ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेशट्रांसफॉर्मर चोरी करने वाला अंतरराज्यीय गैंग दबोचा, चौकाने वाला खुलासा

ट्रांसफॉर्मर चोरी करने वाला अंतरराज्यीय गैंग दबोचा, चौकाने वाला खुलासा

उत्तर प्रदेश के मेरठ जिले में बिजली ट्रांसफार्मर चोरी करने वाले अंतरराज्यीय गैंग के तीन बदमाशों और माल खरीदने वाले दो कबाड़ियों को गिरफ्तार किया है। गैंग के सदस्य ने चौकाने वाला खुलासा किया है।

ट्रांसफॉर्मर चोरी करने वाला अंतरराज्यीय गैंग दबोचा, चौकाने वाला खुलासा
Deep Pandeyहिन्दुस्तान,मेरठWed, 25 Oct 2023 06:52 AM
ऐप पर पढ़ें

मेरठ में जानी पुलिस ने नलकूप और गांवों के बाहर लगे बिजली ट्रांसफार्मर चोरी करने वाले अंतरराज्यीय गैंग के तीन बदमाशों और माल खरीदने वाले दो कबाड़ियों को गिरफ्तार किया है। आरोपियों की निशानदेही पर लाखों की कीमत का माल बरामद किया गया है। आरोपियों से पूछताछ में खुलासा हुआ कि उनके गिरोह के कुछ साथी फरार हैं। गाजियाबाद के एक बड़े फैक्ट्री मालिक का नाम भी सामने आया है, जो चोरी के माल को खरीद इसे गलाकर इस्तेमाल करता था। पुलिस ने मुकदमा दर्ज किया है।

जानी पुलिस ने खुलासा किया कि सोमवार देररात भोला झाल चौराहा पर चेकिंग के दौरान कुछ संदिग्ध युवकों को पकड़ा था। आरोपियों से ट्रांसफार्मर का सामान बरामद किया गया। पूछताछ में आरोपियों की पहचान अंकित कश्यप निवासी कंकरखेड़ा, विशाल निवासी परतापुर और रोहित निवासी गाजियाबाद मोदीनगर के रूप में हुई। आरोपियों को थाने लाया गया और पूछताछ की गई। खुलासा हुआ कि यह गैंग वेस्ट यूपी के कई जिलों में ट्रांसफार्मर चोरी की वारदात अंजाम दे चुका है। गिरोह में मोहित, सलमान, फरीद, साजिद अलवी, कुणाल, अंकित और फरीद भी शामिल बताए गए। आरोपियों की निशानदेही पर कुछ अन्य सामान बरामद किया गया। जानी थाने में मुकदमा दर्ज किया गया है।

ट्रांसफार्मर चोरी का मामला

सरधना विधायक अतुल प्रधान ने पिछले माह ट्रांसफार्मर चोरी का मामला जिला पंचायत कार्यालय में हुई मीटिंग के दौरान उठाया था। खुलासा किया था कि करीब 500 ट्रांसफार्मर चोरी हो चुके हैं और पुलिस खुलासा नहीं कर पाई है। इसके बाद शासन तक मामला पहुंचा और मेरठ पुलिस प्रशासन और विद्युत विभाग के अधिकारियों से रिपोर्ट मांगी गई थी।

इनकी हुई गिरफ्तारी

1. अंकित कश्यप निवासी डाबका, कंकरखेड़ा। (दर्ज मुकदमे 17)

2. विशाल निवासी छज्जूपुर, परतापुर। (दर्ज मुकदमे 18)

3. रोहित कश्यप निवासी भनैड़ा, मोदीनगर गाजियाबाद। (दर्ज मुकदमे 46)

4. वसीम निवासी हरमुखपुरी, मोदीनगर गाजियाबाद। (दर्ज मुकदमे 17)

5. अंकित गोयल निवासी बक्सर, सिंभावली हापुड़। (दर्ज मुकदमे 16)

यह किया गया बरामद

ट्रांसफार्मर की 10 क्वाइल, एबीसी कंडक्टर वायर केबिल करीब 40 मीटर, दो गोल कैन में भरा 40 लीटर ट्रांसफार्मर का तेल, 20 मीटर विजल कंडक्टर, लोहे की 12 क्लिप, एक स्टार्टर, 13 रिंच और चाभी, एक कार, एक बाइक, आरी बरामद की है।

मोदीनगर का बड़ा कारोबारी है विनय गुप्ता

ट्रांसफार्मर और चोरी का सामान खरीदकर इन्हें गलाने में विनय गुप्ता का नाम सामने आया है। विनय गुप्ता मोदीनगर का बड़ा कारोबारी है और इसकी फैक्ट्री है। खुलासा हुआ इस गैंग से सारा माल वसीम कबाड़ी खरीद लेता था और इसके बाद माल को अंकित गोयल को दिया जाता था। अंकित माल को मोदीनगर के विनय गुप्ता को बेच देता था। विनय गुप्ता इस माल को अपनी फैक्ट्री में गला देता था और ठिकाने लगा देता था। पुलिस ने विनय को फरार आरोपियों की लिस्ट में दिखाया है और उसकी तलाश में दबिश दी जा रही है।

ये आरोपी फरार

लोहा और सामान गलाने वाले विनय गुप्ता समेत मोहित, सलमान, फरीद, साजिद अलवी, कुणाल, अंकित पुत्र श्यौराज कश्यप और फरीद को फरार दिखाया है। कुल मिलाकर 8 आरोपी फरार हैं।

मोदीनगर में दबिश देकर खरीदार दबोचे

आरोपी अंकित, विशाल और रोहित ने खुलासा किया कि उनका गैंग ट्रांसफार्मर का माल चोरी करने के बाद इसे मोदीनगर में वसीम कबाड़ी को बेच देते थे। इसके बाद पुलिस टीम ने दबिश देकर वसीम को मोदीनगर में गिरफ्तार किया। वसीम ने बताया कि वह मोदीनगर में अंकित गोयल को माल सप्लाई करता था। इसके बाद पुलिस ने अंकित गोयल को गिरफ्तार कर लिया। इसके बाद मोदीनगर के बड़े कारोबारी और फैक्ट्री मालिक विनय गुप्ता के नाम का खुलासा हुआ। खुलासा हुआ चोरी का सारा माल विनय खरीदकर अपनी फैक्ट्री में लगाकर बेचता था।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें