ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेशयूपी में बड़ी सियासी हलचल, राजा भैया और अखिलेश यादव में गठबंधन पर बातचीत, नरेश उत्तम मिलने पहुंचे

यूपी में बड़ी सियासी हलचल, राजा भैया और अखिलेश यादव में गठबंधन पर बातचीत, नरेश उत्तम मिलने पहुंचे

यूपी में झटके पर झटका खा रही अखिलेश यादव की समाजवादी पार्टी को नया साथी मिल गया है। प्रतापगढ़ की कुंडा से विधायक राजा भैया की पार्टी और अखिलेश यादव की सपा के बीच गठबंधन पर बातचीत हो रही है।

यूपी में बड़ी सियासी हलचल, राजा भैया और अखिलेश यादव में गठबंधन पर बातचीत, नरेश उत्तम मिलने पहुंचे
Yogesh Yadavलाइव हिन्दुस्तान,लखनऊTue, 20 Feb 2024 05:29 PM
ऐप पर पढ़ें

लोकसभा चुनाव से ठीक पहले यूपी में बड़ी सियासी हलचल देखने को मिल रही है। समाजवादी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम पटेल ने बाहुबली नेता और प्रतापगढ़ की कुंडा से विधायक राजा भैया से मिलने पहुंचे हैं। उन्होंने राजा भैया की फोन पर अखिलेश यादव से बात कराई है। मीडिया रिपोर्ट की मानें तो राजा भैया की पार्टी जनसत्ता दल और समाजवादी पार्टी के बीच गठबंधन को लेकर बातचीत हुई है। राजा भैया की जनसत्ता दल के यूपी में दो विधायक हैं। यह बातचीत इसलिए भी महत्वपूण हो जाती है क्योंकि अगले ही हफ्ते यूपी में राज्यसभा की दस सीटों के लिए वोटिंग होने वाली है। दस सीटों पर 11 प्रत्याशियों के उतरने से एक-एक विधायक का महत्व बढ़ गया है। 

बताया जाता है कि राजा भैया और समाजवादी पार्टी में पांच सीटों पर गठबंधन पर बातचीत चल रही है। हालांकि अभी तक दोनों पक्षों की ओर से कोई आधिकारिक प्रतिक्रिया नहीं आई है। पिछले करीब 3 दशक से कुंडा से राजाभैया निर्दलीय ही चुनाव जीत रहे हैं। साल 2022 के विधानसभा चुनाव में उन्होंने जनसत्ता दल लोकतांत्रिक के नाम से पार्टी बनाई और इसी से मैदान में उतरे थे। एक खुद विधायक हैं और दूसरे विधायक विनोद सोनकर बाबागंज विधानसभा सीट से जीते थे।

कुछ दिन पहले ही राजा भैया ने विधानसभा में अखिलेश यादव की तारीफ भी की थी। उनके बयान की काफी चर्चा हुई थी। विधानसभा में बजट सत्र के दौरान स्वास्थ्य व्यवस्था की चर्चा के दौरान राजा भैया ने कहा था कि समाजवादी पार्टी की सरकार में अखिलेश यादव ने एक नियम बनाया था। उन्होंने कहा था कि विधायक लोग अपनी निधि से असाध्य रोग और कैंसर जैसी बीमारियों से पीड़ित लोगों की आर्थिक सहायता देंगे। बीमार लोगों को हॉस्पिटल से पर्चा के अनुसार दे सकते हैं। उस योजना के कारण बहुत से लोगों की जान बची है। बहुत से लोगों को जो चिकित्सा नहीं उपलब्ध हो सकती थी वो मिली है। राजा भैया ने कहा था कि यह अखिलेश यादव की संवेदनशीलता थी।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें