DA Image
17 दिसंबर, 2020|5:47|IST

अगली स्टोरी

प्रेम कहानी : मजहब पर भारी पड़ी मोहब्बत, बिना धर्म बदले कर रहे शादी

a teenager suicide after being deceived in love in indore

मोहब्बत न मजहब देखती है न सरहद। कुछ ऐसा ही हुआ अलीगढ़ व नोएडा के एक प्रेमी युगल की प्रेम कहानी में। जिसमें मजहब पर मोहब्बत भारी पड़ गई। लिविंग रिलेशनशिप में रह रहे युगल के बीच जब शादी करने के लिए धर्म परिवर्तन करने की बात आई तो युवती ने इंकार कर डाला। इस पर युवक ने मोहब्बत की खातिर अपने परिवार को छोड़ते हुए बिना धर्म बदले शादी करने का फैसला लिया। अब दोनों शादी कर साथ रह रहे हैं।

नोएडा निवासी युवती शहर के एक कॉलेज से ग्रेजुएशन की पढ़ाई कर रही है। एक साल पूर्व युवती की दोस्ती थाना बन्नादेवी के सराय रहमान निवासी युवक से हुई थी। धीरे-धीरे दोस्ती मोहब्बत में बदल गई। युवती युवक के साथ शहर के पॉश इलाके में स्थित एक फ्लैट में रहने लगी। लॉकडाउन के दौरान दोनों ने अपने-अपने घर वालों को बिना बताए नकवी पार्क में शादी कर ली। कुछ दिनों बाद युवक ने परिजनों को अपनी मोहब्बत के बारे में बताया। इस पर परिजनों ने एतरात जताया। कुछ दिन बाद परिजन युवती का धर्म परिवर्तन कराए जाने पर पुन: रीति-रिवाज से शादी कराने की बात पर राजी हुए। युवक ने युवती से धर्म परिवर्तन करने को कहा तो उसने मना कर दिया।

19 अक्टूबर को युवती ने वूमेन प्रोटेक्शन सेल (डब्ल्यूपीसी) में शिकायत दर्ज कराई। डब्ल्यूपीसी प्रभारी ने प्रेमी युगल को बुलाया और काउंसिलिंग की। इस पर युवक की बात समझ में आ गई और उसने अपनी मोहब्बत की खातिर परिजनों की बात को नकारते हुए युवती को बिना धर्म परिवर्तन करते हुए स्वीकार कर लिया। अब दोनों साथ रह रहे हैं। स्मृति गौतम, इंचार्ज डब्ल्यूपीसी ने बताया कि युवती द्वारा अपनी शिकायत दर्ज कराई गई थी। युवक को बुलाकर दोनों की काउंसलिंग कराई गई। जिसके बाद युवक बिना धर्म परिवर्तन कराए ही जीवन संगिनी बनाए रखने को राजी हुआ। अब दोनों साथ रह रहे हैं। दोनों ने अपने-अपने परिवार से संपर्क समाप्त कर लिया है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Love Story payar fell heavily on religion Shad without changing religion lived in Noida Aligarh in living relationship