कि ताकि 74 सीट का जो लक्ष्य यूपी से है, उसे हासिल कर लें।

सपा-बसपा गठबंधन से फर्क नहीं
अमित शाह ने कहा कि सपा-बसपा के गठबंधन से कोई फर्क नहीं पड़ेगा। इस गठबंधन की काट यही है कि हम अपने पक्ष में मत प्रतिशत को 51 फीसद तक ले जाएं। कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि कांग्रेस ने 55 साल में देश को बर्बाद करके रख दिया। उन्होंने कहा कि सपा ने अपनी सरकार के रहते केवल अपने बंगलों की चिंता कि जबकि हमने गरीब को घर देने की चिंता करते हुए उन्हें घर दिया। शाह ने कहा कि 2014 में जीरो सीट लाने वाली पार्टी 2019 के चुनाव में क्या कर पाएगी। सपा, बसपा व कांग्रेस पहले भी मिलकर चुनाव लड़ चुके हैं, तब भी हम उनसे ज्यादा सीट पाए थे।

योगी सरकार की तारीफ
उन्होंने कहा कि योगी सरकार प्रदेश के विकास के लिए बेहतरीन काम कर रही है। प्रदेश की कानून-व्यवस्था में सुधार आया है। पश्चिम उप्र से पलायन भी बंद हो गया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Modi government will show intruders the way out of the country said amit shah