ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेशनाबालिग का अपहरण कर किया धर्मांतरण, निकाह के बाद गैंगरेप, एसपी ने लिया एक्शन, पांच लोगों पर केस दर्ज

नाबालिग का अपहरण कर किया धर्मांतरण, निकाह के बाद गैंगरेप, एसपी ने लिया एक्शन, पांच लोगों पर केस दर्ज

दलित नाबालिग का अपहरण, धर्मान्तरण, निकाह व सामूहिक रेप मामले में एसपी वृंदा शुक्ला ने एक्शन लिया है। इस मामले की हिन्दुस्तान में रिपोर्ट प्रकाशित होने पर एसपी के निर्देश पर पुलिस सक्रिय हुई।

नाबालिग का अपहरण कर किया धर्मांतरण, निकाह के बाद गैंगरेप, एसपी ने लिया एक्शन, पांच लोगों पर केस दर्ज
Dinesh Rathourहिंदुस्तान,बहराइचThu, 11 Apr 2024 10:05 PM
ऐप पर पढ़ें

दलित नाबालिग का अपहरण, धर्मान्तरण, निकाह व सामूहिक रेप मामले में एसपी वृंदा शुक्ला ने एक्शन लिया है। इस मामले की हिन्दुस्तान में रिपोर्ट प्रकाशित होने पर एसपी के निर्देश पर सक्रिय हुई पुलिस ने पीड़िता व उसकी मौसी को थाने बुलवाया। सीओ महसी व पीड़िता की मौसी से नोकझोंक भी हुई। एसपी वृंदा शुक्ला गुरुवार देर शाम पीड़िता के गांव पहुंची। लगभग 45 मिनट तक उन्होंने पीड़ित परिजनों से मामले की जानकारी ली और पांच लोगों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई। साथ ही एसएचओ को तीन दिनों के भीतर सभी दोषियों की गिरफ्तारी की सख्त हिदायत दी है। 

हरदी थाने के एक गांव में पड़ोस के कुछ लोगों ने दलित किशोरी का अपहरण कर धर्मांतरण कराकर निकाह कर लिया। तीन दिन तक पांच लोगों ने किशोरी को रेप का शिकार बनाया। सभ्रांत लोगों के दवाब पर पुलिस कार्रवाई न करने के आश्वासन पर किशोरी को उसकी नानी को सौंप दिया। बुधवार सुबह हमलावरों ने किशोरी के मामा पर हमला कर दिया। किशोरी जबरन ले जाने की कोशिश में लगे हैं। पीड़िता की मौसी को जब वारदात की भनक लगी, तो उसने एसपी को आन लाइन शिकायत भेजी। 

हरदी थाने के एक गांव निवासिनी युवती गूंगी है। उसने अपनी बीमार मां की सेवा के लिए 15 वर्षीय पुत्री को ननिहाल भेजा हुआ था। तीन फरवरी की रात अनीस, सद्दाम, मोहिउद्दीन, अलीम व बउरा किशोरी को अगवाकर किसी दूसरे गांव में ले गये थे। जहां पर किसी मौलवी बुलाकर अपहर्ता एक युवक के साथ धर्मपरिवर्तन कराकर निकाह करा दिए थे। किशोरी के अचानक लापता होने के तीन दिनों तक नानी व मां खोजती रही। मामले को तूल पकड़ते देख गांव के संभ्रात लोगों ने दवाब बना कर किशोरी को नानी के घर तो पहुंचा दिया। साथ में इस मामले में मुंह बंद रखने की धमकी दी। बदनामी होने व दबंगों के डर से गूंगी मां व  नानी खामोश रही। किशोरी जब घर पहुंची तो उसने धर्मांतरण, निकाह व पांच लोगों पर रेप किए जाने की बात अपनी  मां व नानी को बताई। 

इधर दबंगों ने एक बार फिर किशोरी को साथ भेजने को कहा और न भेजने पर अंजाम भुगतने की धमकी दी। जब इसकी भनक किशोरी की मौसी को लगी। उसने पीड़िता को साथ लेकर बुधवार को एसपी से मिलने पहुंची, पर एसपी से मुलाकात नहीं हुई। जिस पर पीड़िता की मौसी ने आन लाइन शिकायत दर्ज कराई थी। इसे गुरुवार को हिन्दुस्तान ने प्रमुखता से प्रकाशित किया।

 एसपी के सख्त रुख पर गुरुवार दोपहर तीन बजे  एसएचओ ने पीड़िता की मौसी को थाने बुलवाया। पीड़िता को लेकर मौसी थाने पहुंची। उसका आरोप है कि सीओ ने उससे कहा कि यह मामला झूठा है। इसी को लेकर नोकझोक भी हुई। एसपी के पीड़िता के गांव के दौरे की भनक लगते ही अफसरों का रुख बदला। पीड़िता की मौसी की तहरीर पर पांच लोगों के विरुद्ध अपहरण, बंधक बनाने, गैंगरेप, धमकी, पाक्सो, उप्र विधि विरुद्ध धर्म परिवर्तन प्रतिषेध अधिनियम, दलित उत्पीड़न अधिनियम की धाराओं के तहत केस दर्ज किया गया है। मामले की विवेचना सीओ महसी को सौंपी गई है।