ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेशलखनऊ : कैब चालक को पीटने वाली लड़की बोली- ड्राइवर 100 लोगों के साथ आया और मुझे पीटा

लखनऊ : कैब चालक को पीटने वाली लड़की बोली- ड्राइवर 100 लोगों के साथ आया और मुझे पीटा

लखनऊ में कैब ड्राइवर को बीच चौराहे में पीटने वाली लड़की प्रियदर्शनी नारायण अब मीडिया के सामने आकर अपनी सफाई दी है। प्रियदर्शनी ने कैब ड्राइवर के साथ 100 लोगों थे जिन्होंने मुझे 300 मीटर तक घसीट कर...

लखनऊ : कैब चालक को पीटने वाली लड़की बोली- ड्राइवर 100 लोगों के साथ आया और मुझे पीटा
लाइव हिन्दुस्तान टीम, लखनऊWed, 04 Aug 2021 05:36 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

लखनऊ में कैब ड्राइवर को बीच चौराहे में पीटने वाली लड़की प्रियदर्शनी नारायण अब मीडिया के सामने आकर अपनी सफाई दी है। प्रियदर्शनी ने कैब ड्राइवर के साथ 100 लोगों थे जिन्होंने मुझे 300 मीटर तक घसीट कर मारा। इतना ही नहीं, उन लोगों ने मेरी हड्डी भी तोड़ दी थी। प्रियदर्शनी ने कहा कि इस दौरान पुलिस ने कोई एक्शन नहीं लिया और चुप-चुप सब देखती रही। प्रियदर्शनी ने यहा सब एक मीडिया चैनल को दिए इंटरव्यू में कहा।

प्रियदर्शनी ने कहा कि 30 जुलाई की रात भी वो वॉक पर निकली थी। घर लौटते समय अवध चौराहे पर वह रोड क्रॉस कर रही थी, तभी एक कैब ने सिग्नल तोड़कर गाड़ी आगे बढ़ा दी, जो मेरे पैर से छू गई और पास खड़े पुलिस वालों ने भी उसे नहीं रोका। उसने कहा कि कैब ड्राइवर मोबाइल चलाते हुए ड्राइव कर रहा था। लूट पाट की धारा पर सवाल पूछने पर प्रियदर्शनी ने कहा कि पुलिस ने जो मेरे खिलाफ जो धारा दर्ज की है वो है लूट पाट की है। मैनें लूट पाट कहा की है पुलिस मुझे वीडियो दिखाए। लड़की ने कहा कि कैब ड्राइवर झूठ बोल है कि उसका 60 हजार का नुकसान हुआ है।

मानसिक बीमारी का चल रहा इलाज : प्रियदर्शनी
प्रियदर्शनी नारायण ने बताया कि उसका मानसिक बीमारी का इलाज चल रहा है और उसे हर रोज वॉक करनी पड़ती है। 30 जुलाई की रात भी वो वॉक पर निकली थी और चौराहे पर कैब ड्राइवर ने सिग्नल तोड़कर गाड़ी आगे बढ़ा दी, जो मेरे पैर से छू गई। प्रियदर्शनी ने आरोप लगाया कि कैब ड्राइवर मोबाइल चलाते हुए ड्राइव कर रहा था, वहीं, पास खड़े पुलिस वालों ने भी उसे नहीं रोका। लड़की ने कहा कि उस समय मेरा दिल दहल गया था और लगा कि कार ऊपर चढ़ जाएगी।

इंस्टाग्राम पर दी सफाई
प्रियदर्शिनी ने इंस्टाग्राम पर भी सफाई देते हु कहा कि सब मुझे ब्लेम कर रहे हैं कि मैंने उसे क्यों मारा, लेकिन कोई भी मेरी स्टोरी नहीं जानना चाहता है। जब सिग्नल रेड था मैं रोड को लगभग क्रॉस कर चुकी थी। तभी गंजेड़ी ड्राइवर ने मुझे अपनी टक्कर मार दी. भगवान की कृपा से मैं बच गई। वह अपनी गलती नहीं मान रहा था और बहस कर रहा था, इसलिए मैंने उसे थप्पड़ मारा। अगर किसी को लगता है कि मैंने कानून को अपने हाथ में लिया तो इसके लिए मैं माफी मांगती हूं, लेकिन चुप रहने की बजाय मैं इन एंटी सोशल एलिमेंट्स को जवाब देना ज्यादा बेहतर मानती हूं। संघी और भक्त मुझे फेक फेमनिस्ट बता रहे हैं। यह कम से कम मरने और कैंडल मार्च निकलवाने से तो बढ़िया ही है।

priyadarshini yadav post

क्या है पूरा मामला
लखनऊ में कृष्णानगर के अवध चौराहे पर प्रियदर्शिनी ने ऊबर कैब ड्राइवर को पकड़कर उसकी जमकर पिटाई की और उसका फोन भी तोड़ गिया। लगभग आधे घंटे तक बीच चौराहे पर युवती का ड्रामा चलता रहा और ड्राइवर को थप्पड़ मारती रही। यह वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया, जिसके बाद ट्विटर पर हैशटैग #ArrestLucknowGirl ट्रेंड करने लगा। सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल होने के बाद इस मामले का सच सामने आया और फिर पुलिस ने महिला के खिलाफ लूट और मारपीट करने की धाराओं में केस दर्ज किया।