ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेशपूर्वांचल के कई प्रत्याशी अपने क्षेत्र में वोटर नहीं, खुद नहीं दें पाएंगे वोट 

पूर्वांचल के कई प्रत्याशी अपने क्षेत्र में वोटर नहीं, खुद नहीं दें पाएंगे वोट 

यूपी के पूर्वांचल में कई प्रत्याशी अपने क्षेत्र में वोटर नहीं हैं ऐसे दिलचस्प बात यह है कि कई प्रत्याशी खुद मतदान नहीं करेंगे क्योंकि वे दूसरे लोकसभा क्षेत्र के निवासी और वोटर हैं।

पूर्वांचल के कई प्रत्याशी अपने क्षेत्र में वोटर नहीं, खुद नहीं दें पाएंगे वोट 
Deep Pandeyसुधीर ओझा,बलियाFri, 24 May 2024 06:29 AM
ऐप पर पढ़ें

लोकसभा चुनाव में राजनीतिक दल और उनके प्रत्याशी एक-एक वोट को अपने पक्ष में सहेजने की जुगत में जुटे रहे हैं। कुछ लोकसभा क्षेत्रों में यह प्रयास 30 मई तक चलेगा। इसमें दिलचस्प बात यह है कि कई प्रत्याशी खुद मतदान नहीं करेंगे क्योंकि वे दूसरे लोकसभा क्षेत्र के निवासी और वोटर हैं। इनमें वाराणसी संसदीय क्षेत्र से तीसरी बार चुनाव लड़े रहे प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी भी हैं।
सोनभद्र की राबर्ट्सगंज सीट से सभी प्रमुख दलों के उम्मीदवार गैर संसदीय क्षेत्र के मतदाता हैं। भाजपा-अपना दल (एस) की उम्मीदवार रिंकी कोल मिर्जापुर में पटेहरा गांव की मूल निवासी हैं, वहीं की मतदाता भी है। बसपा उम्मीदवार धनेश्वर गौतम मिर्जापुर में छानबे विधानसभा क्षेत्र के तुलसी गांव के निवासी हैं। जबकि सपा प्रत्याशी छोटेलाल खरवार चंदौली में चकिया के रहने वाले हैं।

मऊ में घोसी संसदीय क्षेत्र से इंडिया गठबंधन से सपा प्रत्याशी राजीव राय बलिया जिले में फेफना से मतदाता हैं। हालांकि बसपा प्रत्याशी बालकृष्ण चौहान घोसी क्षेत्र के मुहम्मदाबाद गोहना और सुभासपा प्रत्याशी डॉ. अरविंद राजभर इसी लोकसभा क्षेत्र के रसड़ा के मतदाता हैं।

अफजाल भी गाजीपुर के मतदाता नहीं
गाजीपुर संसदीय सीट से सपा प्रत्याशी अफजाल अंसारी यूं तो रहने वाले गाजीपुर जिले के ही हैं लेकिन इनका घर मुहम्मदाबाद विधानसभा क्षेत्र में है, जो बलिया लोकसभा क्षेत्र का हिस्सा है। लिहाजा वह भी खुद के लिए मतदान नहीं कर पाएंगे।

केन्द्रीय मंत्री हैं बनारस के वोटर
चन्दौली सीट से भाजपा प्रत्याशी और केन्द्रीय मंत्री डॉ. महेंद्रनाथ पांडेय मूलत: गाजीपुर में पखनपुर गांव के रहने वाले हैं, जबकि मतदाता वाराणसी के हैं। यहां सपा प्रत्याशी वीरेंद्र सिंह और बसपा प्रत्याशी सत्येन्द्र मौर्य भी वाराणसी के रहने वाले हैं। वोटर भी वहीं के हैं। जाहिर है, ये उम्मीदवार भी अपना वोट खुद को नहीं देंगे। जौनपुर सीट से सपा उम्मीदवार बाबू सिंह कुशवाहा बांदा के रहने वाले हैं।

निरहुआ गाजीपुर, धर्मेन्द्र सैफई के वोटर
वाराणसी के बाद पूर्वांचल की दूसरी हॉट सीट आजमगढ़ में भाजपा और सपा के उम्मीदवार अपना वोट खुद को नहीं डाल सकेंगे। यहां से भाजपा प्रत्याशी दिनेश लाल यादव निरहुआ का पैतृक गांव गाजीपुर में टंडवा जखनिया है। वह वहीं के वोटर भी हैं। वहां सातवें चरण में एक जून को मतदान होना है। इसी सीट से सपा प्रत्याशी धर्मेंद्र यादव इटावा में सैफई गांव के रहने वाले हैं। वह सात मई को सैफई में मतदान कर चुके हैं।

आजमगढ़ जिले की ही संसदीय सीट लालगंज से भाजपा प्रत्याशी नीलम सोनकर आजमगढ़ शहर में नरौली मोहल्ला की रहने वाली हैं। वह अपना वोट आजमगढ़ में देंगी। ज यहीं से सपा प्रत्याशी दरोगा प्रसाद सरोज बरदह क्षेत्र के निवासी हैं। बसपा प्रत्याशी डॉ. इंदू चौधरी मूल रूप से इटावा की निवासी हैं लेकिन वह वाराणसी में रहती हैं और मतदाता भी वहीं की हैं। वहां मतदान एक जून को होगा।

बलिया के प्रमुख प्रत्याशी दूसरों को देंगे वोट
बलिया में तीनों प्रमुख दलों के प्रत्याशी अपने लोकसभा क्षेत्र के बाहर के हैं। लिहाजा कोई भी अपना वोट खुद को नहीं दे सकेगा। भाजपा प्रत्याशी नीरज शेखर रहने वाले तो बलिया जिले के हैं लेकिन उनका पैतृक गांव  इब्राहिमपट्टी सलेमपुर लोकसभा क्षेत्र का हिस्सा है। सपा प्रत्याशी सनातन पांडेय भी रहने वाले जिले के ही हैं लेकिन उनका घर रसड़ा विस क्षेत्र में है, मतदाता भी वहीं के हैं। वह घोसी संसदीय सीट के लिए वोट डालेंगे। बसपा प्रत्याशी लल्लन सिंह यादव गाजीपुर के निवासी और मतदाता हैं।

वाराणसी में प्रत्याशी, वडनगर में मतदान
पूर्वांचल की सबसे हॉट सीट वाराणसी से प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी भाजपा के उम्मीदवार हैं। उनका नाम वडनगर (गुजरात) की मतदाता सूची में है। वडनगर में चुनाव हो चुका है और मोदी ने वहां मतदान भी कर दिया है। वाराणसी सीट से ही युग तुलसी पार्टी के उम्मीदवार कोलीशेट्टी शिवकुमार हैदराबाद के मतदाता हैं। वह भी मतदान वहां कर चुके हैं।