ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेशVideo: पुलिस चौकी पहुंचकर अचानक रोने लगा 7 साल का मासूम, बोला- तीन दिन से बीमार मां ने कुछ नहीं खाया

Video: पुलिस चौकी पहुंचकर अचानक रोने लगा 7 साल का मासूम, बोला- तीन दिन से बीमार मां ने कुछ नहीं खाया

तीन दिन से भूखा सात साल का सुदामा खाने की तलाश में भटकते हुए पुलिस चौकी जा पहुंचा। जहां उसने खुद और बीमार मां के लिए खाना मांगा। पुलिस भी यह सुनकर पिघल गई और तत्काल भोजन-कपड़े-दवा की व्यवस्था कराई गई।

Video: पुलिस चौकी पहुंचकर अचानक रोने लगा 7 साल का मासूम, बोला- तीन दिन से बीमार मां ने कुछ नहीं खाया
Pawan Kumar Sharmaहिन्दुस्तान,मिर्जापुरThu, 30 Nov 2023 10:58 PM
ऐप पर पढ़ें

यूपी के मिर्जापुर में एक दिल झकझोर देने वाला मामला सामने आया है। तीन दिन से भूखा सात साल का सुदामा खाने की तलाश में भटकते हुए पुलिस चौकी जा पहुंचा। जहां उसने खुद और बीमार मां के लिए खाना मांगा। पत्थरदिल मानी जानेवाली पुलिस भी यह सुनकर पिघल गई और तत्काल भोजन-कपड़े-दवा की व्यवस्था कराई गई। बच्चे के साथ उसके घर जाकर मां का हाल लिया।  

मामला मिर्जापुर थाना के इमलिया चट्टी पुलिस चौकी क्षेत्र के गांव पटिहटा का है। गांव का परेशान हाल सुदामा बुधवार दोपहर क्षेत्रीय पुलिस चौकी में पहुंचा। घबराए-परेशान बच्चे को देख वहां मौजूद चौकी प्रभारी दिलीप गुप्ता ने उसे अपने पास बुलाया। सुदामा फफक पड़ा। तीन दिन से भूखा होने की बात कही। बीमार मां का हवाला दिया। पलभर के लिए चौकी में सन्नाटा पसर गया। पुलिसकर्मी भी भावुक हो गए। चौकी प्रभारी ने तत्काल भोजन की व्यवस्था कराई। सुदामा ने बताया कि तीन साल पहले पिता की मौत के बाद मां किरण पालन-पोषण के लिए काम करती है। लेकिन कई दिनों से बीमार होने के कारण घर में फांकाकशी की नौबत आ गई। बचा पैसा खर्च हो चुका है और तीन दिन से दोनों लोग भूखे हैं।

बच्चे की बात सुनकर पुलिस ने खंड शिक्षा अधिकारी जमालपुर अरुण सिंह को जानकारी दी तो वह भी चौकी पर आ गए। शिक्षाधिकारी और चौकी प्रभारी बच्चे के साथ उसकी मां के पास पटिहटा गांव पहुंचे। जहां एक मंदिर में वह बीमार पड़ी थी। तत्काल महिला के इलाज की व्यवस्था निजी अस्पताल में कराई गई। सुदामा का कच्चा घर जो अब गिरने के कगार पर है, देखकर सभी स्तब्ध रह गए। इस बारे में बीडीओ राजगढ़ डॉ. अरुण कुमार सिंह को बताया गया तो उन्होंने जल्द से आवास दिलाने का भरोसा दिया। बच्चे की मां किरण के नाम से राशन कार्ड बनाने और अन्य सरकारी योजनाओं का लाभ दिलाने की पहल भी की जा रही है।

बर्तन, छोटा गैस चूल्हा और कंबल पहुंचाया

पुलिस ने बालक और उसकी मां को अस्थायी तौर पर रहने के लिए मंदिर में व्यवस्था कराई। राशन, कंबल, बर्तन, छोटा गैस चूल्हा, कपड़े और बीमार मां की दवा आदि भी दी गई। भरोसा दिलाया कि बच्चे की पढ़ाई-लिखाई और उनके घर की मरम्मत आदि शीघ्र की जाएगी। क्षेत्रीय पुलिस की भलमंसाहत की हरओर और सराहना हो रही है। चौकी प्रभारी दिलीप गुप्ता ने कहा कि यह पहल कर उन्हें आत्मीय शांति मिली है।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें