ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेशपुलिस मुठभेड़ में ढेर हुआ इनामी बदमाश, कारोबारी की बीवी की हत्या कर लूट की वारदात को दिया था अंजाम

पुलिस मुठभेड़ में ढेर हुआ इनामी बदमाश, कारोबारी की बीवी की हत्या कर लूट की वारदात को दिया था अंजाम

यूपी की मथुरा पुलिस और एसओजी ने संयुक्त कार्रवाई करते हुए बदमाश को ढेर कर दिया। उस पर 50 हजार का इनाम था। हाल ही में उसने एक कारोबारी की बीवी की हत्या कर लूट की वारदात को अंजाम दिया था।

पुलिस मुठभेड़ में ढेर हुआ इनामी बदमाश, कारोबारी की बीवी की हत्या कर लूट की वारदात को दिया था अंजाम
Pawan Kumar Sharmaभाषा,मथुराSun, 12 Nov 2023 07:34 PM
ऐप पर पढ़ें

यूपी के मथुरा में पुलिस और एसओजी के साझा अभियान में हत्या और लूटपाट को अंजाम देने वाले बदमाश को मुठभेड़ में मार गिराया। एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने रविवार को ये जानकारी दी। बदमाश पर पुलिस ने 50 हजार रुपये का इनाम रखा था। मथुरा के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (एसएसपी) शैलेश कुमार पांडेय ने बताया कि शनिवार रात हाइवे थाना के अंतर्गत एक होटल के पास पुलिस मुठभेड़ में मटिया दरवाजा निवासी फारुख घायल हो गया। जिसे अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

पुलिस के अनुसार, फारुख ने मोहसिन नामक व्यक्ति के साथ मिल कर तीन और चार नवंबर की दरमियानी रात हाइवे थाना क्षेत्र की गुरु कृपा विलास कॉलोनी में 55 साल की कल्पना अग्रवाल की हत्या कर दी थी। फिर उनके पति कृष्ण कुमार अग्रवाल को बुरी तरह से जख्मी कर दिया था।  बदमाशों ने वहां से नकदी और आभूषण लूटकर फरार हो गए थे। फिलहाल कृष्ण कुमार अग्रवाल की स्थिति नाजूक बनी हुई है। अस्पताल में वह जिंदगी और मौत से जूझ रहे हैं।

जवाबी गोलीबारी में मारा गया बदमाश

इस मामले में पुलिस ने ताबड़तोड़ कार्रवाई करते हुए 10 नवंबर को मोहसिन को गिरफ्तार कर लिया था। उसके पास से कुछ नकदी बरामद की थी। एसएसपी ने बताया कि शनिवार रात फारुख की एसओजी टीम और थाना हाइवे पुलिस के साथ मुठभेड़ हुई। जिसमें पुलिस द्वारा की गई जवाबी गोलीबारी में वह मारा गया। फारुख के पास से 21.8 लाख रुपये, आभूषण और एक पिस्तौल मिली है।

पुलिस के मुताबिक, लूट की वारदात की साजिश व्यापारी के कार ड्राइवर मोहसिन ने ही रची थी। उसने उस रात व्यापारी को वृंदावन स्थित शो रूम से घर लाने से पहले ही कार में अपने साथी फारुख को छिपा लिया था और घर की एक चाभी भी उसे सौंप दी थी।  पुलिस ने कहा कि इसके बाद फारुख ने घटना को अंजाम दिया था। पुलिस मामले में अग्रिम कार्रवाई कर रही है।