DA Image
Sunday, November 28, 2021
हमें फॉलो करें :

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ उत्तर प्रदेशमंत्रिमंडल विस्तार पर मायावती बोलीं - नए मंत्रियों को नहीं स्वीकार करना चाहिए था पद

मंत्रिमंडल विस्तार पर मायावती बोलीं - नए मंत्रियों को नहीं स्वीकार करना चाहिए था पद

भाषा,लखनऊDeep Pandey
Mon, 27 Sep 2021 10:42 AM
मंत्रिमंडल विस्तार पर मायावती बोलीं - नए मंत्रियों को नहीं स्वीकार करना चाहिए था पद

उत्तर प्रदेश की भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) सरकार से किसान समेत समाज के सभी वर्गों से सावधान रहने की सलाह देते हुये बहुजन समाज पार्टी (बसपा) सुप्रीमो मायावती ने कहा कि जातिगत वोटों को साधने के लिये मंत्री बनाये गये लोग यदि पद स्वीकार नहीं करते तो उनके व समाज के लिये बेहतर होता।
मायावती ने सोमवार सुबह एक के बाद एक दो ट्वीट कर राज्य की योगी सरकार पर निशाना साधा। पहले ट्वीट में वे नवनियुक्त सात मंत्रियों को सलाह देने के मूड में नजर आयी जबकि एक घंटे बाद किये गये दूसरे ट्वीट में उन्होने किसानों की उपेक्षा का आरोप लगाते हुये गन्ना मूल्य में की गयी बढ़ोतरी को राजनीति से प्रेरित करार दिया। 

बसपा सुप्रीमो ने कहा “ बीजेपी ने कल यूपी में जातिगत आधार पर वोटों को साधने के लिए जिनको भी मंत्री बनाया है, बेहतर होता कि वे लोग इसे स्वीकार नहीं करते क्योंकि जब तक वे अपने-अपने मंत्रालय को समझकर कुछ करना भी चाहेंगे तब तक यहाँ चुनाव आचार संहिता लागू हो जायेगी।” उन्होंने कहा “ इनके समाज के विकास व उत्थान के लिए अभी तक वर्तमान भाजपा सरकार ने कोई भी ठोस कदम नहीं उठाये हैं बल्कि इनके हितों में बीएसपी की रही सरकार ने जो भी कार्य शुरू किये थे, उन्हें भी अधिकांश बन्द कर दिया गया है। इनके इस दोहरे चाल-चरित्र से इन वर्गों को सावधान रहने की सलाह।”

 

मायावती ने कहा “ यूपी भाजपा सरकार पूरे साढ़े चार वषोर्ं तक यहाँ के किसानों की घोर अनदेखी करती रही व गन्ना का समर्थन मूल्य नहीं बढ़ाया जिस उपेक्षा की ओर 7 सितम्बर को प्रबुद्ध वर्ग सम्मेलन में मेरे द्वारा इंगित करने पर अब चुनाव से पहले इनको गन्ना किसान की याद आई है जो इनके स्वार्थ को दशार्ता है।”
उन्होने कहा “ केन्द्र व यूपी सरकार की किसान-विरोधी नीतियों से पूरा किसान समाज काफी दु:खी व त्रस्त है, लेकिन अब चुनाव से पहले अपनी फेस सेविंग के लिए गन्ना का समर्थन मूल्य थोड़ा बढ़ाना खेती-किसानी की मूल समस्या का सही समाधान नहीं। ऐसे में किसान इनके किसी भी बहकावे में आने वाला नहीं है।”

गौरतलब है कि रविवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने लखनऊ में आयोजित किसान सम्मेलन में गन्ने के समर्थन मूल्य में 25 रूपये की बढोतरी की घोषणा की थी और कल ही शाम योगी ने मंत्रिमंडल विस्तार करते हुये सात नये मंत्री बनाये थे जिनमें एक ब्राहृमण, तीन ओबीसी,दो एससी और एक एसटी वर्ग से हैं।

सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

संबंधित खबरें