ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेशफार्म भरने के बहाने मदरसे में मासूम छात्रा से मौलाना ने किया था रेप, 10 साल की सजा, जुर्माना भी

फार्म भरने के बहाने मदरसे में मासूम छात्रा से मौलाना ने किया था रेप, 10 साल की सजा, जुर्माना भी

उतर प्रदेश के कानपुर में शर्मनाक करतूत करने वाले मौलाना को सजा मिली है। फार्म भरने के बहाने मदरसे में मासूम छात्रा से रेप करने वाले मौलाना को कोर्ट ने 10 साल की सजा सुनाई है।

फार्म भरने के बहाने मदरसे में मासूम छात्रा से मौलाना ने किया था रेप, 10 साल की सजा, जुर्माना भी
Deep Pandeyहिन्दुस्तान,कानपुरSat, 22 Jun 2024 05:54 AM
ऐप पर पढ़ें

कानपुर में गुरु-शिष्य के रिश्ते को कलंकित करके फार्म भरने के बहाने मदरसे में कक्षा सात की छात्रा से दुष्कर्म करने वाले मौलाना को विशेष न्यायाधीश पाक्सो एक्ट सुरेंद्र पाल सिंह ने सजा सुनाई है। दो शिक्षिकाओं को बरी कर दिया है। कोर्ट ने मौलाना को 10 साल की सजा और 55 हजार रुपये का अर्थदंड लगाया है। जुर्माने में से 50 हजार रुपये पीड़िता को मिलेंगे।

विशेष लोक अभियोजक चन्द्रकान्त शर्मा ने बताया कि कानपुर देहात के अकबरपुर निवासी मोहम्मद जावेद गुलशने फातिमा मदरसा में बतौर मौलाना तैनात थे। नौ जून 2019 को वह आलिमा का कोर्स कर रही छात्रा को घर से फार्म भरने के बहाने मदरसे ले गए थे। जहां छात्रों के साथ मौलाना ने दुष्कर्म किया। शिकायत करने पर जान से मारने की धमकी दी। नौबस्ता थाने में मौलाना मोहम्मद जावेद, शिक्षिका जरौली फेस दो निवासी आबदा इस्लाम और शीबा उर्फ शिफा के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज करके कोर्ट में पुलिस ने चार्जशीट भेजी थी। कोर्ट के समक्ष पीड़िता समेत आठ गवाह पेश किए गए। कोर्ट ने सबूतों और गवाह के आधार पर मौलाना को सजा सुनाई। सबूतों के अभाव में दोनों शिक्षिकाओं को बरी कर दिया गया।

तलबी पर पीड़िता मुकरी, प्रयोगशाला रिपोर्ट पर सजा

विशेष लोक अभियोजक चन्द्रकान्त शर्मा ने बताया कि अभियोजन की ओर से जब पीड़िता को दोबारा साक्ष्य के लिए तलब किया गया तो वह अपनी जिरह में घटना के कथानक से मुकर गई। फिर भी फॉरेंसिक जांच रिपोर्ट में अभियुक्त की लुंगी और पीड़ित के कपड़ों में मानव वीर्य और रक्त दोनों पाए गए। मेडिकल रिपोर्ट में भी पुष्टि हुई। उसके आधार पर कोर्ट ने सजा सुनाई है।