DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  स्मृति शेषः पहली बार चुनाव लड़ रही नेता के प्रचार के लिए जेटली ने कैंसिल करा दिया था फ्लाइट का टिकट
उत्तर प्रदेश

स्मृति शेषः पहली बार चुनाव लड़ रही नेता के प्रचार के लिए जेटली ने कैंसिल करा दिया था फ्लाइट का टिकट

हिन्दुस्तान टीम,लखनऊPublished By: Gunateet
Sun, 25 Aug 2019 10:42 AM
स्मृति शेषः पहली बार चुनाव लड़ रही नेता के प्रचार के लिए जेटली ने कैंसिल करा दिया था फ्लाइट का टिकट

पूर्व वित्तमंत्री व भाजपा के वरिष्ठ नेता स्वर्गीय अरुण जेटली का लखनऊ व लखनऊ के लोगों से भी नाता रहा है। वह न सिर्फ यहां चुनाव में प्रचार के लिए आते थे बल्कि विरोध प्रदर्शन में भी खड़े नजर आते थे। वर्ष 2017 के विधानसभा चुनाव में उन्होंने स्वाति सिंह के प्रचार के लिए फ्लाइट का टिकट तक रद्द करा दिया था। 
अरुण जेटली की यह बात आज भी कार्यकर्ताओं को याद है। वह 2017 के चुनाव में लखनऊ आए थे। उनके साथ तत्कालीन मेयर व उपमुख्यमंत्री डॉ दिनेश शर्मा भी थे। उनके वापस जाने की फ्लाइट का समय हो गया था।

इस बीच दिनेश शर्मा ने उनसे सरोजनी नगर विधानसभा की प्रत्याशी स्वाति सिंह के क्षेत्र में जनसभा का अनुरोध किया। डॉ दिनेश शर्मा ने जेटली से कहा कि स्वाति सिंह नई उम्मीदवार हैं। पहली बार चुनाव लड़ रही हैं। आप के प्रचार से माहौल बदलेगा। डॉ. दिनेश शर्मा कहते हैं कि जेटली ने यह बात सुनने के बाद पीए से कहा कि टिकट रद्द करा दो। डॉ. दिनेश शर्मा के साथ वह स्वाति सिंह के प्रमुख चुनाव कार्यालय के पास जनसभा करने पहुंचे। यहां उन्होंने कार्यकर्ताओं में काफी जोश भरा। स्वाति ने तब चुनाव जीता था और इस समय स्वतंत्र प्रभार राज्यमंत्री हैं।

देर से पहुंचे मेयर को भाषण के बाद पुकारा

अरुण जेटली ने लखनऊ में 2014 से पहले कांग्रेस के खिलाफ हुए प्रदर्शन में भी बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया था। प्रदर्शन के बाद चौक में हुई सभा को खुद संबोधित करने के बाद अपने से काफी जूनियर नेता व तत्कालीन मेयर को बोलने का मौका दिया था। उनकी यह बात आज भी पार्टी कार्यकर्ताओं को याद है। खुद पूर्व मेयर व उप मुख्यमंत्री डॉ दिनेश शर्मा इसकी पुष्टि करते हैं। उन्होंने बताया कि उन्हें हरदोई से वापस लौटने में देरी हो गई थी। अरुण जेटली मुख्य अतिथि के रूप में सभा को संबोधित करने लगे। दिनेश शर्मा पहुंचे तो अरुण जेटली का आधा भाषण हो चुका था। जेटली ने अपना भाषण खत्म करने के बाद दिनेश शर्मा को भाषण के लिए बुलाया। वह मंच से बोले कि इन्हें आने में देरी हो गई है लेकिन सब लोंगों को इनकी बात सुनना है। यह कहते हुए वह बैठ गए।

बाजपेयी के प्रचार के लिए भी आते थे जेटली

अरुण जेटली पूर्व पीएम स्वर्गीय अटल बिहारी बाजपेयी के जमाने में भी लखनऊ में प्रचार करने आते थे। भाजपा महानगर उपाध्यक्ष अनुराग मिश्रा बताते हैं कि उन्हें याद है जब स्व. जेटली चौक के लोहिया पार्क में जनसभा की थी। 

इस आर्टिकल को शेयर करें
लाइव हिन्दुस्तान टेलीग्राम पर सब्सक्राइब कर सकते हैं।आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं? हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें।

सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

सब्सक्राइब
अपडेट रहें हिंदुस्तान ऐप के साथ ऐप डाउनलोड करें

संबंधित खबरें