ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेशमाफिया अतीक के आतंक की खेती अब बाद भी जारी, खुद को डॉन का रिश्‍तेदार बता जमीन कब्‍जाने की कोशिश 

माफिया अतीक के आतंक की खेती अब बाद भी जारी, खुद को डॉन का रिश्‍तेदार बता जमीन कब्‍जाने की कोशिश 

अतीक अहमद की मौत के सात महीने बाद भी उससे जुड़े रहे लोग उसका नाम लेकर आतंक की खेती कर रहे हैं। कुछ लोगों ने खुद को माफिया का रिश्‍तेदार बताकर अलीगढ़ में एक जमीन कब्‍जाने की कोशिश की।

माफिया अतीक के आतंक की खेती अब बाद भी जारी, खुद को डॉन का रिश्‍तेदार बता जमीन कब्‍जाने की कोशिश 
Ajay Singhलाइव हिंदुस्‍तान,अलीगढ़Wed, 29 Nov 2023 12:44 PM
ऐप पर पढ़ें

Mafia Atiq Ahmad News: माफिया अतीक अहमद की मौत के सात महीने बाद भी उससे जुड़े रहे लोग उसका नाम लेकर आतंक की खेती कर रहे हैं। ऐसे ही कुछ लोगों ने खुद को माफिया का रिश्‍तेदार बताकर अलीगढ़ में एक शख्‍स की जमीन कब्‍जाने की कोशिश की। यही नहीं विरोध करने पर जान से मारने की धमकी भी दी। पीड़ित ने पुलिस को सूचना देकर किसी तरह अपने प्‍लॉट पर कब्‍जा रुकवाया। अतरौली पुलिस ने इस मामले में सात लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया है। पुलिस घटना की जांच में जुटी है। 

आरोप है कि धमकी देने वाले ने अपने डीपी में अतीक अहमद की फोटो लगा रखी थी। बताया जा रहा है कि जिस प्‍लॉट को लेकर धमकी मिली है उसी गांव में अतीक अहमद की बहन की शादी हुई थी। पीड़ित का कहना है कि धमकी देने वाले खुद को माफिया का रिश्‍तेदार बता रहे हैं और उसके प्‍लॉट पर कब्‍जा करना चाह रहे हैं। विरोध करने पर उन्‍होंने जान से मारने की धमकी भी दी। इस बारे में पूछे जाने पर अतरौली पुलिस ने मीडिया को बताया कि आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है। एक आरोपी को शांति भंग में जेल भेज दिया गया है। अन्‍य की जांच की जा रही है। 

नफीस बिरयानी के पैर की टूटी हड्डी,चल रहा इलाज
उधर, उमेश पाल हत्याकांड में पुलिस मुठभेड़ में पकड़े गए नफीस बिरयानी के पैर की हड्डी टूट गई है। स्वरूपरानी अस्पताल में इलाज चल रहा है। पुलिस का कहना है कि डॉक्टर की अनुमति के बाद उसे जेल भेजा जाएगा।

उमेश पाल हत्याकांड में आरोपी बने नफीस बिरयानी ने साजिश के तहत अपनी कार को दूसरे के नाम पर ट्रांसफर कराया और इसके बाद अतीक के बेटे असद को दे दिया। असद इसी कार से शूटरों को लेकर उमेश पाल के घर के पास पहुंचा और दोनों सिपाहियों के साथ उमेश पाल की हत्या कर दी थी। फरार चल रहे नफीस को नवाबगंज पुलिस ने पुलिस मुठभेड़ में गिरफ्तार किया था। उसके पैर में गोली लगी थी।

एसआरएन में इलाज चल रहा है। पुलिस ने उसके बैंक खातों को खंगाला तो पता चला कि वह सालाना 45 लाख रुपये इनकम टैक्स रिटर्न भरता था। पुलिस उसके सीए से पूछताछ कर चुकी है। अब उसके करीबियों की सूची तैयार की गई है। उनको भी बुलाकर पुलिस पूछताछ करने वाली है।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें