ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेशशाहजहांपुर में गन्ना छिलाई कर रहे युवक पर तेंदुए ने किया हमला, भागकर बचाई जान, VIDEO वायरल

शाहजहांपुर में गन्ना छिलाई कर रहे युवक पर तेंदुए ने किया हमला, भागकर बचाई जान, VIDEO वायरल

यूपी के शाहजहांपुर जिले के खुटार क्षेत्र के गांव सीतापुर सहारू में लगातार तीन दिन से तेंदुआ चहलकदमी कर रहा है। ग्रामीणों ने वन विभाग को सूचना दी, लेकिन वन विभाग का कोई वनकर्मी मौके पर नहीं पहुंचा।

शाहजहांपुर में गन्ना छिलाई कर रहे युवक पर तेंदुए ने किया हमला, भागकर बचाई जान, VIDEO वायरल
Dinesh Rathourहिन्दुस्तान,शाहजहांपुर। खुटारThu, 22 Feb 2024 09:24 PM
ऐप पर पढ़ें

यूपी के शाहजहांपुर जिले के खुटार क्षेत्र के गांव सीतापुर सहारू में लगातार तीन दिन से तेंदुआ चहलकदमी कर रहा है। ग्रामीणों ने वन विभाग को सूचना दी, लेकिन वन विभाग का कोई वनकर्मी मौके पर नहीं पहुंचा। गुरुवार की सुबह 8 बजे ग्रामीण जब खेतों की तरफ निकले तो तेंदुआ गन्ने के खेत के बाहर चहलकदमी करता हुआ फिर दिखा। इस बार उसने गन्ना छिलाई कर रहे युवक पर हमला कर दिया, युवक जख्मी हो गया। शोर होने पर तेंदुआ गन्ने के खेत में जाकर छिप गया। बाद में आई वनटीम और ग्रामीणों ने मिलकर तेंदुआ को खेत से खदेड़ दिया। तेंदुआ की निगरानी के लिए ड्रोन कैमरे का इस्तेमाल किया जा रहा है। 

गुरुवार सुबह तेंदुआ देखे जाने पर गांव के दिनेश कुमार, आदित्य वर्मा, शैलेश वर्मा, अमित कुमार द्वारा वन विभाग को सूचना दी गई। सूचना मिलने पर रेंजर मनोज श्रीवास्तव टीम के साथ सीतापुर सहारू निवासी विपिन वर्मा के गन्ने के खेत में पहुंचे। ग्रामीण व वन कर्मियों द्वारा पटाखे व हो हल्ला मचाने पर तेंदुआ राजेश वर्मा के खेत से निकलकर विपिन वर्मा के खेत में पहुंच गया। जिस पर सीतापुर सहारू, लुकटहा, कढ़ेया, गांव के ग्रामीण एकत्र होकर तेंदुए को गन्ने से बाहर खदेड़ने का  प्रयास करने लगे, लेकिन काफी दूर तक गन्ना खड़ा होने के कारण तेंदुआ गन्ने से बाहर नहीं निकाला। जिस पर वनकर्मी काम्बिंग करते रहे। उधर दोपहर 1:30 बजे दूसरे खेत में गन्ने की छिलाई कर रहे मजदूर नरौठा देवदास निवासी दीपक, कन्हैया, गोलू, मझिले गन्ना छिल रहे थे कि उसी समय सकटे का 18 वर्षीय पुत्र दीपक जोकि गन्ना काट रहा था, तभी तेंदुए ने  हमला कर दिया। हमले से दीपक के सीने, हाथ व पीठ में अलग-अलग पंजे लगे।

उधर तेंदुए के हमलावर हो जाने से साथी मजदूरों ने हल्ला कर  तेंदुए के चंगुल से दीपक को छुड़ा लिया। घायल दीपक को निजी डॉक्टर के यहां भेज कर उसका इलाज चल रहा है। उधर युवक के ऊपर तेंदुए के हमले की सूचना चारों तरफ आग की तरह फैल गई, बड़ी संख्या में ग्रामीण मौके पर पहुंच गए। सूचना पर एसडीओ डॉ सुशील कुमार भी अपनी निगरानी टीम के साथ मौके पर पहुंचकर ड्रोन कैमरे से निगरानी करने में जुट गए। उधर तेंदुआ हमला करने के बाद गन्ने में ही छुप गया, जिस पर वनकर्मियों ने पटाखे दागते हुए उसे गन्ने के बाहर निकाल कर जंगल की ओर खदेड़ने का प्रयास करने लगे। चार घंटे तक वन कर्मियों की टीम पटाखे व गन्ने में अंदर पहुंचकर खदेड़ने का प्रयास करते रहे। तब जाकर तेंदुआ राजेश वर्मा के खेत से बाहर निकल कर छलांग लगाते हुए दूसरे खेत में खड़े गन्ने में पहुंच गया। 

एक नहीं दो तेंदुआ है क्षेत्र में : रेंजर

रेंजर मनोज श्रीवास्तव ने बताया कि दो तेंदुए हैं और दोनों को बहुत जल्द गन्ने के खेतों से खदेड़ कर जंगल की ओर ले जाए जाएंगे। उधर एसडीओ डॉ सुशील कुमार ने बताया कि जंगल समीप होने के कारण तेंदुए बाहर आ जाते हैं, जिससे आबादी वाले क्षेत्र के किनारे ही अपना ज्यादातर बसेरा बना लेते हैं। दोनों तेंदुओं को बहुत जल्द वन विभाग की टीम काम्बिंग कर जंगल की ओर ले जाएगी। 

ग्रामीणों को सचेत किया गया

रेंजर मनोज श्रीवास्तव ने ग्रामीणों को सचेत रहने की बात बताते हुए बताया कि कोई भी ग्रामीण सुबह शाम खेतों की तरफ अकेले ना जाएं और खेतों में काम करने से पहले हो हल्ला व तेज आवाज करते हुए कार्य करें। उधर पुलिस को सूचना मिलने पर कार्यवाहक थानाध्यक्ष प्रमोद कुमार फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे और भीड़ को इधर-उधर हटाया।
 
पीलीभीत में महिला पर बाघ का हमला

पीलीभीत टाइगर रिजर्व की बराही रेंज के जंगल से कुछ दूर पर कल्लूघाट गुन्हान है। शारदा नदी के इस पार कलीनगर तहसील क्षेत्र के गांव रमनगरा के लोगों के खेत गुन्हान में हैं। गुरुवार को गांव के शंकर मंडल की पत्नी शिपाली बेटे सूरज व गांव के ही रविंद्र राजभर के साथ नदी पार खेत में मजदूरी पर घास काटने और गन्ने की पताई हटाने गई थीं। दोपहर करीब ढाई बजे अचानक खेत में पहुंचे बाघ ने शिपाली पर हमला कर दिया। पीठ और कंधों पर पंजा मारकर गहरा जख्म कर दिया। मजदूरों ने हिम्मत जुटाकर बाघ से शिपाली को छुड़ाया। उन्हें गंभीर हालत में पूरनपुर सीएचसी ले जाया गया। सूचना पर डिप्टी रेंजर मोहम्मद आरिफ टीम के साथ सीएचसी पहुंचे और घायल का हाल जाना। बाराही के रेंजर अरुण मोहना का कहना है कि घटना स्थल पर टीम भेजी गई। महिला पर बाघ या लैपर्ड के हमले की अभी पुष्टि नहीं की जा सकती है।  

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें