ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेशयूपी भाजपा ने 51 में से चार उम्मीदवारों को बदला, नए चेहरों को दिया मौका, देखें लिस्ट

यूपी भाजपा ने 51 में से चार उम्मीदवारों को बदला, नए चेहरों को दिया मौका, देखें लिस्ट

लोकसभा चुनाव को लेकर भाजपा ने अपने उम्मीदवारों की पहली लिस्ट जारी कर दी है। भाजपा ने यूपी में 51 सीटों पर अपने उम्मीदवारों के नामों का ऐलान कर दिया है। इस लिस्ट में पीएम मोदी, राजनाथ सिंह...

यूपी भाजपा ने 51 में से चार उम्मीदवारों को बदला, नए चेहरों को दिया मौका, देखें लिस्ट
Dinesh Rathourलाइव हिन्दुस्तान,लखनऊSat, 02 Mar 2024 10:29 PM
ऐप पर पढ़ें

लोकसभा चुनाव को लेकर भाजपा ने अपने उम्मीदवारों की पहली लिस्ट जारी कर दी है। भाजपा ने यूपी में 51 सीटों पर अपने उम्मीदवारों के नामों का ऐलान कर दिया है। इस लिस्ट में पीएम मोदी, राजनाथ सिंह, स्मृति ईरानी और अजय मिश्र टेनी जैसे भाजपा के बड़े नेता भी शामिल हैं। 2019 के चुनाव को देखें तो भाजपा ने पिछली बार हारी हुई सात सीटों जौनपुर, लालगंज सुरक्षित, अंबेडकर नगर, श्रावस्ती, नगीना सुरक्षित, संभल और अमरोहा में उम्मीदवार उतार दिए हैं। इनमें लालगंज, अमरोहा, संभल में पुराने उम्मीदवारों पर ही दांव लगाया है। जबकि चार सीटें जौनपुर में केपी सिंह की जगह कृपाशंकर सिंह, अंबेडकरनगर में मुकुट बिहारी की जगह रितेश पांडेय, श्रावस्ती से दद्दन मिश्रा की जगह साकेत मिश्रा, नगीना सुरक्षित से डॉ. यशवंत सिंह की जगह ओम कुमार को टिकट दिया है। रामपुर की बात करें तो 2019 में इस सीट से सपा के आजम खान जीते थे, लेकिन 2023 के उपचुनाव में भाजपा ने इस सीट पर कमल खिलाया है। राम सिंह लोधी भाजपा की टिकट से चुनाव जीतकर लोकसभा पहुंचे। भाजपा इस बार भी राम सिंह लोधी को प्रत्याशी बनाया है। जबकि 2019 में जयाप्रदा भाजपा की टिकट से उम्मीदवार थीं। 

ये भी पढ़ें : बीजेपी यूपी लोकसभा प्रत्याशी पहली लिस्ट जारी, वाराणसी से पीएम मोदी, लखनऊ से राजनाथ सिंह, अमेठी से स्मृति ईरानी के नाम घोषित 

बतादें कि शनिवार की देर शाम आई भाजपा की पहली लिस्ट में ज्यादा सीटों पर उम्मीदवार रिपीट कर दिए हैं। वाराणसी से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी लगातार दो बार सांसद चुने गए हैं। पीएम मोदी अब तीसरी बार इस सीट से चुनाव लड़ेंगे। इसी के साथ वीआईपी सीट कही जानी वाली लखनऊ से राजनाथ सिंह चुनाव लड़ेंगे। इस सीट से पहले पूर्व प्रधानमंत्री स्व. अटल बिहारी वाजपेयी सांसद थे। उनके बाद से इस सीट से लगातार राजनाथ सिंह चुनाव जीत रहे हैं। इसी तरह अमेठी सीट भी स्मृति ईरानी के कब्जे में आई है। स्मृति ईरानी वर्तमान में अमेठी से ही सांसद हैं। इससे पहले ये सीट गांधी परिवार के कब्जे में थी। 2019 के लोकसभा चुनाव में स्मृति ईरानी ने राहुल गांधी को हराकर इस सीट पर कमल खिलाया था। केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अनिल मिश्र टेनी को भी इस बार भाजपा ने मौका दिया है। अजय मिश्र टेनी लखीमपुर खीरी से चुनाव लड़ेंगे। ये वोट सीट   जो किसानों पर ट्रैक्टर चढ़ाकर उनकी हत्या किए जाने को लेकर चर्चा में आई थी। 

इसी तरह सहारनपुर से राघव लखनपाल, मुजफ्फरनगर से संजीव बालियान, कैराना से प्रदीप कुमार, रामपुर से घनश्याम लोधी, संभल से परमेश्वर सैनी, अमरोहा से कंवर सिंह तंवर, नोएडा . महेश शर्मा, बुलंदशहर से भोला सिंह, मथुरा से हेमा मालिनी, आगरा से सत्यपाल सिंह बघेल, फतेहपुर सीकरी से राजकुमार चाहर, एटा से राजवीर सिंह राजू भैया, आंवला से धर्मेन्द्र कश्यप,
शाहजहांपुर से अरुण कुमार सागर, धौरहरा से रेखा वर्मा, सीतापुर से राजेश वर्मा, हरदोई से जयप्रकाश रावत, मिश्रिख से अशोक कुमार रावत, उन्नाव से साक्षी महाराज, मोहनलालगंज से कौशल किशोर, प्रतापगढ़ से संगमलाल गुप्ता, फर्रुखाबाद से मुकेश राजपूत, इटावा से राम शंकर कठेरिया, कन्नौज से सुब्रत पाठक, अकबरपुर से देवेंद्र सिंह भोले, जालौन से भानू प्रताप सिंह, झांसी से अनुराग शर्मा, हमीरपुर से कुंवर पुष्पेंद्र सिंह चंदेल, बांदा से आरके सिंह पटेल, फतेहपुर से साध्वी निरंजन ज्योति, बाराबंकी से उपेंद्र रावत, फैजाबाद से लल्लू सिंह, अंबेडकरनगर से रितेश पांडे, डुमरियागंज से जगदंबिका पाल, गोंडा से कीर्तिवर्धन राजा भैया, महाराजगंज से पंकज चौधरी, गोरखपुर से रवि किशन, कुशीनगर से विजय कुमार दुबे, बासगांव से कमलेश पासवान, लालगंज से श्रीमती नीलम सोनकर, आजमगढ़ से दिनेश लाल यादव निरहुआ, सलेमपुर से रविंद्र कुशवाहा, जौनपुर से कृपा शंकर सिंह, चंदौली से महेंद्र नाथ पांडे को फिर से मौका दिया गया है।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें