ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेशमायावती को केंद्र में गठबंधन की सरकार बनने की उम्मीद, बोलीं- बसपा की होगी अहम भूमिका

मायावती को केंद्र में गठबंधन की सरकार बनने की उम्मीद, बोलीं- बसपा की होगी अहम भूमिका

मायावती ने संभावना जताई है कि तेजी से बदल रहे राजनीतिक हालात को देखकर केंद्र में गठबंधन सरकार की संभावना बन रही है। इसमें बसपा की अहम भूमिका होगी। यह भी कहा कि बसपा अकेले ही लोकसभा का चुनाव लड़ेगी।

मायावती को केंद्र में गठबंधन की सरकार बनने की उम्मीद, बोलीं- बसपा की होगी अहम भूमिका
Yogesh Yadavहिन्दुस्तान,लखनऊThu, 30 Nov 2023 07:43 PM
ऐप पर पढ़ें

बसपा सुप्रीमो मायावती ने एक बार फिर साफ किया है कि बिना गठबंधन किए अपने दम पर चुनाव लडेंगी। यह भी संभावना जताई है कि तेजी से बदल रहे राजनीतिक हालात को देखकर केंद्र में गठबंधन सरकार की संभावना बन रही है। इसमें बसपा की अहम भूमिका होगी। बसपा सुप्रीमो ने गुरुवार को पार्टी कार्यालय में उत्तर प्रदेश व उत्तराखंड के पदाधिकारियों के साथ विशेष बैठक में कहा कि सरकार की जनविरोधी नीतियों से बदलते राजनीतिक हालात से साफ है कि किसी एक पार्टी का वर्चस्व न होकर बहुकोणीय संघर्ष होगा। पार्टी और मूवमेंट के प्रति जबरदस्त लगाव देखने को मिल रहा है। इससे साफ है कि लोकसभा आमचुनाव में अपेक्षा के अनुरूप बेहतर रिजल्ट आएगा।

उन्होंने कहा कि ईमानदारी व निष्ठापूर्वक मेहनत करके अच्छा रिजल्ट हासिल किया जा सकता है। ऐसा होने पर दलित, आदिवासी व अन्य पिछड़े वर्गों के साथ धार्मिक अल्पसंख्यकों और मुस्लिम समाज के करोड़ों लोगों को जुल्म-ज्यादती व दूसरे दर्जे के नागरिक के दंश से मुक्ति मिल जाएगी। उन्होंने जिला व मंडलवार समीक्षा रिपोर्ट लेने के बाद उन्हें अमलीजामा पहनाने में आने वाली कमियों को दूर करके आगे बढ़ने के लिए नए दिशा-निर्देश दिए।

मायावती ने कहा है कि प्रदेश की 25 करोड़ जनता मंहगाई, बेरोजगारी और सरकारी उपेक्षाओं से परेशान है। भाजपा भी सपा सरकार की तरह सभी 75 जिलों में समग्र विकास के बजाय कुछ गिने-चुने जिले पर सरकारी धन लुटा रही है। यह साफ है कि भाजपा भी सपा व कांग्रेस की तरह अपने काम के बल पर जनता से वोट मांगने की स्थिति में नहीं है, इसीलिए राजनीति के लिए संकीर्ण, भड़काऊ व विभाजनकारी मुद्दों का फिर सहारा लिया जा रहा है।

बसपा छह को लखनऊ में दिखाएगी ताकत
बसपा डा. भीमराव अंबेडकर परिनिर्वाण दिवस पर छह दिसंबर को लखनऊ में बड़ा कार्यक्रम आयोजित कर अपनी ताकत दिखाएगी। पहले मंडलवार कार्यक्रम तय किए गए थे, इसमें बदलाव कर दिया गया है। अब पश्चिमी यूपी के छह मंडलों आगरा, अलीगढ़, बरेली, मुरादाबाद, मेरठ व सहारनपुर मंडल के लोग नोएडा में आयोजित कार्यक्रम में शामिल होंगे। लखनऊ गोमतीनगर स्थित अंबेडकर सामाजिक परिवर्तन स्थल पर 12 मंडल के कार्यकता जुटेंगे। मायावती स्वयं अपने आवास पर श्रद्धांजलि देंगी।

फरवरी तक मांगे गए उम्मीदवारों के नाम
मायावती ने कैडर कैंप, गांव चलो अभियान और बूथ कमेटियों के गठन का काम रोक दिया है। उन्होंने कहा है लोकसभा चुनाव के लिए उम्मीदवारों का पैनल फरवरी तक तैयार करते हुए उन्हें दे दिया जाए। इसके आधार पर लोकसभा प्रभारियों के नामों की घोषणा शुरू की जाएगी।

भीम राजभर को आरक्षित सीटों की कमान
बसपा सुप्रीमो लोकसभा की आरक्षित 17 सीटों को फतह करने के लिए भीम राजभर को इसका प्रभारी बनाया है। वह सभी आरक्षित सीटों पर उम्मीदवारों के नाम तय करेंगे और जीत की रणनीति तैयार कराएंगे। उन्हें तुरंत काम शुरू करने का निर्देश दिया गया है।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें