Millions of devotees reached Ayodhya on Guru Purnima - गुरु पूर्णिमा : अयोध्या में उमड़े लाखों श्रद्धालुओं ने सरयू में लगाई डुबकी DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गुरु पूर्णिमा : अयोध्या में उमड़े लाखों श्रद्धालुओं ने सरयू में लगाई डुबकी

1 / 3

2 / 3

3 / 3

PreviousNext

आषाढ़ शुक्ल पूर्णिमा के पर्व पर मंगलवार को देश भर से उमड़े लाखों श्रद्धालुओं ने मां सरयू के पुण्य सलिला में डुबकी लगाई और फिर अपने-अपने गुरुओं का पूजन कर उनके प्रति अपनी श्रद्धा निवेदित की। इसके साथ ही यथाशक्ति अपनी भेंट समर्पित की। इसके साथ भंडारे में ही प्रसाद ग्रहण किया।

मालूम हो कि वैष्णव नगरी अयोध्या  ऋषि परम्परा की नगरी है। संत-महंत ही परम्परा के वाहक हैं, इसी के चलते यहां दीक्षित शिष्यों की लम्बी श्रृंखला है। इस श्रृंखला की जड़े देश की सीमाओं से परे विदेशों तक फैली हुई है। गुरु पूर्णिमा के वार्षिक पर्व पर यह सभी मंत्र दीक्षित शिष्य अपने-अपने दीक्षा गुरुओं के प्रति श्रद्धा निवेदित करने के लिए आते हैं। यद्यपि कि इस वर्ष गुरु पूर्णिमा के पर्व पर चंद्रग्रहण का साया पड़ गया है। फिर भी चूंकि ग्रहण का स्पर्श मध्य रात्रि के बाद हो रहा है, इसलिए श्रद्धालुओं को पूजन का पूरा समय मिल गया। इस बीच यहां आए श्रद्धालुओं की भीड़ ग्रहण स्नान के लिए प्रवास कर रहे हैं। बताते चलें कि ग्रहण काल में पवित्र नदियों में स्नान और ग्रहण दान की परम्परा है।

उधर अ.भा. श्रीपंच रामानंदीय, निर्वाणी अखाड़ा हनुमानगढ़ी, अ.भा. श्रीपंच रामानंदीय निर्मोही अखाड़ा, अ.भा. श्रीपंच दिगम्बर अखाड़ा के अलावा दशरथ राजमहल बड़ा स्थान, रसिक पीठ बड़ा जानकीघाट, लक्ष्मणकिला, रामवल्लभा कुंज, रामहर्षण कुंज, सदगुरु सदन, रंगमहल, तोताद्रि मठ, कौशलेश सदन, श्रीपंच रामानंदीय तेरह भाई त्यागी खालसा खाक चौक, बावन मंदिर,  हनुमत सदन, हनुमत निवास, सुग्रीव किला, अशर्फीं भवन, सियाराम किला, गोकुल भवन, मणिराम छावनी, रघुनाथ दास जी की छावनी, तपस्वीजी की छावनी, बड़ा भक्तमाल, विजयराम भक्तमाल के अलावा महर्षि वेद विज्ञान विद्यपीठ सहित विभिन्न आश्रमों में गुरु पूजन के लिए श्रद्धालुओं का तांता प्रातःकाल से ही लगा रहा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Millions of devotees reached Ayodhya on Guru Purnima