DA Image
10 जुलाई, 2020|6:18|IST

अगली स्टोरी

मायावती तीन महीने बाद कल लखनऊ आएंगी, गठबंधन को धार मिलने की संभावना

akhilesh yadav and mayawati photo-ht

बसपा सुप्रीमो मायावती (Mayawati) करीब तीन महीने बाद 10 जनवरी को लखनऊ आ रही हैं। उनके आने के बाद सपा-बसपा गठबंधन को और धार मिलने की संभावना है। मायावती 15 जनवरी को अपने जन्मदिन के मौके पर गठबंधन के बारे में स्थिति और साफ कर सकती हैं। मायावती के आने से पहले 9 माल एवेन्यू स्थित आवास को उनके जन्मदिन के उपलक्ष्य में सजाया-संवारा जा रहा है। उनका जन्मदिन जन कल्याणकारी दिवस के रूप में मनाया जाता है। वह इसी दिन 'ब्लू-बुक' नाम की किताब व पार्टी का कैलेंडर जारी करती हैं। ब्लू-बुक में पार्टी की वर्ष भर की गतिविधियों का लेखाजोखा होता है। लोकसभा चुनाव से पहले मायावती का यह जन्मदिन काफी खास हो गया है।

मायावती को पीएम बनाने के लिए करें काम: कुशवाहा

बसपा-सपा के बीच कांग्रेस को बाहर रखकर गठबंधन के लिए लगभग सहमति बन गई है। बसपा सुप्रीमो का इसीलिए इस बार लखनऊ आना काफी अहम माना जा रहा है। वह गुरुवार अपराह्न लखनऊ पहुंच रही हैं। इसके बाद संभावना है कि वह हर माह 10 तारीख को होने वाली संगठन विस्तार की समीक्षा बैठक कर सकती हैं। जन्मदिन के मौके पर मायावती गठबंधन के फार्मूले का ऐलान कर सकती हैं।

लोकसभा चुनाव 2019: मायावती ने वरिष्ठ नेताओं को दिल्ली बुलाया

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Mayawati will come to Lucknow on thursday likely to get alliance with sp in up