ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेशबीआरडी में फिर बदसलूकी, अबकी ट्रेनी टेक्निीश‍ियन मरीज के पति को जड़ा थप्‍पड़; दो सस्‍पेंड 

बीआरडी में फिर बदसलूकी, अबकी ट्रेनी टेक्निीश‍ियन मरीज के पति को जड़ा थप्‍पड़; दो सस्‍पेंड 

गोरखपुर के BRD मेडिकल कॉलेज में मारपीट की घटनाएं कम होती नजर नहीं आ रहीं हैं। मंगलवार को अल्ट्रासाउंड कराने पहुंची एक महिला के पति को प्रशिक्षु एक्सरे तकनीशियन ने थप्पड़ जड़ दिया।

बीआरडी में फिर बदसलूकी, अबकी ट्रेनी टेक्निीश‍ियन मरीज के पति को जड़ा थप्‍पड़; दो सस्‍पेंड 
Ajay Singhहिन्‍दुस्‍तान ,गोरखपुरWed, 29 May 2024 06:57 AM
ऐप पर पढ़ें

Medical College News: गोरखपुर के बीआरडी मेडिकल कॉलेज में मारपीट की घटनाएं कम होती नजर नहीं आ रहीं हैं। मंगलवार को अल्ट्रासाउंड कराने पहुंची महिला के पति को प्रशिक्षु एक्सरे तकनीशियन ने थप्पड़ जड़ दिया। इस घटना के बाद अस्पताल प्रशासन ने आरोपी दो प्रशिक्षु तकनीशियन को निलंबित कर दिया। मामला मंगलवार की सुबह का है।

महानगर की रहने वाली सुमन चौरसिया गर्भवती हैं। वह पति सुनील के साथ बीआरडी मेडिकल कालेज में अल्ट्रासाउंड कराने पहुंचीं। अल्ट्रासाउंड कक्ष के बाहर वह काफी देर बैठी रहीं। जब उनका पति पर्चा लेकर जमा कराने पहुंचा तो वहां पहले से मौजूद दो प्रशिक्षु एक्सरे तकनीशियन से विवाद हो गया। उनमें से एक ने थप्पड़ जड़ दिया। इस घटना से सकते में आए सुनील ने इसकी शिकायत प्राचार्य डॉ. रामकुमार जायसवाल से की। सुनील ने बताया कि पिछले बुधवार को पत्नी को लाया था। नंबर नहीं मिला। उस दिन पर्चे पर 28 मई का समय दिया गया था।

मंगलवार को सुबह से पत्नी के पेट में दर्द हो रहा था। सुबह आठ बजे ही यहां आ गया था। तभी से पत्नी का पर्चा लेकर नंबर लगाने के लिए परेशान था। जहां नंबर लगाया जा रहा था। वहीं पर प्रशिक्षु एक्स-रे टेक्नीशियन मौजूद थे। वह उलझ गए। हाथापाई करने लगे।

प्राचार्य ने तलब किया पूरा स्टॉफ, मचा हड़कंप

पीड़ित सुनील की बात सुनने के बाद प्राचार्य का चेहरा तमतमा गया। उन्होंने अल्ट्रासाउंड कक्ष में मौजूद सभी स्टॉफ को तलब कर लिया। इसमें आरोपी एक्स-रे टेक्नीशियन भी शामिल रहे। इसके बाद रेडियोलॉजी विभाग में हड़कंप मच गया। प्राचार्य ने जब कड़ाई से पूछताछ की तब तब दोनों ने गलती स्वीकार की। वह पीड़ित से क्षमा मांगने को भी तैयार हो गए। कुछ सीनियर टेक्नीशियन ने दोनों छात्रों की पैरवी भी की।

निलंबन के साथ परीक्षा देने पर लगी रोक

प्राचार्य ने आरोपी दोनों प्रशिक्षुओं को निलंबित कर दिया। फौरी तौर पर दोनों को आगामी सालाना परीक्षा देने पर रोक लगा दी गई है। यह परीक्षा करीब एक महीने बाद होगी। प्राचार्य ने बताया कि मामला बेहद गंभीर है। कर्मचारियों को मरीजों की दुश्वारी समझनी चाहिए। हाथापाई या मारपीट करना गलत है। इसे किसी भी सूरत में बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

पहले भी हुई हैं ऐसी घटनाएं

31 मई को संतकबीर नगर के पिता-पुत्र का सिर फोड़ा 
09 फरवरी को साथी का इलाज कराने आए इंजीनियरिंग कॉलेज के छात्रों से मारपीट 
29 फरवरी को मेडिसिन विभाग के वार्ड नंबर 14 में एक मरीज के तीमारदारों को बुरी तरह पीटे 
02 नवंबर 2019 को वार्ड नंबर 14 में कुशीनगर के एक मरीज के तीमारदारों के साथ मारपीट
25 सितंबर 2019 को मुजहना, महराजगंज के एक मरीज के तीमारदारों को कमरे में बंद कर पीटे
20 अक्टूबर 2019 को चिलुआताल के मरीज के तीमारदारों को पीटे