DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  कानपुर: बकाया न देने पर दबंगों ने घायल को अस्पताल जाने से रोका, तड़प-तड़पकर रास्ते में हुई मौत
उत्तर प्रदेश

कानपुर: बकाया न देने पर दबंगों ने घायल को अस्पताल जाने से रोका, तड़प-तड़पकर रास्ते में हुई मौत

संवाददाता,बिल्हौर (कानपुर)Published By: Sneha Baluni
Thu, 17 Jun 2021 06:00 AM
कानपुर: बकाया न देने पर दबंगों ने घायल को अस्पताल जाने से रोका, तड़प-तड़पकर रास्ते में हुई मौत

कानपुर जिले के बिल्हौर क्षेत्र के पूरा कस्बे में बकाया न देने पर दबंगों ने घायल को अस्पताल नहीं ले जाने दिया। इससे उसकी तड़पकर मौत हो गई। मृतक के भाई ने छह नामजद समेत 12 के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई है। पूरा कस्बे के यासीन अली ने पुलिस को दी गई तहरीर में आरोप लगाया है कि 12 जून को उसका भाई आशिफ अली (26) घर पर अकेला था। कुछ लोगों ने घर आकर उससे बकाया 20 हजार रुपये का तगादा किया। घबराया आशिफ भागकर घर की छत पर जाने लगा। 

अचानक हड़बड़ाहट में उसका पैर सीढ़ियों से फिसल गया और वह नीचे गिरकर गंभीर रूप से घायल हो गया। जानकारी पाकर यासीन घर पहुंचा और भाई को इलाज के लिए ऑटो से सीएचसी ले जाने लगा। आरोप है कि रास्ते में पूरा के मोबीन खां, ओम बाजपेई, सोनू वाल्मीकि, आनंद व आयुष पाण्डेय समेत छह अज्ञात लोगों ने ऑटो रोका और चाबी निकाल ली। 

सभी ने कहा कि पहले बकाया चुकता कर दो फिर अस्पताल ले जाओ। इस पर पीड़ित ने पुलिस को फोन किया। पुलिस के आने तक युवक की हालत और बिगड़ गई। वह उसे सीएचसी बिल्हौर ले गए, जहां से उसे गंभीर हालत में कानपुर रेफर किया गया। शिवराजपुर पहुंचते ही आशिफ ने दम तोड़ दिया। 

पीड़ित ने आरोपितों के रास्ते में रोके जाने का आरोप लगाते हुए भाई की मौत हो जाने की बात कही है। पुलिस ने 12 जून को पोस्टमार्टम कराने के बाद शव परिजनों को सौंप दिया। बिल्हौर इंस्पेक्टर अनूप निगम ने बताया कि विवाद के कारण पुलिस ने पोस्टमार्टम कराया था। घटना के बाद कोई तहरीर नहीं दी गई। 

मृतक के भाई ने कहा कि वह कर्मकांड करने के बाद तहरीर देगा। बुधवार को तहरीर मिलने पर पर 6 नामजद व 6 अज्ञात लोगों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर उनकी तलाश शुरू की गई है।

संबंधित खबरें