ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेशमिर्जापुर में दिखेगी सांसद और विधायक सगी बहनों के बीच चुनावी जंग! आमने-सामने होंगी अनुप्रिया-पल्लवी

मिर्जापुर में दिखेगी सांसद और विधायक सगी बहनों के बीच चुनावी जंग! आमने-सामने होंगी अनुप्रिया-पल्लवी

उत्तर प्रदेश के मिर्जापुर लोकसभा सीट पर सांसद और विधायक सगी बहनों के बीच चुनावी जंग देखने को मिल सकती है। अधिक संभावना बन गई है कि इस सीट से दोनों सगी बहने आमने-सामने चुनाव मैदान में नजर आ सकती हैं।

मिर्जापुर में दिखेगी सांसद और विधायक सगी बहनों के बीच चुनावी जंग! आमने-सामने होंगी अनुप्रिया-पल्लवी
Deep Pandeyहेमंत श्रीवास्तव,मिर्जापुरThu, 22 Feb 2024 11:14 AM
ऐप पर पढ़ें

लोकसभा चुनाव की तिथियां करीब आते ही दो धड़ों में बंटे स्व. सोनेलाल पटेल के परिवार में राजनीतिक वर्चस्व की जंग दिखने के आसार बनते नजर आ रहे हैं। सपा ने मिर्जापुर संसदीय क्षेत्र से चुनावी तैयारी के लिए अपना दल (कमेरावादी) को हरी झंडी दे दी है। सूत्र बताते हैं कि इस सीट से अपना दल (कमेरावादी) की नेता व सपा से सिराथू की विधायक पल्लवी पटेल विपक्ष का चेहरा होंगी।
जो राजनीतिक दांव पेंच इस सीट को लेकर चले जा रहे हैं, उसमें अधिक संभावना बन गई है कि इस सीट से दोनों सगी बहने आमने-सामने चुनाव मैदान में नजर आ सकती हैं।

अनुप्रिया को घेरने के लिए सपा ने चला यह दांव  
पल्लवी पटेल के प्रत्याशी के रूप में उतरने पर इस सीट का चुनाव रोचक हो जाएगा क्योंकि ऐसी स्थिति में उनका मुकाबला इस सीट से उनकी सगी बहन मौजूदा सांसद व केंद्र सरकार में राज्यमंत्री अनुप्रिया पटेल से होगा। एनडीए सहयोगी अपना दल (सोनेलाल) की अध्यक्ष केंद्रीय राज्यमंत्री अनुप्रिया पटेल को घेरने के लिए विपक्ष ने इसी रणनीति के तहत यह फैसला करने पर विचार हो रहा है। अद (कमेरावादी) के सूत्रों के मुताबिक सपा ने मिर्जापुर सीट गठबंधन के तहत पार्टी को दे दी है। इसके अलावा पार्टी की दावेदारी दो अन्य सीटों पर भी है, जिस पर जल्द ही फैसला हो जाएगा। दो अन्य सीटों में पार्टी की दावेदारी फूलपुर, मछलीशहर सीट पर अधिक है। 

एनडीए की निगाहें भी लगी हैं पल्लवी पर
चर्चा तो यह भी है कि भाजपा नहीं चाहती है कि इस तरह की कोई स्थिति बने। सूत्र बताते हैं कि भाजपा केंद्रीय नेतृत्व अद (कमेरावादी) के नेताओं के संपर्क में है। संभव है कि जल्द ही भाजपा इन्हें भी एनडीए में समायोजित करने का कोई फार्मूला ले आए। ऐसा होने पर परिवार के बीच चल रही राजनीतिक वर्चस्व की लड़ाई पर विराम लग जाएगा। 
 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें