Friday, January 28, 2022
हमें फॉलो करें :

मल्टीमीडिया

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ उत्तर प्रदेशमिशन 2022 : व्यापारियों को बीजेपी का खास फोकस, ऐसे साध रहा प्रकोष्ठ

मिशन 2022 : व्यापारियों को बीजेपी का खास फोकस, ऐसे साध रहा प्रकोष्ठ

हिन्दुस्तान टीम,लखनऊDeep Pandey
Tue, 30 Nov 2021 09:24 AM
मिशन 2022 : व्यापारियों को बीजेपी का खास फोकस, ऐसे साध रहा प्रकोष्ठ

इस खबर को सुनें

आगामी विधानसभा चुनावों की तैयारी में जुटी भाजपा सबको साधने में लगी है। फोकस प्रदेश के व्यापारी वर्ग को बांधे रखने पर है, जो मूल रूप से पार्टी का परंपरागत वोट बैंक माना जाता है। इसे साधने का जिम्मा भाजपा व्यापार प्रकोष्ठ को दिया गया है। संगठन पूरे प्रदेश में सम्मेलनों के जरिए व्यापारियों को यह समझाने में जुटा है कि भाजपा सरकार में ही आप सबसे ज्यादा सुरक्षित हैं। लखनऊ में पांच दिसंबर को होने वाले व्यापारी सम्मेलन में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के भाग लेने की संभावना है।

भाजपा ने इन दिनों अपने सभी संगठनों को चुनावी मोर्चे पर लगा रखा है। पार्टी व्यापारियों सहित हर वर्ग को अपनी और पिछली सरकारों का फर्क समझा रही है। इसके लिए पार्टी ने अभियान भी चला रखा है। पार्टी व्यापारियों के बीच योगीराज में कानून व्यवस्था की स्थिति में हुए सुधार को जोर-शोर से प्रचारित कर रही है। व्यापार प्रकोष्ठ द्वारा उन्हें समझाया जा रहा है कि अब न कोई रंगदारी मांग रहा है और न ही कोई उनकी जमीन घेरने की हिम्मत कर सकता है। पूर्व में भाजपा के नोटबंदी और जीएसटी जैसे कदमों को लेकर विपक्षी दलों ने खूब घेराबंदी की थी। बावजूद इसके 2017 और 2019 के विधानसभा और लोकसभा चुनावों में भाजपा को प्रदेश में बड़ी सफलता मिली थी।

16 को सहारनपुर से शुरू हुआ सिलसिला
पार्टी के इन व्यापारी सम्मेलनों का सिलसिला 16 नवंबर से पश्चिमी उत्तर प्रदेश के सहारनपुर से शुरू हुए थे। रविवार को चित्रकूट के बाद सोमवार को कानपुर और वाराणसी में यह सम्मेलन हुए। जबकि एक दिसंबर को मुरादाबाद व बरेली, दो को हरदोई और तीन दिसंबर को प्रयागराज और सुल्तानपुर में सम्मेलन होने हैं। यह सिलसिला पांच को लखनऊ में खत्म होगा।

प्रदेश संयोजक विनीत शारदा ने बताया कि व्यापारी वर्ग सपा शासन के गुंडाराज को अभी भूला नहीं है। भाजपा सरकार में वह खुद को पूरी तरह सुरक्षित महसूस कर रहा है। सम्मेलनों के जरिए देखने को मिल रहा है कि मोदी और योगी सरकार के प्रति व्यापारी वर्ग में बेहद उत्साह है।
 

epaper

संबंधित खबरें