DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कांग्रेस पर बरसीं मायावती, कहा-इनके नेता भी जुमलेबाजी कर रहे

अकबरपुर संसदीय क्षेत्र में बुधवार को बसपा सुप्रीमो के तेवर गमर दिखे। 40 डिग्री तापमान के बीच जुटी भीड़ से उत्साहित मायावती ने इस बार भाजपा से ज्यादा कांग्रेस पर हमला बोला। 29 मिनट के भाषण में उन्होंने कम से कम 60 बार कांग्रेस का नाम लेकर निशाना साधा। कहा, पहले कांग्रेस की यूपीए सरकार ने सीबीआई, ईडी और दूसरी सरकारी एजेंसियों का दुरुपयोग किया फिर उसी रास्ते पर भाजपा की एनडीए सरकार चल पड़ी। हमें इन दोनों पार्टियों से सतर्क रहना होगा। ये लोग आपसे वोट की अपील करेंगे। खासकर कांग्रेस के लोग घूम-घूमकर कह रहे हैं हम आपकी तकलीफ दूर करेंगे, हर माह खाते में पैसे डालेंगे। यह सब चुनावी जुमलेबाजी है। लंबे समय तक कांग्रेस की सरकार ने देश में शासन किया है, लेकिन जनता के लिए कुछ नहीं किया।

आरक्षण खत्म कर देना मोदी के अधिकार मे नहीं  
वहीं दूसरी तरफ प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर आरक्षण के मुद्दे पर देश को गुमराह करने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि पीएम द्वारा आरक्षण पर भी देश को गुमराह करने का प्रयास जारी है कि इसे खत्म नहीं किया जाएगा। यह वास्तव में मोदी की एक और जुमलेबाजी है क्योंकि कांग्रेस की तरह इनके शासनकाल में भी एससी/एसटी/ओबीसी आरक्षण की व्यवस्था को पूरी तरह से निष्क्रिय और निष्प्रभावी बना दिया गया है। अब आरक्षण खत्म करने की साजिश कर रहे हैं। आरक्षण खत्म कर देना मोदी के अधिकार मे नहीं है। आरक्षण की व्यवस्था बाबा साहेब भीमराव अंबेडकर ने की थी।

भाजपा पर हमाल, शहादत को भुनाने में लगे 
मायावती ने मोदी सरकार पर बरसते हुए कहा, अबकी इनके चौकीदारों की नौटंकी भी नहीं चलेगी। पिछले चुनाव में भी वादे किए थे और फिर वादे कर रहे हैं। बहुजन समाज और पिछड़े वर्ग इनके बहकावे में नहीं आएगा। पूंजीपतियों और धन्ना सेठों को बचाने में लगे इन चौकीदारों की वजह से ही आज गांवों के किसान आवारा पशुओं से अपनी फसल बचाने में जान दे रहे हैं। केंद्र की सरकार ने नोटबंदी और जीएसटी को जल्दबाजी में लागू करके देश के व्यापार को चौपट कर दिया है। रक्षा सौदों में भी इनकी भूमिका अछूती नहीं रही। देश की सीमाएं सुरक्षित नहीं है। काफी संख्या में जवान शहीद हुए हैं। जवानों की शहादत को भी भुनाने में लगे हैं। सभी विरोधी साम-दाम-दंड-भेद, हर हथकंडे अपनाएंगे। आपको सावधान रहने की जरूरत है।

हम जुमलेबाजी नहीं करते, हर हाथ को काम देंगे
भाजपा ने पिछले चुनाव के दौरान तमाम वादे किए थे, उसकी जमीनी हकीकत सबके सामने है। अब कांग्रेस नया जुमला लेकर आई है हर महीने छह हजार रुपये देंगे, यह छलावे से कम नहीं है। हम 6 हजार देने के बजाए स्थाई रोजगार देंगे। बसपा के हिसाब देश में गरीबी सबसे जटिल समस्या है। सभी को काम देकर ही गरीबी कम की जा सकती है। हमारी पार्टी कहने में कम काम में ज्यादा भरोसा रखती है।

घबराए मोदी को याद आए दलित-पिछड़े
पहले, दूसरे चरण के वोट पड़े तो भाजपा की घबराहट बढ़ गई। सांप्रदायिक दंगा भड़काने की कोशिश की। जब मैंने नहले पर दहला मारा तो चुप हो गए। भोपाल में कहीं से एक साध्वी को पकड़ ले आए। अब न योगी काम आ रहे न साध्वी। घबराए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दलितों-पिछड़ों की बात करने लगे। मायावती ने कहा, मोदी जन्मजात से बैकवर्ड नहीं है। जब गुजरात की सरकार मे थे तो सबसे ज्यादा बैकवर्ड समाज का हक मारा गया। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Mayawati says Congress leaders are also involved